close ads


ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने स्वीकारा, जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में जीवन आसान नहीं

ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने स्वीकारा, जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में जीवन आसान नहीं

सिडनी: ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर ने सोमवार को स्वीकार किया कि कोविड-19 महामारी के बीच जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में रहते हुए क्रिकेट खेलने का उनके पारिवारिक जीवन पर असर पड़ा है और अब उनका मुख्य लक्ष्य अगले दो टी20 विश्व कप में अपने देश का प्रतिनिधित्व करना है.

वॉर्नर ने कहा- प्रत्येक खिलाड़ी ने अलग हालात का सामना किया
वॉर्नर ने स्वीकार किया कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर के रूप में पिछले छह महीने काफी मुश्किल रहे. उन्होंने साथ ही अगले 12 महीने में ऑस्ट्रेलिया की ओर से निश्चित संख्या में श्रृंखलाओं में खेलने की प्रतिबद्धता जताने से भी इनकार कर दिया. भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच आगामी श्रृंखला के आधिकारिक प्रसारणकर्ता सोनी की ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में वॉर्नर ने कहा कि ऐसा करना काफी मुश्किल है. पिछले छह महीने काफी चुनौतीपूर्ण रहे. जैविक रूप से सुरक्षित माहौल और परिवार के बिना रहने का आदी होने का प्रयास करना था. उन्होंने कहा कि प्रत्येक खिलाड़ी ने अलग हालात का सामना किया. अगर आप कैलेंडर देखो तो अगले 12 महीने काफी मुश्किल हैं, निश्चित तौर पर ऐसा समय आएगा जब आप अपने परिवार में साथ समय बिताना चाहोगे. हमें अपने परिवार से मिलने का समय नहीं मिल रहा है और खेलने के बाद 14 दिन होटल में बिताने होंगे, पत्नी और तीन बच्चों को यहां लाए तो यह काफी मुश्किल होने वाला है.

भविष्य में वह अधिक टी20 मैच खेलने को प्राथमिकता देंगेः
वॉर्नर ने कहा कि मैं कभी उन्हें ऐसी स्थिति में नहीं डालूंगा कि उन्हें 14 दिन घर में पृथकवास में बिताने पड़ें. वार्नर ने कहा कि 34 साल की उम्र में भविष्य में वह अधिक टी20 मैच खेलने को प्राथमिकता देंगे विशेषकर अगले दो साल में दो टी20 विश्व कप को देखते हुए. अगले दो टी20 विश्व कप का आयोजन 2021 में भारत और 2022 में ऑस्ट्रेलिया में होना है.

भारत में टी20 विश्व कप को देखते हुए प्राथमिकता टी20 हैः
वॉर्नर ने कहा कि खिलाड़ी और कोचिंग स्टाफ के रूप में हम पहले ही इस पर बात कर चुके हैं. मुझे लगता है कि अगर आप हमारी एकदिवसीय और टी20 टीम को देखो तो हम ऐसी टीम चुन रहे हैं जो अगले कुछ विश्व कप में खेलेगी. अगर हम ब्रेक लेंगे तो यह इन श्रृंखलाओं के बीच होगा. बेशक प्राथमिकता इन विश्व कप में खेलना है. उन्होंने कहा कि भारत में टी20 विश्व कप को देखते हुए प्राथमिकता टी20 है. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया में भी टी20 विश्व कप होना है. इसलिए अगले दो साल में काफी टी20 क्रिकेट होगा जबकि टीमें 2023 में होने वाले विश्व कप की भी तैयारी करेंगी.
सोर्स भाशा

और पढ़ें