WhatsApp ने आलोचनाओं के चलते New Policy का क्रियान्वयन 3 महीने के लिए रोका

WhatsApp ने आलोचनाओं के चलते  New Policy का क्रियान्वयन 3 महीने के लिए रोका

ह्यूस्टनः व्हाट्सएप ने हाल ही में विवादित नई निजता नीति के क्रियान्वयन को तीन महीने के लिए टालने की घोषणा की है. दरअसल नई नीति के चलते इस एप का इस्तेमाल करने वाले लाखों लोग सिग्नल और टेलीग्राम जैसे प्रतिद्वंद्वी मंचों पर स्थानांतरित हो गए हैं, जिसके चलते व्हाट्सएप को बड़ा झटका लगा  है और ये फैसला लिया गया है.

फेसबुक के स्वामित्व वाली कंपनी ने बताया है कि नीति संबंधी यह बदलाव वैसे आठ फरवरी को प्रभाव में आना था. व्हाट्सएप की ओर से स्पष्टीकरण दिया गया है कि निजी संवाद और प्रोफाइल से जुड़ी अन्य सूचनाओं को लेकर फेसबुक के साथ डेटा साझेदारी प्रभावित नहीं होगी और यह केवल व्यावसायिक चैट से संबंधित है.

जैसे कि यदि कोई उपयोककर्ता व्हाट्सएप के जरिए किसी कंपनी के कस्टमर सर्विस प्लेटफॉर्म पर बात करता है. व्हाट्सएप ने कंपनी के ब्लॉग में कहा है कि हमें कई लोगों से पता चला है कि हमारे हाल के अपडेट को लेकर लोगों के बीच बहुत सारी भ्रांतियां हैं. गलत जानकारियां चिंता पैदा कर रही हैं और हम चाहते हैं कि हर कोई हमारे सिद्धांतों एवं तथ्यों को समझे.

इसमें आगे कहा गया है कि व्हाट्सएप का आधार एक सरल विचार है: आप अपने दोस्तों या परिवारों के साथ जो कुछ भी साझा करते हैं वह आपके बीच ही रहेगा. इसका अर्थ यह है कि हम ऐंड टू ऐंड एनक्रिप्शन के जरिए आपके निजी संवाद की हमेशा रक्षा करेंगे. इसलिए न तो व्हाट्सएप और न ही फेसबुक इन निजी संदेशों को देख सकते हैं.

यही वजह है कि किसे कौन कॉल कर रहा है या संदेश भेज रहा है हम इसका ब्यौरा नहीं रखते हैं. हम आपके द्वारा साझे की जाने वाली लोकेशन को भी नहीं देख सकते हैं और हम आपके कांटैक्ट फेसबुक के साथ साझा नहीं करते हैं. कंपनी ने कहा है कि आठ फरवरी को किसी का भी अकाउंट डिलीट या निलंबित नहीं होगा.

हम नीति की समीक्षा करने की खातिर लोगों के पास जाएंगे. 15 मई को नए व्यावसायिक विकल्प उपलब्ध होंगे. कंपनी ने शुक्रवार को एक अलग ब्लॉग पोस्ट में भ्रम की स्थिति को दूर करने के प्रयास किए थे तथा एक चार्ट भी साझा किया था, जिसमें स्पष्ट किया गया है कि व्हाटसएप इस्तेमाल करने पर कौन सी सूचना सुरक्षित है. (सोर्स-भाषा)

और पढ़ें