देहरादून, उत्तराखंड Uttarakhand: राज्यपाल बेबी रानी ने लिया मौके का जायजा, पीड़ित लोगों के परिजनों का फूटा आक्रोश

Uttarakhand: राज्यपाल बेबी रानी ने लिया मौके का जायजा, पीड़ित लोगों के परिजनों का फूटा आक्रोश

Uttarakhand: राज्यपाल बेबी रानी ने लिया मौके का जायजा,  पीड़ित लोगों के परिजनों का फूटा आक्रोश

देहरादूनः  उत्तराखंड की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य बृहस्पतिवार को चमोली जिले के आपदाग्रस्त तपोवन क्षेत्र में स्थिति का जायजा लेने पहुंची थी, जहां उन्हें सुरंग में फंसे लोगों के परिजनों के आक्रोश का सामना करना पड़ा है. रविवार को आई आपदा के बाद से सुरंग में फंसे अपने सगे संबंधियों और रिश्तेदारों के बाहर आने का इंतजार कर रहे लोगों का सब्र राज्यपाल बेबी रानी को देखकर टूट गया और वे रो पडे़ थे. 

उन्होंने राज्यपाल से बचाव अभियान में तेजी लाने के लिए दखल देने का आग्रह किया है. एक अनुमान के अनुसार, तपोवन सुरंग में 25-35 लोग फंसे हैं जो रविवार को आपदा के समय वहां काम कर रहे थे. मौर्य ने उन्हें तसल्ली रखने को कहा है और बताया है कि सुरंग में फंसे लोगों को निकालने के लिए लगातार बचाव अभियान चलाया जा रहा है. उन्होंने कहा है कि विभिन्न एजेंसियों द्वारा बचाव अभियान लगातार जारी है.

रानी ने कहा है कि कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है. लोगों को तसल्ली रखनी चाहिए. राज्यपाल ने आपदाग्रस्त तपोवन क्षेत्र का भ्रमण कर वहां राहत एवं बचाव कार्यों का निरीक्षण किया है तथा उपस्थित अधिकारियों को बचाव अभियान तीव्रता से चलाने के निर्देश दिए है. उन्होंने प्रभावित लोगों को शीघ्र से शीघ्र आवश्यक सहायता पहुंचाए जाने के अलावा बचाव अभियान में लगे कार्मिकों की सुरक्षा का भी ध्यान रखे जाने को कहा है. 

बाद में, मीडिया से बातचीत के दौरान राज्यपाल ने कहा है कि पुलिस, प्रशासन, सेना, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ एवं आईटीबीपी के सभी अधिकारी एवं कार्मिक गंभीरता एवं प्रतिबद्धता से कार्य कर रहे हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द से जल्द प्रभावित सुरंग खुले और लोगो को मदद पहुंचाई जा सके. राज्यपाल ने कहा है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से भी आपदा राहत एवं बचाव कार्यों के संबंध में उनकी गहन चर्चा हुई है. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें