Live News »

WBHRB Recruitment : स्टाफ नर्स के पदों पर निकली बड़ी भर्ती, 29 जुलाई तक करें आवेदन 

WBHRB Recruitment : स्टाफ नर्स के पदों पर निकली बड़ी भर्ती, 29 जुलाई तक करें आवेदन 

कोलकाता: पश्चिम बंगाल हेल्थ रिक्रूटमेंट बोर्ड ने स्टाफ नर्स ग्रेड  II के विभिन्न पदों पर भर्ती के लिए अधिसूचना जारी की है. योग्य अभ्यर्थी 19 जुलाई 2019 से 29 जुलाई 2019 तक विभाग की वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. 

पदों का विवरण:
कुल पद : 8159 पद 
पद का नाम : स्टाफ नर्स ग्रेड II

शैक्षणिक योग्यता:
इन पदों पर आवेदन करने के लिए उम्मीदवारों ने जीएनएम, बीएससी नर्सिंग अथवा पोस्ट बीएससी नर्सिंग कोर्स किसी भी नर्सिंग ट्रेनिंग स्कूल या भारतीय नर्सिंग परिषद मान्यता प्राप्त कॉलेज ऑफ नर्सिंग से कोर्स किया हो.

आयु सीमा:
इन पदों के लिए अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 39 वर्ष होना आवश्यक है. 

चयन प्रक्रिया:
उम्मीदवारों का चयन लिखित परीक्षा / साक्षात्कार के आधार पर किया जाएगा.

कैसे आवेदन करें:
पश्चिम बंगाल हेल्थ रिक्रूटमेंट बोर्ड में स्टाफ नर्स ग्रेड II के विभिन्न पदों पर उम्मीदवार विभाग की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से 19 जुलाई 2019 से 29 जुलाई 2019 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं. अन्य किसी भी जानकारी के लिए विभाग द्वारा जारी अधिसूचना देखें. ऑनलाइन आवेदन करने के लिए विभाग की अधिकारिक वेबसाइट http://wbhrb.in/ पर जाएं.

विभाग द्वारा जारी अधिसूचना:

http://wbhrb.in/resume/Staff%20Nurse,%20Grade%20II.pdf


 

और पढ़ें

Most Related Stories

अब 10वीं और 12वीं को छोड़कर शेष स्कूली छात्र हो सकेंगे क्रमोन्नत, लॉक डाउन जारी रहने तक नहीं ले सकेंगे निजी स्कूल अग्रिम फीस 

अब 10वीं और 12वीं को छोड़कर शेष स्कूली छात्र हो सकेंगे क्रमोन्नत, लॉक डाउन जारी रहने तक नहीं ले सकेंगे निजी स्कूल अग्रिम फीस 

जयपुर: अब 10वीं और 12वीं को छोड़कर शेष स्कूली छात्र क्रमोन्नत हो सकेंगे तो दूसरी तरफ लॉक डाउन जारी रहने तक निजी स्कूल अग्रिम फीस नहीं ले सकेंगे. जी हां यही फैसला लिया गुरुवार को मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता के हित में और इस तरह से संवेदनशील मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेश भर में संबेदनशीलता का एक और मैसेज दिया है. CM गहलोत ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लागू लॉकडाउन के जारी रहने तक प्रदेश के सभी स्कूल संचालकों को विद्यार्थियों से तीन माह की अग्रिम फीस नहीं लेने के निर्देश दिए हैं.

अगली कक्षा में क्रमोन्नत किया जाएं:
सीएम ने साफ कहा है कि फीस के अभाव में किसी भी छात्र का नाम नहीं काटा जाए.  10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षाओं वाले विद्यार्थियों को छोड़कर अन्य सभी स्कूली विद्यार्थियों को अगली कक्षा में क्रमोन्नत किया जाए. गहलोत ने गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लॉकडाउन के दौरान स्कूलों, कॉलेजों सहित सभी शिक्षण संस्थानों में शैक्षणिक सत्र की स्थिति और आगामी सत्र की तैयारियों की समीक्षा की. सीएम गहलोत ने निर्देश दिए कि स्कूलों और कॉलेजों में यथासम्भव ऑनलाइन लेक्चर व ई-लर्निंग की व्यवस्था की जाए. ताकि विद्यार्थियों की पढ़ाई में निरन्तरता बनी रहे और वे घर पर रहकर भी समय का सदुपयोग कर सकें.

रामगंज से बाहर निकला कोरोना वायरस! एक ही दिन में एक मौत, 39 नए केस पॉजिटिव, जयपुर में मरीजों का ग्राफ पहुंचा 168

स्कूलों में नहीं होगा 15 अप्रैल से ग्रीष्म अवकाश:
प्रदेश के सभी उच्च शिक्षा एवं तकनीकी शिक्षा से जुडे़ संस्थानों में 15 अप्रैल से ग्रीष्म अवकाश घोषित किया जा सकता है. लेकिन स्कूलों में 15 अप्रैल से ग्रीष्म अवकाश नहीं होगा. साथ ही, राजस्थान तकनीकी विश्वविद्यालय से सम्बद्ध संस्थानों मेें लॉकडाउन हटने के बाद आठवें सेमेस्टर की परीक्षाएं प्राथमिकता से करवाने का भी निर्णय लिया गया. उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया कि उच्च शिक्षा विभाग ने विश्वविद्यालय परीक्षाओं के शेड्यूल के निर्धारण के लिए एक 5 सदस्यीय समिति बनाई है. जो लॉकडाउन हटने के बाद परीक्षाओं और आगामी शैक्षणिक सत्र के संचालन के बारे में सुझाव देगी. समिति में राजस्थान विश्वविद्यालय, जयनारायण व्यास विश्वविद्यालय और मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के कुलपति तथा आयुक्त कॉलेज शिक्षा और संयुक्त शासन सचिव उच्च शिक्षा शामिल हैं.

सभी कक्षाओं की किताबें ऑनलाइन उपलब्ध:
शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि सभी कक्षाओं की किताबें ऑनलाइन उपलब्ध करवा दी गई हैं. अब विद्यार्थियों के लिए ऑनलाइन कन्टेन्ट तैयार करने का कार्य किया जा रहा है ताकि घर पर रहकर भी बच्चे अपनी पढ़ाई जारी रख सकें. दूसरी तरफ तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने बताया कि तकनीकी शिक्षण संस्थानों में मिड सेमेस्टर परीक्षाएं ऑनलाइन पूरी कराई जा चुकी हैं. विद्यार्थियों को ई-कन्टेन्ट उपलब्ध करवाने के लिए एक यू-ट्यूब चैनल तैयार किया गया है, जिस पर 600 से अधिक लेक्चर अपलोड किए गए हैं. अध्यापकों को अधिक से अधिक ई-कन्टेन्ट तैयार करने के लिए निर्देश दिए गए हैं. Vc में मुख्य सचिव डीबी गुप्ता, शासन सचिव उच्च शिक्षा शुचि शर्मा, शासन सचिव स्कूल शिक्षा मंजू राजपाल और आयुक्त कॉलेज शिक्षा प्रदीप बोरड़ सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे. आगामी दिनों में ऐसे माहौल में सरकार की कोशिश रहेगी कि e लर्निंग जैसे प्रयोगों में और आये. उम्मीद है कि महामारी संकट के दौर मे cm गहलोत कुछ अन्य नवाचारों से शिक्षा को संकट में नही आने देंगे साथ ही सबसे बड़े इस महकमे का भी संकट में पूरा सहयोग लेंगे.

सीएम गहलोत की प्रदेशवासियों से अपील, कहा-लोगों की जीवन की रक्षा के लिए जुटे स्वास्थ्यकर्मियों का करें पूरा सहयोग

...फर्स्ट इंडिया के लिए नरेश शर्मा के साथ ऐश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

रेलवे प्रशासन ने ऐन वक्त पर रद्द की संविदा भर्ती प्रक्रिया, रेलवे अस्पतालों में निकाली थी भर्ती

रेलवे प्रशासन ने ऐन वक्त पर रद्द की संविदा भर्ती प्रक्रिया, रेलवे अस्पतालों में निकाली थी भर्ती

जयपुर: उत्तर-पश्चिम रेलवे प्रशासन ने संविदा पर की जा रही भर्ती प्रक्रिया में शामिल होने के लिए आने वाले अभ्यर्थियों की संभावित भीड़ को देखते हुए भर्ती प्रक्रिया रद्द कर दी है. रेलवे ने सोशल डिस्टेंसिंग के ब्रेक होने के खतरे के डर से बुधवार को संविदा भर्ती प्रक्रिया को रद्द कर दिया है. 

कोरोना संकट में राज्य सरकार ने पाक विस्थापितों की भी ली सुध, सीएम गहलोत ने दिए निर्देश 

3 माह की अवधि के लिए दी जानी थी नियुक्ति:
दरअसल कोरोना के फैलते प्रकोप के बीच चिकित्साकर्मियों की कमी को देखते हुए उत्तर-पश्चिम रेलवे ने एक नया तरीका अपनाया था. रेलवे अस्पतालों में कर्मचारियों की कमी को पूरा करने के लिए शॉर्ट टर्म सर्विस को मंजूरी दी थी. जिसके तहत 3 माह की अवधि के लिए लोगों को संविदा पर रेलवे अस्पतालों में नियुक्त किया जाना था. ये भर्तियां जयपुर, जोधपुर, बीकानेर, अजमेर मंडल और केंद्रीय अस्पतालों में अलग-अलग पदों पर निकाली गई थी. जयपुर स्थित केंद्रीय अस्पताल में 168 पदों पर संविदा पर नियुक्ति की जानी थी. इसी प्रकार बांदीकुई और रेवाडी के अस्पतालों में भी 16 पदों पर संविदा नियुक्ति होनी थी. इस भर्ती प्रक्रिया में मेडिकल या पैरामेडिकल की योग्यता वाले कोई भी इच्छुक अभ्यर्थी आवेदन कर सकते थे.

चयन के लिए कोई लिखित परीक्षा नहीं थी:
रेलवे ने अपने सेवानिवृत मेडिकल स्टाफ को वरीयता देने की बात कही थी. रेलवे द्वारा की जा रही यह संविदा भर्ती इसलिए भी अलग थी, क्योंकि इसमें चयन के लिए कोई लिखित परीक्षा नहीं थी. साथ ही आवेदन भी वॉट्सएप पर किया जा सकता था. जानकारों की मानें तो यह सरकारी क्षेत्र की ऐसी पहली भर्ती प्रक्रिया थी, जिसमें वॉट्सएप के जरिए भी आवेदन मांगे गए थे. इस भर्ती में शामिल होने के लिए रेलवे के पास करीब 1100 से अधिक आवेदन आए थे. लेकिन रेलवे ने अब इस पूरी भर्ती प्रक्रिया को रद्द कर दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रेलवे अब इस पूरी भर्ती प्रक्रिया को नए सिरे से कराए जाने पर योजना बना रहा है. 

इन पदों पर होनी थी भर्ती:
- केंद्रीय अस्पताल जयपुर में 168 पदों पर होनी थी भर्ती
- 48 स्टाफ नर्स, 60 हॉस्पिटल अटेंडेंट, 3 एक्स-रे टेक्निशियन, 8 लैब टेक्निशियन
- 2 ईसीजी टेक्निशियन, 45 हाउस कीपिंग असिस्टेंट और 2 फार्मासिस्ट के पद विज्ञापित किए गए
- बांदीकुई और रेवाडी रेलवे अस्पताल में 5-5 स्टाफ नर्स और 3-3 हाउस कीपिंग असिस्टेंट नियुक्त किए जाने थे
- सभी पदों पर वेतनमान 7वें पे कमीशन के आधार पर तय किया गया था
- बुधवार तक मांगे थे आवेदन, गुरुवार और शुक्रवार को होने थे इंटरव्यू
- लेकिन अब रेलवे प्रशासन ने रद्द की भर्ती प्रक्रिया

लॉकडाउन खत्म होने तक जैसलमेर में ही रहेंगे 53 कश्मीरी छात्र, जम्मू-कश्मीर सरकार ने लेने से मना किया 

हालांकि रेलवे प्रशासन ने जयपुर केंद्रीय अस्पताल सहित अन्य अस्पतालों में संविदा पर की जा रही चिकित्सकों की भर्ती को यथावत रखा है. यानि इन पदों पर रेलवे भर्ती प्रक्रिया को जारी रखेगा. रेलवे की दलील है कि डॉक्टर्स के लिए आवेदन कम आए हैं. ऐसे में इंटरव्यू की प्रक्रिया में सोशल डिस्टेंसिंग की पूरी पालना की जा सकेगी. 

...काशीराम चौधरी, फर्स्ट इंडिया न्यूज, जयपुर

लॉक डाउन के दौरान प्राइवेट स्कूलों की नहीं हो सकेगी फीस वसूली, स्टाफ को देनी होगी पूरी सैलेरी

लॉक डाउन के दौरान प्राइवेट स्कूलों की नहीं हो सकेगी फीस वसूली, स्टाफ को देनी होगी पूरी सैलेरी

जयपुर: लॉक डाउन के दौरान प्राइवेट स्कूलों की फीस वसूली नहीं हो सकेगी. इसे लेकर शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों को निर्देशित किया है कि लॉक डाउन के दौरान कोई भी निजी शिक्षण संस्थाएं फीस वसूली नहीं करें. शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान अभिभावकों से फीस वसूली नहीं की जा सकेगी. 

Rajasthan Corona Update:  पिछले 12 घंटे में सामने आए 30 नये पॉजिटिव केस, मरीजों का ग्राफ पहुंचा 413 

शैक्षणिक संस्थाओं को अपने स्टाफ को पूरी सैलेरी देनी होगी:
यदि स्कूल संचालक फीस मांगते या दबाव बनाते हुए पाए गए तो मामले में कार्रवाई की जाएगी, जब तक मामले की समीक्षा नहीं की जाती. तब तक फीस वसूली नहीं की जा सकेगी. वहीं दूसरी तरफ उन्होंने यह भी स्पष्ट किया है कि शैक्षणिक संस्थाओं को अपने स्टाफ को पूरी सैलेरी देनी होगी. कर्मचारियों को वेतन नहीं देने पर भी कार्रवाई की जा सकती है. 

शब-ए-बारात: घर में ही करें इबादत, कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद ने की अपील  

संविदा लैब टेक्निशियंस ने तीन घंटे किया कार्य बहिष्कार, प्रयोगशाला भर्ती के 1534 पदों पर नियुक्ति की मांग

संविदा लैब टेक्निशियंस ने तीन घंटे किया कार्य बहिष्कार, प्रयोगशाला भर्ती के 1534 पदों पर नियुक्ति की मांग

जयपुर: कोरोना की लड़ाई में "वॉरियर्स" की भूमिका निभा रहे संविदा लैब टेक्निशियंस ने आज सरकार के खिलाफ सांकेतिक विरोध जताया. प्रयोगशाला भर्ती के 1534 पदों पर नियुक्ति की मांग को लेकर संविदा लैब टेक्निशियंस एसएमएस मेडिकल कॉलेज के मुख्य द्वार पर जुटे और तीन घंटे धरना देकर विरोध जताया. 

Rajasthan Corona Update: प्रदेशभर में 15 नए पॉजिटिव केस आए सामने, मरीजों का ग्राफ पहुंचा 363 

भर्ती के दस्तावेज सत्यापन को गुजर चुके दो साल:
इस दौरान मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना संविदा कार्मिक संघ एवं राज.प्रयोगशाला सहायक सीधी भर्ती संघर्ष समिति के बैनर तले संविदा लैब टेक्निशियंस ने अपनी पीड़ा प्रशासन तक पहुंचा. उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 में 1534 प्रयोगशाला सहायक की भर्ती निकाली गई थी. भर्ती के दस्तावेज सत्यापन को दो साल गुजर चुके है, बावजूद इसके बेरोजगारों को नौकरी का इंतजार है. योग्यता होने के बावजूद अधिकांश लैब टेक्निशियंस को संविदा पर काम करना पड़ रहा है. 

Corona Update: यूपी के 15 जिले आज रात 12 बजे से पूरी तरह से होंगे सील, आवश्यक सामानों की होगी होम डिलिवरी 

लॉक डाउन के मध्यनजर अब स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन कंटेंट पर ज्यादा फोकस

लॉक डाउन के मध्यनजर अब स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन कंटेंट पर ज्यादा फोकस

बीकानेर: लॉक डाउन के मध्यनजर अब स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन कंटेंट पर ज्यादा फोकस किया जा रहा है. बीकानेर के स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के तीनों महाविद्यालयों द्वारा लॉकडाउन के दौरान विद्यार्थियों को ऑनलाइन एवं सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेफॉर्मस के माध्यम से नियमित अध्ययन करवाया जा रहा है. 

Rajasthan Corona Update:  प्रदेश में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 348, देश में मरने वालों का आंकड़ा पहुंचा 149 

विद्यार्थियों के कक्षावार व्हाट्सअप ग्रुप्स बनाए गए: 
वहीं अनुसंधान एवं प्रसार शिक्षा निदेशालय द्वारा व्हाट्सअप ग्रुप्स से एडवाइजरी जारी की जा रही है. विवि के कुलपति प्रो. आर. पी. सिंह ने बताया कि कृषि महाविद्यालय द्वारा विद्यार्थियों के कक्षावार व्हाट्सअप ग्रुप्स बनाए गए हैं. इनके माध्यम से पाठ्यक्रम की पी.पी.टी. शेयर की जा रही है. वहीं कक्षावार वाट्सअप ग्रुप्स में अध्यापकों को भी जोड़ा गया है, जो विद्यार्थियों को नियमित मार्गदर्शन कर रहे हैं. कृषि व्यवसाय प्रबंधन संस्थान द्वारा जूम और लूम से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से नियमित कक्षाएं चल रही हैं. गृह विज्ञान महाविद्यालय द्वारा भी लॉकडाउन के दौरान अध्ययन का पाठ्यक्रम निर्धारित किया गया है तथा प्रतिदिन व्हाट्सअप एवं जूम के माध्यम से अध्ययन करवाया जा रहा है.

राजस्थान युवा कांग्रेस चुनाव में गहराया विवाद, अब अमरदीन फकीर ने खड़े किये सवाल 

समस्याओं के समाधान के प्रयास किए जा रहे:
विश्वविद्यालय के प्रसार शिक्षा निदेशालय के अधीन कार्यरत सातों कृषि विज्ञान केन्द्रों द्वारा व्हाट्सअप के माध्यम से सभी छह जिलों के किसानों को जोड़ा गया है तथा उनके लिए नियमित एडवाइजरी जारी की जा रही है. साथ ही उनकी समस्याओं के समाधान के प्रयास किए जा रहे हैं. किसानों को व्हाट्सअप एवं वेबसाइट के माध्यम से हार्वेस्टिंग के तरीकों, कृषि मौसम अनुमान, फसलों में होने वाले रोगों एवं इनसे बचाव के संबंध में मार्गदर्शन प्रदान किया जा रहा है. 

...संजय पारीक फ़र्स्ट इंडिया न्यूज बीकानेर 

औरंगाबाद जिला परिषद ने निकाली बंपर सीधी भर्ती, योग्य उम्मीदवार साक्षात्कार के माध्यम से पाये नौकरी

औरंगाबाद जिला परिषद ने निकाली बंपर सीधी भर्ती, योग्य उम्मीदवार साक्षात्कार के माध्यम से पाये नौकरी

नई दिल्ली: कोरोना के कोहराम के बीच औरंगाबाद जिला परिषद ने सीधी भर्ती निकाली है. आप साक्षात्कार  के माध्यम से चयन हो सकेंगे. औरंगाबाद जिला परिषद में मेडिकल ऑफिसर, स्टाफ नर्स और सैनिटरी वर्कर के पद पर 500 से ज्यादा भर्ती निकाली है. इन सभी पदों पर साक्षात्कार के आधार पर सीधी भर्ती होगी. अगर आप भी सरकारी नौकरी के इच्छुक और योग्य है, तो आप साक्षात्कार में पास होने के बाद नौकरी पा सकते है. उम्मीदवार केवल 7 अप्रैल तक साक्षात्कार में शामिल हो सकते हैं. ये साक्षात्कार 7 अप्रैल तक रोजाना  सुबह 11:00 बजे से शाम 03:00 बजे तक लिया जाएगा. इसकी प्रक्रिया चल रही है. योग्य उम्मीदवार अपने योग्यता के दस्तावेजों और उनकी फोटो कॉपी के साथ औरंगाबाद जिला परिषद के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर के कार्यालय में साक्षात्कार दे सकते हैं. 

Corona Update: पीएम मोदी ने की खेल जगत के साथ चर्चा, सचिन-सौरव-विराट समेत देश के 40 खिलाड़ियों से बात

इन पदों पर होगी भर्ती
चलो अब बात करते है औरंगाबाद जिला परिषद ने किन-किन पदों पर भर्ती निकाली है. इसमें स्टाफ नर्स के  110 पदों पर भर्ती होगी. वहीं आरोग्य सेवक (महिला) के 187 पदों पर भर्ती होगी. आरोग्य सेवक (पुरुष) के  60 पद है. तो मेडिकल ऑफिसर के 30 पद है. मेडिकल ऑफिसर (एनेस्थेसिया) के 20 पदों पर भर्ती होगी. वहीं मेडिकल ऑफिसर के 120 पदों पर भर्ती की प्रक्रिया चल रही है. अगर आप भी है योग्य तो आप भी पा सकते है साक्षात्कार के माध्यम से सरकारी नौकरी. 

Rajasthan Corona Update: पिछले 12 घंटे में 21 नए पॉजिटिव मरीजों की पुष्टि, 154 हुई मरीजों की संख्या

अगर आप भर्ती से संबंधित ज्यादा जानकारी पाना चाहते है तो आप इस लिंक पर क्लिक कीजिए

कोरोना वायरस को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा फैसला, सभी स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं स्थगित

कोरोना वायरस को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा फैसला, सभी स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं स्थगित

जयपुर: कोरोना वायरस को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने CMO में हुई बैठक में  बड़ा फैसला लिया है. सभी स्कूल, कॉलेज और यूनिवर्सिटी की परीक्षाएं स्थगित की गई है. इसके साथ ही बोर्ड की परीक्षाएं भी स्थगित करने के आदेश दिए गए है. साथ ही होम आइसोलेशन में रखे गए नागरिकों पर सीसीटीवी कैमरों के जरिए कड़ी नजर रखी जाएगी. ऐसे लोगों को बाहर जाने की इजाजत नहीं होगी. वहीं किसी दूसरे व्यक्ति के संपर्क में आने पर कड़ी रोक रहेगी. 

अदालतों के कम्प्लीट शटडाउन से मुख्य न्यायाधीश का इंकार, हाइकोर्ट बार ने न्यायिक कार्य नही करने का किया ऐलान 

प्रदेश में 31 मार्च तक धारा 144 लागू:  
इससे पहले बुधवार को कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों का जीवन बचाने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बड़ा फैसला लेते हुए प्रदेश भर में 31 मार्च तक धारा 144 लागू करने के आदेश दिए थे. बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में अहम मीटिंग के बाद यह फैसला लिया गया. CM ने अपील की है कि मंदिर, मस्जिद सहित अन्य धार्मिक एवं सार्वजनिक स्थलों पर लोग एकत्रित न हो. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पूरी तरह गंभीर: 
कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पूरी तरह गंभीर है और वे लगातार चिकित्सा विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक ले रहे हैं बुधवार को भी मुख्यमंत्री कार्यालय में बड़ी मीटिंग हुई जिसमें कई अहम फैसले लिए गए. 

VIDEO- Coronavirus Updates: झुंझुनूं के प्रशासन के भरोसे मत रहिए! कर्फ्यू वाले एरिया में लगा रहा जमघट 

- स्कूलों में 31 मार्च तक पीटीएम पर रोक
- सार्वजनिक एवं सरकारी पुस्तकालयों बन्द रहेंगे
- झुंझुनूं में पॉजिटिव मरीजों के घर के एक किमी दायरे में कर्फ्यू
- अजमेर, कोटा, भरतपुर, झुंझुनूं सहित अन्य स्थानों पर भी जांच सुविधा विकसित होगी
- जयपुर में जांच क्षमता दोगुनी करने के निर्देश 
- विदेश से आने वाले यात्रियों की होगी स्क्रीनिंग
- एयरपोर्ट से सीधे होटलों में ठहराकर होगी स्क्रीनिंग
- एयरपोर्ट के पास तीन होटल चिन्हित किए गए 
- एयरपोर्ट पर उन व्यक्तियों के हाथ पर मुहर लगेगी
- घर के बाहर भी इस संबंध में सूचना चस्पा की जायेगी
- आस-पड़ोस के लोग उनसे नहीं मिले


 

राजस्थान विश्वविद्यालय की यूजी और पीजी की परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित

राजस्थान विश्वविद्यालय की यूजी और पीजी की परीक्षाएं 31 मार्च तक स्थगित

जयपुर: कोरोना वायरस के खौफ के चलते राजस्थान विश्वविद्यालय की परीक्षाएं भी स्थगित हो गई है. सरकार के निर्देश के बाद यूजी और पीजी की परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला लिया गया है. ऐसे में अब 31 मार्च तक आयोजित होने वाली सभी परीक्षाएं स्थगित हो गई है. इससे पहले फर्स्ट इंडिया न्यूज ने इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया था. 

प्रदेश में 3 नए कोरोना पॉजिटिव, गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, प्रदेश में धारा 144 लागू

तुरंत प्रभाव से सभी परीक्षाओं को स्थगित:  
परीक्षा स्थगित होने पर राजस्थान विश्वविद्यालय कुलपति आरके कोठारी ने कहा कि सरकार ने सभी परीक्षाएं स्थगित करने के आदेश दिए हैं, जिसके बाद तुरंत प्रभाव से सभी परीक्षाओं को स्थगित किया जा रहा है. हालांकि आज सुबह 7 से 10 बजे का पेपर आयोजित हो रहा है. आज हो रही परीक्षा को लेकर कुलपति ने कहा कि अगर इस परीक्षा में उपस्थिति कम रहेगी तो इस परीक्षा को दोबारा कराया जाएगा. 

 VIDEO: बिछ गई राज्यसभा चुनाव की चौसर, 3 सीटों पर कुछ इस तरह रहेगा गणित 

कुलपति ने कल दिया था महाराष्ट्र का उदाहरण:
इससे पहले कर देर रात विश्वविद्यालय की परीक्षाओं को लेकर कुलपति ने कहा था कि राज्य सरकार से अभी तक नहीं मिले कोई निर्देश नहीं मिले है ऐसे में आरयू की परीक्षाएं यथावत रहेगी. साथ ही कुलपति कोठारी ने महाराष्ट्र का उदाहरण देते हुए कहा था कि वहां भी धारा 144 है लेकिन परीक्षाएं यथावत रहेगी. लेकिन जब अब सरकार के निर्देश मिल गए है तो 31 मार्च तक आयोजित होने वाली सभी परीक्षाएं स्थगित किया गया है. 

Open Covid-19