जयपुर लोकसभा और राज्यसभा की कार्यप्रणाली में क्या होता है फर्क? बताएंगे राज्यसभा सांसद नीरज डांगी, आज शाम 4 बजे करेंगे Digital Baal Mela मंच पर सीधा संवाद

लोकसभा और राज्यसभा की कार्यप्रणाली में क्या होता है फर्क? बताएंगे राज्यसभा सांसद नीरज डांगी, आज शाम 4 बजे करेंगे Digital Baal Mela मंच पर सीधा संवाद

लोकसभा और राज्यसभा की कार्यप्रणाली में क्या होता है फर्क? बताएंगे राज्यसभा सांसद नीरज डांगी, आज शाम 4 बजे करेंगे Digital Baal Mela मंच पर सीधा संवाद

जयपुर: फ्यूचर सोसाइटी और एलआईसी द्वारा प्रायोजित देश का पहला रचनात्मक मंच Digital Baal Mela 2021 में बच्चे इन दिनों संसद के साथ ही राजनीति के हर पहलू का ज्ञान ले रहे है. ऐसे में संसद के सदन राज्यसभा और लोकसभा एक दूसरे से किस प्रकार ​अलग होते है, किस प्रकार इनकी कार्यप्रणाली होती है, किस तरह इन सदनों के सांसद अपनी जिम्मे​दारियों का निर्वहन करते है. बच्चों को यही बताने आज डिजिटल बाल मेला के मंच पर आ रहे है राज्यसभा सांसद नीरज डांगी.

आज शाम 4 बजे होगा गूगल मीट पर विशेष संवाद:
जी हां जो बच्चों को विस्तार से राज्यसभा और इसमें होने वाली गतिविधियों से अवगत कराएंगे. ये संवाद आज शाम 4 बजे डिजिटल बाल मेला के गूगल मीट https://meet.google.com/ysn-pfjh-shh पर आयोजित किया जाएगा. जिसमें देशभर के बच्चे जुड़कर नीरज डांगी से लोकसभा और राज्यसभा में होने वाला फर्क जान सकते है. इस दौरान सांसद नीरज डांगी बच्चों से अपने राजनीतिक अनुभव शेयर करते हुए उन्हें संसद के दो अंग राज्यसभा और लोकसभा की विशेष बातों से मुखाबित कराएंगे.

बात यदि राज्यसभा सांसद की करें तो राजस्थान के भावी राजनेता नीरज डांगी को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के उम्मीदवार के रूप में पिछले साल ही संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा के लिए चुना गया था. उन्हें राजनीति में युवा कांग्रेस की भूमिका में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने के लिए मुख्य तौर पर जाना जाता है. वे पिछले 25 वर्षो से कांग्रेस से जुड़े है.वे साल 2004-2008 में युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष थे,जब कांग्रेस विपक्ष में थी. हमेशा से ही उनके नेतृत्व में युवा कांग्रेस अद्वितीय रूप से सक्रिय रही है. युवाओं की प्रेरणा बने नीरज डांगी ने सार्वजनिक मुद्दों पर अनगिनत बड़े पैमाने पर प्रदर्शन किए है. यूथ कांग्रेस हमेशा प्रदेश की सुर्खियों में रही है.यही वजह है कि Neeraj Dangi के नेतृत्व वाली युवा कांग्रेस कमेटी से चार विधायक, दो मंत्री, एक सांसद, दो यूआईटी अध्यक्ष, राजस्थान पीसीसी के बारह पदाधिकारी और कई अन्य जिला स्तरीय पदों पर आए.वर्तमान में वे राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव भी हैं. वे अपनी बुलंद आवाज, कौशल क्षमता, बुद्धिमत्ता और जनता के हितों की रक्षा करने के लिए जाने जाते है. राज्यसभा सांसद नीरज डांगी के केंद्र और राज्य सरकारों के दिग्गजों से गहरे संबंध है. वे हमेशा से ही संसद में अपनी आवाज उठाते आये है और देश के विकास में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए आगे रहे है.

Digital Baal Mela 2021 लाया है बच्चों के लिए नई सौगात: 
15 जून को शुरू हुआ  ​Digital Baal Mela  2021 सीजन की थीम 'बच्चों की सरकार कैसी हो' है. ऐसे में इस सीजन के हर एक पहलू में बच्चों को राजनीतिक, सामाजिक, सरकार के हर एक पहलू से परिचित कराया जाएगा. आपको पता हो तो सरकार द्वारा की जाने वाली सभी गतिविधियां विधानसभा में पारित की जाती है. जिसके लिए बाल राजनीति में शामिल होने जा रहे बच्चों को विधानसभा जाना और वहां कि गतिविधियों, कार्यप्रणाली को करीब से समझना आवश्यक है. ऐसे में बाल राजनीति में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने जा रहे बच्चों को अपनी सरकार बनाने के लिए देश में पहली बार किसी मंच के सहयोग से विधानसभा जाने का मौका मिलेगा. खास बात ये है कि ये मंच देशभर के बच्चों के लिए आयोजित किया गया है. देशभर के बच्चे इसमें भाग ले सकते है. और डिजिटल बाल मेला 2021 में बनने जा रहे इस इतिहास में अपना नाम कर सकते है.

Digital Baal Mela 2021 की वेबसाइड के साथ अब बच्चे व्हॉटसप पर भी भेज सकते है अपनी एंट्री: 
'डिजिटल बाल मेला सीजन2' में #BacchoKiSarkaarKaisiHo की किसी भी प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए बच्चों को अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा जिसके लिए बच्चे रजिस्ट्रेशन के लिए वेबसाइड www.digitalbaalmela.com के साथ ही डिजिटल बाल मेला के व्हॉटसप नंबर 8005915026 पर भी अपनी एंट्री भेज सकते है.

और पढ़ें