हम सैनिकों का बलिदान नहीं भूलेंगे, पूरा देश कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा है- राजनाथ सिंह

हम सैनिकों का बलिदान नहीं भूलेंगे, पूरा देश कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा है- राजनाथ सिंह

हम सैनिकों का बलिदान नहीं भूलेंगे, पूरा देश कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा है- राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: लद्दाख में चीन के सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवानों की शहादत के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का पहला बयान सामने आया है. सैनिकों के जान कुर्बान करने की घटना को लेकर पूरे देश में गुस्से के बाद उन्होंने घाटी में जवानों की शहादत को दुखदायी बताया है. 

Rajasthan Corona Updates: कोरोना को हराने में राजस्थान टॉप राज्यों में शुमार, अब तक 10,125 मरीज पॉजिटिव से हुए नेगेटिव 

हम सैनिकों का बलिदान नहीं भूलेंगे: 
इस मामले पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्विटर पर कहा कि हम सैनिकों का बलिदान नहीं भूलेंगे. पूरा देश शहीद सैनिकों के साथ खड़ा है. उन्होंने आगे लिखा कि मेरा संवेदनाएं वीरगति को प्राप्त हुए उन सैनिकों के परिवारों के साथ है. इस कठिन घड़ी में समूचा देश कंधे से कंधा मिलाकर उनके साथ खड़ा है. हमें भारत के वीर सपूतों की बहादुरी और उनके अदम्य साहस पर गर्व है.

सुरजेवाला- 20 जवानों के शहादत से पूरे देश में भारी रोष: 
विपक्ष भी चीन से हिंसक झड़प के बाद लगातार सरकार पर निशाना साध रहा है. कांग्रेस के नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि 20 जवानों के शहादत से पूरे देश में भारी रोष है. पूरे देश को हमारे वीर सपूतों के शौर्य पर गर्व है उन्होंने अपने प्राणों की आहुति दें भारत मां की अस्मिता की रक्षा की है. चीनी सेना के इस दुस्साहस पर पीएम और मोदी सरकार ने मौन साध लिया है. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी, कांग्रेस पार्टी व पूरा प्रतिपक्ष पर बार-बार केंद्र सरकार से गुहार लगाते रहें कि कुछ बताए कि आखिर बॉर्डर पर परिस्थितियां क्या हैं? चीन की सेना ने हमारी सरहदों में कहां तक कब्ज़ा कर लिया है और हमारी कितनी ज़मीन हड़प ली है.?

Coronavirus in India Updates: दुनिया में पहली बार सबसे ज्यादा मौत भारत में, पिछले 24 घंटे में 10974 नए मामले सामने आए 

हिंसक झड़प में भारत के 20 जवानों की जान चली गई:
गौरतलब है कि सोमवार रात गालवान घाटी में भारत और चीन की सेना के बीच हुई हिंसक झड़प में भारत के 20 जवानों की जान चली गई है. इसके अलावा भारत के चार जवान की स्थिति गंभीर है. सेना ने इस बात की पुष्टि की है. समाचार एजेंसी ANI ने सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार चीनी पक्ष की ओर से कम से कम 43 सैनिक जान गंवा चुके हैं या गंभीर रूप से घायल हुए हैं. 


 

और पढ़ें