Live News »

VIDEO : उन्नाव में महिला से रेप की कोशिश का वीडियो वायरल, 2 आरोपी अरेस्ट

VIDEO : उन्नाव में महिला से रेप की कोशिश का वीडियो वायरल, 2 आरोपी अरेस्ट

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में महिला से रेप की कोशिश का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया है। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी है। हालांकि, अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि वीडियो कब का है। लेकिन पुलिस की मानें तो यह विडियो कोतवाली सिटी और गंगाघाट के बीच का है।

उन्नाव के एसपी हरीश कुमार ने शुक्रवार को कहा, जैसे ही हमें इस मामले की जानकारी मिली हमने सभी की पहचान कराई कि ये आरोपी कौन हैं। सभी आरोपियों का पता चल गया है। हमने सभी आरोपियों पर नामजद मुकदमा दर्ज कराया है। इसमें से एक तो चोरी के मुकदमे में जेल भेजा जा चुका है। इस घटना में पांच लोगों पर मुकदमा हुआ है जबकि आकाश और राहुल नाम के दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में तीन युवक एक महिला से रेप की कोशिश करते नजर आ रहे है। वीडियो में दिख रहा है कि तीन युवक एक महिला को जबरन सुनसान इलाके की तरफ लेकर जा रहे है। इस दौरान महिला मदद के लिए चिल्लाना रही है, लेकिन बदमाशों पर महिला की गुहार का कोई असर पड़ता नहीं दिख रहा है। आरोपियों में से एक इस दौरान महिला को विडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने की भी धमकी देता है। 

#Unnao में महिला से रेप की कोशिश:-

तीन युवकों ने की रेप की कोशिश, महिला को जंगल ले जाते दिखे आरोपी, आरोपियों ने घटना का वीडियो भी बनाया, तीनों आरोपी बाबा खेड़ा गांव के#FINVideo 1 @unnaopolice @Uppolice pic.twitter.com/RFNjwvRorL

— First India News UP/UK (@FIN_UPUK) July 6, 2018
और पढ़ें

Most Related Stories

प्रियंका गांधी ने उन्नाव पहुंच गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से की मुलाकात

प्रियंका गांधी ने उन्नाव पहुंच गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से की मुलाकात

उन्नाव: दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में देर रात उन्नाव गैंगरेप की पीड़िता का निधन हो गया. उसके पार्थिव शरीर को उन्नाव लाया जा रहा है. इस बीच कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी उन्नाव पहुंच चुकी हैं. उसके बाद प्रियंका ने पीड़िता के परिवार से मुलाकात की. प्रियंका गांधी के साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी और प्रदेश अध्यक्ष अजय सिंह भी नजर आए. प्रियंका गांधी परिवार से मिलने उनके घर के अंदर भी गई. 

सपा के बाद कांग्रेस ने भी किया विरोध: 
सपा के बाद कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता  विधानसभा और बीजेपी कार्यालय के सामने धरने पर बैठे. इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प हुई. झड़प के बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया. इस दौरान कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ताओं के बीच भी झड़प हुई.

मायावती ने योगी सरकार पर बोला हमला:
बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने योगी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पिछले कुछ सालों में खास कर बीजेपी सरकार के दौरान महिलाएं सुरक्षित नहीं महसूस कर रहीं. यूपी में ऐसा कोई भी दिन नहीं जाता जब महिलाओं के खिलाफ अपराध का कोई केस न हो. जब तक राज्य सरकार समय तय कर एक्शन लेना नहीं शुरू करेगी, ऐसी घटनाएं थमने वाली नहीं हैं.

'मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत': 
90 प्रतिशत से भी ज्यादा जल चुकी यूपी की इस 'निर्भया' ने आखिरी वक्त तक भी हार नहीं मानी थी. गुरुवार रात 9 बजे तक वह होश में थी. जब तक होश में थी कहती रही- मुझे जलाने वालों को छोड़ना मत. फिर नींद में चली गई, डॉक्टरों ने पूरी कोशिश की, वेंटिलेटर पर रखा लेकिन वो नींद से नहीं उठी. और फिर दुनिया छोड़ कर चली गई. 

पैदा होते ही फेंक गया था नूपुर चौहान को डस्टबिन में, 'Kaun Banega Crorepati 11' के मंच पर खुली दर्द भरी दास्तान

पैदा होते ही फेंक गया था  नूपुर चौहान को डस्टबिन में, 'Kaun Banega Crorepati 11' के मंच पर खुली दर्द भरी दास्तान

नई दिल्ली: उन्नाव के बाघीपुर क्षेत्र के कपुरपुर गांव में रहने वाली नुपर सिंह, जिन्हे जन्म के तुरंत बाद ही कचरे के डिब्बे में फेंक दिया गया था वह कौन बनेगा करोड़पति के मंच पर पहुंची. सोनी टीवी में प्रसारित होने वाला गेम रियलिटी शो 'Kaun Banega Crorepati 11' के मंच पर अब तक कई लोगों की किस्मत बदल चुकी है, ऐसे में इस शो में होंसलो से ऊंची उड़ान भरने वाली नुपुर कंटेस्टेंट बनकर आई, जिन्हे जन्म के तुरंत बाद ही कचरे के डिब्बे में फेंक दिया गया था.केबीसी में आई नूपुर ने अमिताभ से कहा कि वो नहीं चाहती हैं कि लोग उन्हें सहानुभूति की नजर से देखें.नूपर एक शिक्षक हैं और छोटे बच्चों को पढ़ाती हैं.नूपुर से अमिताभ बच्चन जी ने पूछा कि उनकी ये हालत कैसे हुई इसके जवाब में नूपुर चौहान ने जो कहनी बताई है वो हैरान करने वाली है.नूपुर ने बताया कि जब वो पैदा हुईं तो उन्हें सर्जिकल औजार लग गए थे ऑपरेशन के वक्त और वो रोईं नहीं, डॉक्टरों ने कहा ये मृत है और उन्हें डस्टबिन में फेंक दिया.इसके बाद नूपुर की आंटी ने कहा कम से कम हमें वो बच्ची को साफ करके दे तो दो जब डस्टबिन से बच्ची को निकाला गया तो उन्होंने कहा कि बच्ची को थोड़ा थपथपाओ शायद इसकी सांसे चल जाए और वही हुआ नूपुर रोने लगी लेकिन वो रोईं तो 12 घंटे तक रोती ही रहीं। नूपुर ने कहा वो मरी नहीं थीं बस उनके शरीर में ऑक्सीजन की कमी थी। बाद में डॉक्टर्स ने बताया कि ये स्पेशल चाइल्ड है

उन्नाव के बाघीपुर क्षेत्र के कपुरपुर गांव में रहने वाली नुपर सिंह, किसान परिवार से ताल्लुक रखती हैं.वह चलने-फिरने और उठने-बैठने में बहुत तकलीफ महसूस करती हैं, इसके बावजूद वो व्हील चेयर का इस्तेमाल नहीं करती हैं नुपुर एक खास तरह कि बीमारी से पीड़ित हैं जिसमें व्यक्ति का दिमाग उनकी उम्र से दो या 10 साल पीछे चलता है हालांकि खुशकिस्मती से नुपुर का दिमाग इस बीमारी के बावजूद भी उनकी उम्र के साथ ही चलता है. नूपुर ने कहा उनका शरीर जरूर दिव्यांग है लेकिन उनका दिमाग सामान्य है. नूपुर ने अपने स्कूल में टॉप भी किया था
 

Open Covid-19