कोरोना काल में WHO की सलाह; संक्रमण से बचना है तो हेल्दी डाइट ले, नमक और मीठा कम से कम खाएं 

कोरोना काल में WHO की सलाह; संक्रमण से बचना है तो हेल्दी डाइट ले, नमक और मीठा कम से कम खाएं 

कोरोना काल में WHO की सलाह; संक्रमण से बचना है तो हेल्दी डाइट ले, नमक और मीठा कम से कम खाएं 

जिनेवा: कोरोना वायरस (Corona Virus) ने एक बार फिर सबकी मुश्किलें बढ़ा दी हैं. कोरोना का नया रूप बहुत संक्रामक (Contagious) है और जरा सी लापरवाही (Negligence) इस महामारी (Epidemic) को न्योता देने की तरह है. बार-बार हाथ धोने, मास्क (Mask) लगाने और सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) के साथ-साथ आपको खानपान (Food and Drink) पर भी बहुत ध्यान देने की जरूरत है, क्योंकि अच्छी डाइट से ही इम्यून सिस्टम (Immune System) मजबूत होगा और आप खुद को कोरोना से बचा पाएंगे. WHO (World Health organization) ने बताया है कि कोरोना से बचने के लिए किस तरह की डाइट लेना जरूरी है.

कोरोना से बचने के लिए कैसी हो डाइट:
अपनी डाइट में कई तरह के ताजे फल और अनप्रोसेस्ड फूड (Unprocessed Food) शामिल करने चाहिए, जिससे आपको जरूरी विटामिन, मिनरल्स, फाइबर, प्रोटीन और एंटीऑक्सीडेंट (Vitamins, Minerals, Fiber, Proteins, Antioxidants) मिल सकें.

सब्जियां ज्यादा पकाकर न खाएं:
हर दिन कम से कम 2 कप फल (4 सर्विंग्स), 2.5 कप सब्जियां (5 सर्विंग्स), 180 ग्राम अनाज और 160 ग्राम मीट और सेम खाएं. हफ्ते में 1-2 बार रेड मीट और 2-3 बार चिकन (Chicken) खा सकते हैं. शाम के समय हल्की भूख लगने पर कच्ची सब्जियां और ताजे फल खाएं. सब्जियों को ज्यादा पकाकर न खाएं. वरना इसके जरूरी पोषक तत्व (Nutrients) खत्म हो जाएंगे. अगर आप डिब्बाबंद फल या सब्जियां खरीदते हैं तो ध्यान रखें कि उनमें नमक और शक्कर ज्यादा ना हो.

ज्यादा से ज्यादा जूस का सेवन करें:
हैवी फूड खाने से बचें गर्मी का मौसम आते ही भूख कम प्यास ज्यादा लगने लगती है.  ज्यादा से ज्यादा जूस का सेवन करें गर्मी के मौसम में शरीर को ठंडाहट देने के लिए छाछ का सेवन करना काफी अच्छा होता है. एक्सरसाइज (Excercise) न छोड़े कुछ लोग बढ़ती गर्मी के कारण एक्सरसाइज करना छोड़ देते हैं. चाय-कॉफी के सेवन से बचें. बाहर से आकर तुरंत पानी न पीएं. धूप से आने के बाद लोग तुंरत पानी पी लेते है जो काफी गलत है. कुछ देर रूकें और फ्रिज का पानी पीने से बचें.खाना बनाने से पहले और खाना बनाने के दौरान हाथ ज़रूर धोते रहें.

कच्चे भोजन को पके हुए खाने से दूर रखे:
टॉयलेट जाने के बाद हाथ साफ़ करें. खाना बनाने की जगह, चूल्हे और बर्तन अच्छी तरह से धोएं और उन्हें सैनिटाइज़्ड (Sanitized) करें. रसोई घर को कीड़े-मकौड़ों और दूसरे जानवरों की पहुंच से सुरक्षित रखें. कच्चे भोजन को पके खाने से दूर रखें. पॉल्ट्री उत्पाद, कच्चे गोश्त और सीफूड (समंदर में पाए जाने वाले जीव-जंतुओं का मांस, जैसे मछली) को खाने-पीने की दूसरी चीज़ों से अलग रखें. कच्चे भोजन को हैंडल करते वक़्त अलग बर्तनों जैसे चाकू और कटिंग बोर्ड का इस्तेमाल करें. 

पके हुए खाने को दो घंटे से ज़्यादा समय के लिए न रखें:
तैयार खाना और कच्चे भोजन के बीच किसी तरह का संपर्क न हो इसके लिए खाने-पीने की चीज़ों को कंटेनर में रखें.सुरक्षित तापमान पर भोजन सुरक्षित रखें.  पके हुए खाने को कमरे के सामान्य तापक्रम पर दो घंटे से ज़्यादा समय के लिए न रखें. तैयार खाने और ख़ासकर जल्द ख़राब हो जाने वाले भोजन को पांच डिग्री सेल्सियस से कम तापमान पर फ्रिज में रखें. खाना परोसने से पहले उसे तेज़ आंच (60 डिग्री सेल्सियस तापमान से ज़्यादा) पर गर्म करें. फ्रिज में भी खाना ज़्यादा समय के लिए स्टोर न करें.

ऐसा भोजन चुनें जिसकी सुरक्षित प्रोसेसिंग की गई हो:
फ्रोज़ेन फूड (Frozen Food) यानी जमी हुई चीज़ों को कमरे के सामान्य तापक्रम पर पिघलने के लिए न छोड़े. स्वच्छ जल का इस्तेमाल करें और अगर ये उपलब्ध न हो तो इसे सुरक्षित इस्तेमाल के लायक साफ़ करें. ताज़ा और पौष्टिक खाद्य सामग्री (Nutritious Food) का इस्तेमाल करें. ऐसा भोजन चुनें जिसकी सुरक्षित प्रोसेसिंग (Secure Processing) की गई हो जैसे पाश्चुराइज़्ड दूध (Fortified Milk), फल और सब्ज़ियां ज़रूर धोएं, ख़ासकर तब जब आप उन्हें कच्चा ही खा रहे हों. खाने-पीने की एक्सपायर्ड चीज़ें (Expired Items) यानी जिनके इस्तेमाल की तारीख ख़त्म हो गई हों, का इस्तेमाल कभी नहीं करें.

और पढ़ें