Live News »

पानी की समस्या को लेकर ग्रामीणों ने दी आंदोलन की चेतावनी

पानी की समस्या को लेकर ग्रामीणों ने दी आंदोलन की चेतावनी

रामदेवरा। बिन पानी सब सून यह कहावत चरितार्थ नज़र होती आ रही है। जैसलमेर के एक गांव में पानी नहीं आने से लोगों को परेशानी हो रही है। ग्रामीणों ने आंदोलन की चेतावनी भी दी है।  

जैसलमेर के रामदेवरा के बरडाना गांव में लंबे समय से नहीं आने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। महंगे दामों पर पानी टैंकर मंगवाने के लिए मजबूर है साथ ही पशुधन के लिये भी पानी की व्यवस्था करने में जुटे है। ग्रामीणों ने जल्द पानी शुरू करने पर प्रशासन को आंदोलन की चेतावनी भी दी है।
 

और पढ़ें

Most Related Stories

नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता के कोर्ट में बयान देने से पहले पिता की हत्या, चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

नाबालिग दुष्कर्म पीड़िता के कोर्ट में बयान देने से पहले पिता की हत्या, चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

रामगढ़(अलवर): रामगढ़ में नाबालिग बालिका से दुष्कर्म और बालिका के पिता का बुधवार को शव मिलने के बाद आरोपियों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है. पीड़ितों का आरोप है कि नाबालिग किशोरी के कोर्ट में बयान देने से पहले ही आरोपी परिवार द्वारा पीड़ित के पिता की हत्या कर दी गई. मृतक का शव घर से 500 मीटर की दूरी 1 पेड़ पर रस्सी से लटका मिला था. 

VIDEO: राजस्थान में बेखौफ बिजली चोर ! जानिए कहां-कहां कितनी चोरी 

चार जनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज:  
पूरे मामले में पीड़िता के भाई की ओर से आरोपी परिवार के चार जनों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है. जबकि छेड़छाड़ व दुराचार का आरोपी अनीश पॉक्सो एक्ट में न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है. घटना को लेकर बुधवार को दिन भर थाने पर लोगों की भीड़ रही कई हिंदू संगठनों के लोग भी रामगढ़ थाने पहुंचे और विरोध जताया. पीड़िता के भाई ने थाने में दी लिखित रिपोर्ट में कहा कि नाबालिक बहन के साथ अनीश पुत्र सुमरदिन ने दुराचार किया जिसकी एफ आई आर रामगढ़ थाने में दर्ज कराई गई. 24 जून को कोर्ट में बयान होने थे उससे पहले ही पीड़िता के परिवार पर समझौता करने का दबाव डाला गया और समझौता नहीं करने पर हत्या कर शव पेड़ पर टांग दिया.

जयपुर पुलिस की बड़ी कामयाबी, गुमशुदा हुए 1430 मोबाइल किए बरामद

आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण का आरोप:
आरोपियों में सुमरादिन महमूद अंजुम और तौफीक धमिल है. मृतक के बेटे ने आरोपियों पर दो-तीन अन्य व्यक्तियों के साथ मिलकर गला घोट कर हत्या करने का आरोप लगाया. पीड़ित पक्ष का यह भी आरोप है कि आरोपियों को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है इसलिए कार्यवाही होने की शंका है. छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज करने में भी पुलिस ने देर की थी जिसके कारण आरोपियों के हौसले बुलंद है. घटना के बाद मौकेपर एएसपी, सीओ समेत पुलिस के अलाधिकारी भी पहुंचे थे. 

स्कूल से निकलने के बाद दोस्तों के साथ नदी में नहाने गया था राजेश, 18 घंटे बाद मिली लाश

स्कूल से निकलने के बाद दोस्तों के साथ नदी में नहाने गया था राजेश, 18 घंटे बाद मिली लाश

रामगढ़(अलवर): जिले के मालाखेड़ा पुलिस थाना अंतर्गत जातपुर गांव के समीप रूपारेल नदी में शुक्रवार शाम को डूबे छात्र को आज ग्रामीण गोताखोरों ने 18 घंटे बाद सुबह 8 बजे निकाल लिया. इस मौके पर एसडीआरएफ टीम भी मौके पर थी लेकिन आखिर में प्रयास ग्रामीण गोताखोरों के ही काम आए. रामगढ़ के उपखंड अधिकारी महेश चंद मान, डीएसपी दीपक शर्मा सहित रामगढ़ और मालाखेड़ा पुलिस मौके पर मौजूद थी. 

अंधेरा होने के कारण रात को रोका रेस्क्यू: 
जानकारी के अनुसार मीणापुरा निवासी राजेश मीणा पुत्र छोटे लाल मीणा बारहवीं कक्षा का छात्र है. शुक्रवार को वह छुट्टी के बाद अपने पांच दोस्तों के साथ जातपुर गांव से गुजर रही रूपारेल नदी में नहाने चला गया. नहाने के लिए राजेश पानी मे उतरा तभी बहाव के साथ राजेश पानी में डूब गया. इसकी जानकारी राजेश के साथियों ने शाम को दी तब राजेश घर नहीं पहुंचा. राजेश के दोस्तों से जब मालूम किया तो पता चला कि वह पानी में डूब गया है. उसके बाद तुरंत ही प्रशासन को सूचना दी और मौके पर एसडीआरएफ की टीम बुलाई गई. उसके बाद छात्र को तलाशने के प्रयास जारी हुए लेकिन अंधेरा होने के कारण रात को रेस्क्यू रोक दिया गया. 

20 फुट गहरी बजरी की खान में मिला शव: 
आज सुबह एसडीआरएफ की टीम भी उसे तलाश करने में जुटी हुई थी लेकिन ग्रामीण गोताखोरो ने करीब 20 फुट गहरी बजरी की खान में भरे पानी से राजेश मीणा के शव को बाहर निकाला. घटनास्थल पर रामगढ़ के उपखंड अधिकारी महेश चंद मान पुलिस उपाधीक्षक दीपक शर्मा सहित पुलिस जाब्ता मौजूद था. इधर रामगढ़ के उपखंड अधिकारी महेश चंद्र ने बताया कि यह छात्र अपने साथियों के साथ नहाने के लिए आया था लेकिन पैर फिसलने के कारण इसमें डूब गया काफी देर बाद इसका पता चला. देर रात तक रेस्क्यू चलने के बाद छात्र नहीं मिला तो पुलिस प्रशासन वापस लौट आया. आज सुबह उसके शव को निकाल लिया गया है और मालाखेड़ा पुलिस उसके शव को अपने साथ ले गई. 

जातपुर व मीणापुरा के इलाके में होता है भारी बजरी खनन:  
जहां इस युवक का शव मिला है वह 20 फुट गहरे गड्ढे में झाड़ियों के पास फंसा हुआ था. इस नदी में बजरी प्रचुर मात्रा में निकलती है और अवैध खननकर्ता बजरी निकालते हैं जिसके कारण इस नदी में गहरे गहरे गड्ढे हुए पड़े हुए हैं. बजरी पर रोक के बावजूद भी प्रशासन इस अवैध खनन को नहीं रोक पा रहा है. 

Open Covid-19