Uttarkhand: अपने 20 साल के सफर पर बोले पीएम मोदी, कहा- पहले सीएम और फिर पीएम के पद पर पहुंचने की उम्मीद नहीं थी

Uttarkhand: अपने 20 साल के सफर पर बोले पीएम मोदी, कहा- पहले सीएम और फिर पीएम के पद पर पहुंचने की उम्मीद नहीं थी

Uttarkhand: अपने 20 साल के सफर पर बोले पीएम मोदी, कहा- पहले सीएम और फिर पीएम के पद पर पहुंचने की उम्मीद नहीं थी

देहरादून: अपने पिछले 20 साल के सफर को याद करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि शीर्ष पदों पर पहुंचने की कल्पना भी उन्होंने कभी नहीं की थी. 

ऋषिकेश एम्स से देशभर में आक्सीजन संयंत्रों का लोकार्पण करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज के ही दिन 20 साल पहले उन्हें जनता की सेवा का ​दायित्व मिला था. उन्होंने कहा कि लोगों की सेवा करने की मेरी यात्रा तो कई दशक पहले शुरू हो चुकी थी लेकिन आज से 20 वर्ष पूर्व गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मुझे नई जिम्मेदारी मिली थी. मोदी ने कहा कि वैसे यह भी एक संयोग है कि उत्तराखंड का गठन 2000 में हुआ और उनकी यह यात्रा इसके कुछ माह बाद 2001 में शुरू हुई. 

उन्होंने कहा कि सरकार के मुखिया के तौर पर पहले मुख्यमंत्री और फिर प्रधानमंत्री पद पर पहुंचना, इसकी कल्पना भी मैंने कभी नहीं की थी. प्रधानमंत्री ने कहा कि 20 वर्ष की उनकी यह अखंड यात्रा आज अपने 21 वें वर्ष में प्रवेश कर रही है और इस महत्वपूर्ण वर्ष में उन्हें निरंतर स्नेह और अपनत्व देने वाली धरती पर आकर वह बहुत सौभाग्यशाली महसूस कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि  हिमालय की यह तपोभूमि जो तप और त्याग का मार्ग दिखाती है, उस भूमि पर आकर कोटि—कोटि देश्वासियों की सेवा करने का मेरा संकल्प और दृढ हुआ है. यहां आकर एक नई उर्जा मुझे मिलती है. योग और आयुर्वेद की शक्ति से जिस क्षेत्र ने जीवन को आरोग्य बनाने का समाधान दिया है, वहीं से आज देश भर में अनेक नए आक्सीन संयंत्रों का लोकार्पण हुआ है. उन्होंने कहा कि यह देवभूमि ऋषियों की तपोभूमि रही है और विश्व के लोगों को आकर्षित करती रही है. 

मोदी ने कहा कि उत्तराखंड की दिव्य धरा ने मुझ जैसे अनेक लोगों के जीवन की धारा को बदलने में बडी भूमिका निभाई है. यह भूमि इसलिए मेरे लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इस भूमि से मेरा नाता मर्म का भी है, कर्म का भी है, सत्व का भी है और तत्व का भी है. सोर्स-भाषा

और पढ़ें