वाशिंगटन Vibrant और Free Press किसी भी फलते फूलते लोकतंत्र की आधारशिला-विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन

Vibrant और Free Press किसी भी फलते फूलते लोकतंत्र की आधारशिला-विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन

Vibrant और Free Press किसी भी फलते फूलते लोकतंत्र की आधारशिला-विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन

वाशिंगटन: अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने वर्तमान समय में प्रेस की स्वतंत्रता सहित अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर मंडरा रहे खतरों को रेखांकित करते हुए कहा कि एक जीवंत एवं स्वतंत्र प्रेस किसी भी फलते-फूलते लोकतंत्र की आधारशिला है.

इन प्रतिबंधों के कारण पांबदियों वाले क्षेत्रों से खबर देना और वहां खबरें पहुंचाना मुश्किल हो गया:

‘वाशिंगटन फॉरेन प्रेस सेंटर’ में मंगलवार को एक संवाददाता सम्मेलन में ब्लिंकन ने कहा कि दुनिया भर में, सरकारें तथा सरकार से इतर ताकतें जैसे आतंकवादी संगठन, आपराधिक संगठन, पत्रकारों को धमकाते हैं, परेशान करते हैं, उन्हें जेल में डालते हैं और उन्हें निशाना बनाते हैं.

उन्होंने कहा कि प्रेस की स्वतंत्रता को कम करने के लिए सरकारें दमन के पारंपरिक तरीकों की जगह नई रणनीतियां अपना रही हैं. अधिकतर सरकारें सूचना तक पहुंच को नियंत्रित करने के लिए कदम उठा रही हैं, सेंसरशिप आदि के जरिए खासकर इंटरनेट पर मौजूद समाचारों को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि इन प्रतिबंधों के कारण पांबदियों वाले क्षेत्रों से खबर देना और वहां खबरें पहुंचाना मुश्किल हो गया है.

एक जीवंत, स्वतंत्र प्रेस किसी भी फलते-फूलते लोकतंत्र की आधारशिला:

ब्लिंकन ने कहा कि प्रौद्योगिकी का उपयोग न केवल पत्रकारों को रोकने के लिए, बल्कि उन पर नजर रखने के लिए भी किया जा रहा है. एक स्वतंत्र शोध के अनुसार, 2020 से 2021 के बीच, अल सल्वाडोर में 30 से अधिक पत्रकारों, संपादकों और अन्य मीडिया कर्मचारियों के मोबाइल फोन को स्पाइवेयर पेगासस के जरिए हैक किया गया था. उन्होंने कहा कि एक जीवंत, स्वतंत्र प्रेस किसी भी फलते-फूलते लोकतंत्र की आधारशिला है. इसके मूल में यह विचार है कि सूचना हर हाल में महत्वपूर्ण है.

मीडिया और नागरिक संगठनों पर प्रतिबंध पाकिस्तान की छवि के साथ-साथ उसकी प्रगति की क्षमता को भी कमजोर करता है: 

ब्लिंकन ने पाकिस्तान में प्रेस की स्वतंत्रता पर बात करते हुए कहा कि मीडिया और नागरिक संगठनों पर प्रतिबंध पाकिस्तान की छवि के साथ-साथ उसकी प्रगति की क्षमता को भी कमजोर करता है. उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान में मीडिया घरानों और नागरिक संगठनों पर लगाए गए प्रतिबंधों से अवगत हैं. 'रिपोर्टर्स विदाउट बॉर्डर्स' (आरएसएफ) द्वारा जारी एक रिपोर्ट में पाकिस्तान के विश्व प्रेस स्वतंत्रता सूचकांक में 145वें स्थान से गिरकर 157वें स्थान पर पहुंचने के बाद ब्लिंकन ने यह बयान दिया. ब्लिंकन ने एक सवाल के जवाब में कहा कि एक जीवंत, स्वतंत्र प्रेस समाज के लिए महत्वपूर्ण हैं. सोर्स-भाषा   

और पढ़ें