जयपुर राजधानी में शातिर ठग गिरोह का पर्दाफाश, नौकरी का झांसा देकर करते थे लाखों की ठगी 

राजधानी में शातिर ठग गिरोह का पर्दाफाश, नौकरी का झांसा देकर करते थे लाखों की ठगी 

राजधानी में शातिर ठग गिरोह का पर्दाफाश, नौकरी का झांसा देकर करते थे लाखों की ठगी 

जयपुर: शिप्रापथ थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए शातिर ठग गिरोह का पर्दाफाश किया है. सैकड़ों बेरोजगारों से हाईकोर्ट क्लर्क, चपरासी और बैंक मैनेजर की नौकरी लगाने का झांसा देकर लाखों रुपए की ठगी करने वाले पति-पत्नी और दो बेटों को गिरफ्तार किया है. इस गिरोह का सरगना रामकिशन परिवार का मुखिया है. 

गिरोह में पूरा परिवार शामिल:
दरअसल रामकिशन करीब 20 साल पहले दिल्ली परिवहन विभाग में ड्राइवर की नौकरी करता था. तीन साल तक नौकरी करने बाद लगातार गैर हाजिर रहने लगा. इस कारण इसे यहां से बर्खास्त कर दिया गया. इसके बाद हाईकोर्ट में अच्छी पहचान होने का झांसा देकर बेरोजगारों से ठगी करना शुरू कर दिया. धीरे-धीरे इसने पत्नी और 2 बेटों को भी अपने गिरोह में शामिल कर लिया. 

नौकरी लगाने के लिए दो से पांच लाख एडवांस:
पुलिस के मुताबिक रामकिशन शातिर ठग है. यह हाईकोर्ट में प्रतिष्ठित लोगों से अच्छे संबंध होने का झांसा देकर नौकरी के लिए लोगों को अपने जाल में फंसाता है. एक व्यक्ति को नौकरी लगाने के लिए दो से पांच लाख रुपए की एडवांस लेता है. इस प्रकार कई लोगों से बड़ी रकम एकत्रित होने पर ठिकाना बदलकर मोबाइल फोन बंद कर लेता है. इसके बाद नए ठिकाने पर अपनी पहचान बदलकर लोगों से फिर ठगी करना शुरू कर देता है. 

... संवाददाता सत्यनारायण शर्मा की रिपोर्ट
 

और पढ़ें