VIDEO: चुनावी साल में विश्व हिन्दू परिषद ने फिर अलापा राम नाम का राग

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/18 09:37

जयपुर (योगेश शर्मा)। अप्रेल के माह में देश ही नहीं राजस्थान में श्रीराम जय जय राम का जयघोष सुनवाई देने वाला है। 6 अप्रेल को वर्ष प्रतिपदा मनाने के साथ ही राम मंदिर निर्माण हेतु संकल्प अनुष्ठान के कार्यक्रम होंगे। चुनावी साल में एक बार फिर राम मंदिर राग अलापने का काम शुरु हो गया है। विश्व हिन्दू परिषद ने फिर से बीड़ा उठाया है। उल्लेखनीय है कि बीजेपी के लिये रामनाम हमेशा सहारा बना है। खास रिपोर्ट-

अदालती आदेशों के बीच हो रही मध्यस्थता से परे विश्व हिन्दू परिषद फिर से राम नाम का राग अलापने की तैयारी में है। दिन चुना गया है 6 अप्रेल। चुनावी घमासान के बीच वीएचपी का लक्ष्य है कि देशभर में 1 करोड़ हिन्दू इस दिन रामनाम जाप करेंगे बाकायदा माला जपेंगे और अनुष्ठान करेंगे। गौरतलब है कि राम मंदिर यूपी के अयोध्या से जुड़ा विषय है, लेकिन यह सदैव देश भर में चर्चित रहा है। इसमे भी संदेह नहीं है कि बीजेपी को राम मंदिर के कारण सत्ता के शीर्ष तक पहुंचने का अवसर मिला और राम नाम ने हमेशा से चुनावों में बीजेपी की नैया पार लगाई है। अब चुनावी साल में फिर से राम मंदिर निर्माण की बातें चरम पर है। आर एस एस के वैचारिक संगठन विश्व हिन्दू परिषद ने राम नाम जाप के सहारे जनजागरण का काम हाथ में ले रखा है। 

VHP का राम मंदिर एंजेड़ा और लोकसभा चुनाव:

—अय़ोध्या में भव्य राम मंदिर बने इसके लिये राम नाम जाप अभियान 
—6 अप्रैल को देशव्यापी अनुष्ठान अभियान 
—31जनवरी-1फरवरी को धर्म संसद का होगा आयोजन
—1करोड लोगों के बीच रामनाम जाप संकल्प अभियान 
—6 वर्ष प्रतिपदा पर श्री रामजन्मभूमी मंदिर निर्माण हेतु अनुष्ठान
—संकल्प लिया जाएगा राम जन्मभूमी पर अविलंब मंदिर हो निर्माण
—"श्रीराम जय राम जय जय राम" इस विजय महामंत्र का जाप
—राम भक्त से 13 माला जप करने का संकल्प करने का लक्ष्य 
—6अप्रेल को सूर्योदय से डेढ़ घंटे के अंदर मुहुर्त करना 
—1 करोड राम भक्तों ने 13 माला जप करने से 13 करोड जप पूरे होंगे
—घर, बस्ती, गांव, प्रखंड, नगर के किसी प्रमुख मंदिर व मैदान में एकत्र हो कर जाप करने की रचना
—सामूहिक जप के लिये वीएचपी टोली मदद करेगी
—जाप के दौरान भगवान श्रीराम व प्रस्तावित श्रीराम जन्मभूमी मंदिर का चित्र सामने रखा जाएगा
—संघ विचार परिवार के सभी संगठन व समाज के कार्यकर्ता आगे आकर योगदान दे
—पहले भी हर घर में राम नाम जाप का अभियान वीएचपी चला चुकी है

बीजेपी भले ही मौजूदा दौर में राम मंदिर मुद्दें को लेकर तल्ख बात नहीं करे, लेकिन यह भी सच है कि बीजेपी मुद्दें से पीछे नहीं हटी है। बीजेपी के संघनिष्ठ हार्डकोर नेता चुनावों में राम मंदिर की गाथा गाने में चूकते नही है, लेकिन संघ के आनुषांगिक संगठनों में वीएचपी इस मसले पर आक्रामक मूड़ में है। मध्यस्थता के विषय पर भी अलग रुख नजर आता है। वीएचपी अपनी राह पकड़ चुकी है। संगठन के बड़े पदाधिकारियों के देशव्यापी दौरे जारी है। इसी कड़ी में बीते दिनों कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार जयपुर आये थे। हिन्दूवादी संगठन का मकसद तो फिलहाल राम मंदिर को लेकर नजर आ रहा है, लेकिन साल चुनावी लिहाजा रामनाम के पीछे के राजनीतिक अर्थ भी लगाये जा रहे है। 

...ऐश्वर्य प्रधान के साथ योगेश शर्मा की रिपोर्ट 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in