प्रदेश में हर घर नल के तहत जलापूर्ति होगी सुनिश्चित, केंद्र की योजना को लागू करेगी सरकार

Dr. Rituraj Sharma Published Date 2019/10/09 15:10

जयपुर: केंद्र की जल जीवन मिशन योजना को गहलोत सरकार प्रदेश में भी लागू करेगी. इसके लिए मुख्य सचिव ने विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए है. पीएचईडी की कार्य योजना के बाद ही केंद्र की ओर से मिशन के तहत मुहैया करवाई गई 428 करोड़ की राशि राज्य सरकार खर्च कर सकेगी. प्रदेश में फिलहाल 12 फीसदी घरों को ही जलदाय विभाग नल कनेक्शन के जरिये जलापूर्ति कर रहा है.

राज्य को भी अपने हिस्से की 50 प्रतिशत राशि देनी होगी: 
केंद्र की जल जीवन मिशन योजना में राज्य को भी अपने हिस्से की 50 प्रतिशत राशि देनी होगी. केंद्र की जल जीवन मिशन योजना को लेकर सचिवालय में सीएस डीबी गुप्ता ने बुधवार को बैठक ली. केंद्र की इस योजना को राज्य सिद्धान्ततः लागू करने पर सहमत है. ऐसे में बैठक में आज मुख्य सचिव ने योजना के अहम पहलुओं के बारे में चर्चा करके पीएचईडी विभाग को इसकी विस्तृत कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए. माना जा रहा है कि योजना के तहत हर घर नल कनेक्शन दिया जाएगा. अपने एक्शन प्लान में पीएचईडी कितने घरों में पेयजलापूर्ति करनी है, कितनी पाइपलाइन डालनी है और क्या संसाधन जरूरी हैं, यह बताएगा. साथ ही इसके लिए क्या क्या किया जाएगा इस पर अलग से मंथन करने के लिए बैठक होगी.  

प्रदेश में फिलहाल 12 प्रतिशत घरों को मिल रहा नल से पानी: 
प्रदेश में फिलहाल 12 प्रतिशत घरों को ही जलदाय विभाग नल से पानी दे रहा है. ऐसे में हर घर को नल से पानी पहचाना विभाग के लिए भी चुनौती से कम नही है. बैठक में एसीएस वित्त निरंजन आर्य,प्रमुख सचिव संदीप वर्मा,वित्त सचिव बजट हेमन्त गेरा सहित वित्त,वन,जल संसाधन और पीएचईडी से जुड़े अधिकारी मौजूद रहे. 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in