Uttarakhand: तपोवन सुरंग से 2 और शव मिले, मृतकों की संख्या बढ़कर 67 हुई, जिलाधिकारी ने उत्खनक मशीन लगवा कर रेस्क्यू में तेजी लाने के दिए निर्देश

Uttarakhand: तपोवन सुरंग से 2 और शव मिले, मृतकों की संख्या बढ़कर 67 हुई, जिलाधिकारी ने उत्खनक मशीन लगवा कर रेस्क्यू में तेजी लाने के दिए निर्देश

तपोवन: उत्तराखंड में तपोवन सुरंग से बचाव दलों ने शनिवार देर रात दो और शव बरामद किए है जबकि सात फरवरी से चमोली के आपदाग्रस्त क्षेत्र में दबे लोगों की तलाश के लिए अभियान लगातार जारी है. आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की टीम ने तपोवन सुरंग से शनिवार देर रात दो और शव बरामद किए जबकि शनिवार शाम को भी तीन शव निकाले गए थे. 

एक्स्कवेटर मशीन लगवा कर शुरु किया गया काम

एनडीआरएफ टीम ने बैराज साइट पर अब तक पांच शव निकाले हैं जिसके साथ ही अब तक आपदा में मारे गए 67 लोगों के शव बरामद हो चुके हैं. इसके अलावा, 137 लोग अब भी लापता हैं जिनकी तलाश की जा रही है. चमोली की जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बैराज साइट पर अतिरिक्त उत्खनक (एक्स्कवेटर) मशीन लगवा कर काम शुरू करवाया है. 

बाढ़ ने मचाई तबाही

चमोली जिले की ऋषिगंगा घाटी में आई बाढ़ के समय एनटीपीसी की निर्माणाधीन 520 मेगावाट तपोवन-विष्णुगाड जलविद्युत परियोजना को हुई भारी क्षति के अलावा, रैंणी में स्थित 13.2 मेगावाट ऋषिगंगा जलविद्युत परियोजना भी बाढ़ से पूरी तरह तबाह हो गई थी. गौरतलब है कि आपदा को आए हफ्ते भर के ऊपर हो चुका  है और गाद में मौजूद शव अब सड़ने लगे है.

शरीर के अंग गाद में निकले

बचाव कार्य के दौरान लोगों के शरीर के टुकड़े कट-कट कर ऊपर आ रहे हैं और शव भी सड़ने लगे है. इसके साथ ही अंदर फंसे लोगों के जिंदा निकलने की संभावना कम हो गई है. फिलहाल रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है और पीड़ित परिवार अपने परिजनों के जीवित होने की कामना में लगे हुए है. 

और पढ़ें