चेन्नई Uttarakhand Glacier Burst: रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए मैच फीस दान करेंगे क्रिकेटर ऋषभ पंत

Uttarakhand Glacier Burst: रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए मैच फीस दान करेंगे क्रिकेटर ऋषभ पंत

Uttarakhand Glacier Burst: रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए मैच फीस दान करेंगे क्रिकेटर ऋषभ पंत

चेन्नईः भारत के आक्रामक विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने कहा है कि उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने की घटना के बाद बचाव कार्यों के लिए वह अपनी मैच फीस दान देंगे और अन्य लोगों को प्रोत्साहित करेंगे कि वे आगे आएं और योगदान दें. गौरतलब है कि रविवार को उत्तराखंड के चमोली जिले के जोशीमठ में ग्लेशियर टूटने से धौली गंगा नदी में भयंकर बाढ़ आई थी और हिमालय के उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर तबाही मची थी.

ट्वीट कर जताया खेद

पंत का जन्म रुड़की में हुआ है जो राज्य के हरिद्वार जिले में आता है. पंत ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि उत्तराखंड में लोगों के जान गंवाने की बेहद पीड़ा है. राहत कार्यों के लिए अपनी मैच फीस दान करना चाहूंगा और साथ ही लोगों से अपील करूंगा कि वे भी मदद करें. इससे पहले 23 साल के इस क्रिकेटर ने रविवार को इस प्राकृतिक आपदा में लोगों की मौत पर शोक जताया था.

टेस्ट में खेली 91 रन की शानदार पारी 

उन्होंने लिखा है कि उत्तराखंड में बाढ़ से प्रभावित लोगों के परिवारों के प्रति शोक और संवेदनाएं हैं. उम्मीद करता हूं कि राहत कार्यों से मुश्किल में फंसे लोगों को मदद मिलेगी. पंत ने एमए चिदंबरम स्टेडियम में इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट के तीसरे दिन 91 रन की शानदार पारी खेलने के बाद यह ट्वीट किया था. अधिकारियों के अनुसार ग्लेशियर टूटने के कारण विद्युत परियोजना में काम कर रहे 150 से अधिक मजदूर लापता हैं.

वैज्ञानिकों का एक दल पहुंचा जोशीमठ

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ग्लेशियर का एक हिस्सा टूटने की घटना के बाद सोमवार को वैज्ञानिकों का एक दल देहरादून से जोशीमठ क्षेत्र के लिए रवाना हुआ था. डीआरडीओ के बर्फ और हिमस्खलन अध्ययन प्रतिष्ठान (एसएएसई) के वैज्ञानिक रविवार रात को हवाई मार्ग से उत्तराखंड की राजधानी पहुंचे थे. उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने कहा है कि रैणी और तपोवन में दो पनबिजली परियोजनाओं में काम करने वाले 153 लोग लापता हैं, जिनमें से दस के शव बरामद हुए हैं, वहीं 143 अब भी लापता हैं. (सोर्स-भाषा)

 


 

और पढ़ें