फॉक्सवैगन को बड़ा झटका, जुर्माना न भरने पर डायरेक्टर की गिरफ्तारी संभव

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/17 07:04

नई दिल्ली। राष्‍ट्रीय हरित अधिकरण-एनजीटी ने कार बनाने वाली जर्मनी की प्रमुख कंपनी फॉक्सवैगन को बड़ा झटका दिया है। एनजीटी ने कंपनी की इस बात के लिए कड़ी निंदा की है कि उसने 16 नवंबर 2018 के आदेश के अनुसार 100 करोड़ रुपये जमा नहीं किये हैं। एनजीटी ने आज इस कंपनी को निर्देश दिया कि वह 24 घंटे के भीतर यह राशि जमा करे। जुर्माना न भरने पर डायरेक्टर की गिरफ्तारी भी संभव है। 

दरअसल एनजीटी के अध्‍यक्ष आदर्श कुमार गोयल की अध्‍यक्षता वाली पीठ ने कंपनी से कहा कि वह लिखकर दे कि उसके द्वारा कल शाम पांच बजे तक यह राशि जमा कर दी जायेगी। पीठ में शामिल न्‍यायाधीश एस.पी. वांगडी ने फॉक्सवैगन से कहा कि वह धनराशि जमा करने के बाद आदेश का पालन करने के बारे में हलफनामा भी पेश करे। जुर्माना न भरने पर संपत्ति जब्त हो सकती है और डायरेक्टर की गिरफ्तारी भी संभव है। हालांकि फॉक्सवैगन ने एनजीटी के खिलाफ एससी में अर्जी दी है जिसपर 21 जनवरी को सुनवाई होगी। 

बता दें कि पिछले साल 16 नवंबर को एनजीटी ने कहा था कि भारत में डीजल कारों में फॉक्सवैगन ने जिस चीट डिवाइस का इस्‍तेमाल किया है, उससे पर्यावरण को क्षति पहुंचती है। इस पर फॉक्सवैगन का कहना है कि भारत में उसकी सभी कारें उत्सर्जन मानकों को पूरा करती हैं। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in