चमोली Uttarakhand: चमोली जिले में ग्लेशियर फटा, हरिद्वार तक बढ़ा खतरा, भारी तबाही की आशंका

Uttarakhand: चमोली जिले में ग्लेशियर फटा, हरिद्वार तक बढ़ा खतरा, भारी तबाही की आशंका

Uttarakhand: चमोली जिले में ग्लेशियर फटा, हरिद्वार तक बढ़ा खतरा, भारी तबाही की आशंका

चमोली: उत्तराखंड के चमोली जिले के रैनी में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही की खबर है. बताया जा रहा है कि ग्लेशियर फटने से धौली नदी में बाढ़ आ गई है. इससे चमोली से हरिद्वार तक खतरा बढ़ गया. साथ ही ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट क्षतिग्रस्त हो गया है. सूचना मिलते ही प्रशासन की टीम मौके के लिए रवाना हो गई है. अलकनंदा नदी के किनारे रहने वाले लोगों को जल्द से जल्द सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई है. 

ग्लेशियर टूटने से कई ग्रामीणों के घर क्षतिग्रस्त हो गए:
ग्लेशियर टूटने से कई ग्रामीणों के घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं. ग्लेशियर धोली नदी के किनारे किनारे बह रहा है. साथ ही धौलीगंगा ग्लेशियर की तबाही के साथ तपोवन में बैराज को भी भारी नुकसान की सूचना मिल रही है. 

हरिद्वार जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया: 
मिली जानकारी के अनुसार हरिद्वार जिला प्रशासन ने भी अलर्ट जारी कर दिया है. सभी थानों और नदी किनारे बसी आबादी को सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. ऋषिकेश में भी अलर्ट जारी किया गया है. नदी से बोट संचालन और राफ्टिंग संचालकों को तुरंत हटाने के निर्देश  दिए गए हैं. चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान के अनुसार काफी नुकसान की सूचना आ रही है. लेकिन अभी स्थिति स्पष्ट नहीं. टीम मौके पर जा रही है, उसके बाद ही नुकसान की स्थिति स्पष्ट होगी. 

सीएम ने की अफवाहों पर ध्यान नहीं देने की अपील: 
वहीं उत्तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि चमोली जिले से एक आपदा की सूचना मिली है. जिला प्रशासन, पुलिस और आपदा प्रबंधन विभागों को स्थिति से निपटने के लिए निर्देशित किया गया है. किसी भी तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें. सरकार सभी आवश्यक कदम उठा रही है.


 

और पढ़ें