विधानसभा में हुई वेब पोर्टल, डैश बोर्ड और मोबाइल एप्प की लांचिंग, पेपर लेस की दिशा में बड़ा कदम

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/07/07 04:54

जयपुर: 'पेपर लेस' और 'ग्रीन एसेम्बली ' की दिशा में राजस्थान की विधानसभा आगे बढ़ रही है. आज राज्य की विधानसभा में वेब पोर्टल, डैश बोर्ड और मोबाइल एप्प की लांचिंग हुई. लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला ने नवाचारों को लांच किया. इस अवसर पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, विधानसभा के अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल मौजूद रहे. प्रबोधन कार्यक्रम में लांचिंग की गई. 1952 से सदन की कार्यवाही का वृतांत को डिजीटाइज्ड करने में राजस्थान की विधानसभा प्रथम है. 

राजस्थान की विधानसभा तकनीक के क्षेत्र में अग्रणी रही है. साल 1997 में राज्य की विधानसभा देश में पहली थी जिसने सबसे पहले वेबसाइट लांच की थी. आज नवाचार के साक्षी बने लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया, संसदीय कार्यमंत्री शांति धारीवाल समेत प्रमुख विधायक और पूर्व विधायक मौजूद रहे. 

वेब पोर्टल का महत्व - -
- राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र के सहयोग से बनी नवीन वेबसाइट तैयार हुई
- प्रतिवर्ष करोड़ों के कागज की संख्या को रोकने के लिये वेबसाइट का महत्व
- कागज की बचत मुख्य एंजेडा
- वार्षिक प्रतिवेदन, निष्पादन, आय व्यय ऑनलाइन 

1952 से सदन की कार्यवाही वृतांत का उद्घाटन - -
- डिजीटाइज्ड स्तर पर कार्यवाही वृतांतो का विवरण 
- पहली विधानसभा से 1998 तक के डिजीटाइज्ड वृतांत उपलब्ध होंगे
- तिथिवार, विषयवार, सदस्य वार, विशिष्ट तरह के खोज की सुविधा उपलब्ध रहेगी
- यह करने वाली देश की पहली विधानसभा है राजस्थान विधानसभा 

---मोबाइल एप्प---
- एंड्रायड प्लेटफार्म पर मोबाइल एप तैयार
- विधानसभा के प्रश्न, उत्तर, कार्यवाही, वृतांत, सदस्यों से सबंधित जानकारी, कार्यसूची समेत अनेक जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी
- रियल टाइम में अपडेट रहेगी

डैशबोर्ड - - - - 
- ग्रीन एसेम्बली नाम से विधानसभा सचिवालय के लिये डैशबोर्ड 
- कागजों की बचत के लिये डीजीटाइज व्यवस्था
- विधानसभा के कार्मिक अब ऑनलाइन व्यवस्था के तहत कार्य करेंगे
- विधानसभा सचिवालय की सभी शाखाएं डैशबोर्ड को उपयोग करेगी

राजस्थान की विधानसभा का गौरवशाली इतिहास रहा है. समय समय पर इसने खुद को बदला और ढाला है. सबसे बड़ा बदलाव उस वक्त हुआ था जब विधानसभा नये और विराट भवन में शिफ्ट हुई थी. अब 'ग्रीन विधानसभा ' की ओर राज्य विधानसभा आगे बढ़ रही है. ईकोफ्रेंडली और हाईटैक विधानसभा का उद्देश्य एक ही पुराने ढर्रे को बदलकर नये युग में ढ़ालना.

...फर्स्ट इंडिया के लिये योगेश शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in