VIDEO: Covid-19 के अस्पतालों में बढ़ोतरी को लेकर जब First India ने पूछा मुख्यमंत्री गहलोत से सवाल

VIDEO: Covid-19 के अस्पतालों में बढ़ोतरी को लेकर जब First India ने पूछा मुख्यमंत्री गहलोत से सवाल

जयपुर: कल से शुरू हो रहे मॉडिफाइड लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज पत्रकारों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की. इस दौरान Covid-19 के अस्पतालों में बढ़ोतरी को लेकर फर्स्ट इंडिया न्यूज ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से सवाल किया. इस पर मुख्यमंत्री गहलोत ने जवाब देते हुए बताया कि कोरोना के लिए प्रदेश सरकार ने 92 अस्पताल चिन्हित कर दिए है. 

Modified lockdown: सचिवालय में अधिकारियों और कर्मचारियों की उपस्थिति को लेकर कार्मिक विभाग ने जारी किए दिशा-निर्देश 

जयपुर में कोरोना के लिए 6 अस्पतालों का इंतजाम: 
वहीं सीएम ने बताया कि जयपुर में कोरोना के लिए 6 अस्पतालों का इंतजाम किया गया है. इनमें एसएमएस के अलावा आरयूएचएस यूनिवर्सिटी, एमजेपी प्राइवेट हॉस्पिटल और यूनिवर्सिटी, जयपुरिया अस्पताल, ईएसआई और निम्स अस्पताल है. उन्होंने बतााय कि जयपुर के अलावा भी पूरे राज्य में अस्पताल चिन्हित कर रखें है उस हिसाब से वहां काम चल रहा है. 53 अस्पताल कोरोना के लिए अगल से चिन्हित किए गए है. जयपुर के अंदर 21000 बेड की अलग से व्यवस्था की जा चुकी है. ऐसे में सरकार कही भी कोई कमी नहीं रख रही है. 

प्रदेश में 400 मंडिया चल रही: 
वहीं इस दौरान मीडिया द्वारा मंडियों के सवाल को लेकर सीएम गहलोत ने कहा कि प्रदेश में 400 मंडिया चल रही है. ऐसे में सभी जगह सोशल डिस्टेंसिंह रखनी होगी. साथ ही इस दौरान सभी को मास्क लगाना भी अनिवार्य है. इसके साथ ही पुराने बारदाना को उपयोग करने की छटू दे दी गई है. 

सरकार वित्तिय संकट से गुजर रही:
इसके साथ ही वीसी में इकॉनामी से जुड़े सवाल पर सीएम गहलोत ने कहा कि अभी सरकार वित्तिय संकट से गुजर रही है. एक सप्ताह में 3500 करोड़ की कमी आई है. आर्थिक मंदी पहले से चल रही है ऐसे में खर्चे कहां कर हो सकते है सरकार इस पर ध्यान दे रही है. हालांकि उन्होंने कहा कि सरकार राजस्थान का हेल्थ स्ट्रक्चर मजबूत करने में जुटी हुई है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बजट में कटौती के बारे में भी फैसला किया जाएगा. 

हमने लॉकडाउन से पहले सभी समाज व धर्म के लोगों से बात की:
वहीं लॉकडाउन के बीच लोगों के अवसाद के सवाल पर सीएम गहलोत ने कहा कि लोगों में अवसाद की भावना आ गई है. बाहर रहने वाले राजस्थान के हजारों लोगों में यह अवसाद है. लेकिन भारत सरकार की अनुमित के बिना हम उन्हें यहां नहीं ला सकते हैं. इसके साथ ही रमजान और आखातीज को लेकर पूछे गए सवाल को लेकर सीएम गहलोत ने कहा कि इनका बहुत महत्व है. हमने लॉकडाउन से पहले सभी समाज व धर्म के लोगों से बात की है. धर्म गुरुओं ने सरकार का पूरा साथ दिया है. रमजान में ज्यादा लोग इकट्ठा न हो, ऐसे मौकों पर धर्म गुरुओं की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ जाती है.

Covid-19 Updates: दिल्ली के तुगलकाबाद की एक गली से 35 कोरोना पॉजिटिव केस आए सामने 

व्यापार शुरू करने की छूट शर्तों के साथ:
इसके साथ ही मोडिफाइड लॉक डाउन के सवाल पर मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि व्यापार शुरू करने की छूट शर्तों के साथ है. किसी को घर से बाहर नहीं आने दिया जाएगा. वरना अब तक की तपस्या पर पानी फिर जाएगा. ऐसे में लोगों से अपील करता हूं कि पुलिस को कार्रवाई करने का मौका न दें. 

और पढ़ें