जब दुनिया जूझ रही थी कोरोना महामारी से, तब यूपी बन रहा निवेशकों का हब :योगी आदित्यनाथ

जब दुनिया जूझ रही थी कोरोना महामारी से, तब यूपी बन रहा निवेशकों का हब :योगी आदित्यनाथ

जब दुनिया जूझ रही थी कोरोना महामारी से, तब यूपी बन रहा निवेशकों का हब :योगी आदित्यनाथ

नोएडा: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जब पूरी दुनिया कोविड-19 वैश्विक महामारी से जूझ रही थी तब नोएडा सहित उत्तर प्रदेश के कुछ राष्ट्रिय राजधानी क्षेत्रों में बड़ा निवेश किया जा रहा था जो विकास के लिए राज्य सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है. योगी ग्रेटर नोएडा स्थित इंडिया एक्सपोर्ट सेंटर एंड मार्ट में एक समाचार पत्र द्वारा आयोजित विचार-विमर्श कार्यक्रम और दादरी के मिहिर भोज महाविद्यालय में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा के अनावरण कार्यक्रम में बुधवार को यहां पहुंचे.

उन्होंने अपने शासन में हुए बदलावों का हवाला देते हए कहा कि जो लोग पहले इलाज के लिए दिल्ली जाते थे उन्हें वैश्विक महामारी के दौरान उप्र के एनसीआर इलाकों में स्थित अस्पतालों में आते देखा गया. उन्होंने कहा कि आपको पता होना चाहिए कि पहले निवेशक यहां से मुड़ कर चीन और वियतनाम का रुख करते थे. लेकिन मुझे आपको यह बताते हुए खुशी हो रही है कि देश की पहली (मोबाइल फोन) डिस्प्ले यूनिट केवल एनसीआर में और महामारी के दौरान स्थापित की गई है. योगी ने कहा कि 2017 से पहले राज्य में सार्वजनिक परिवहन की व्यवस्था अच्छी नहीं थी लेकिन अब चार शहरों में मेट्रो ट्रेन की सेवा है. साथ ही उन्होंने सड़कों की स्थिति सुधरने पर भी ध्यान खींचा. 

उन्होंने नोएडा और ग्रेटर नोएडा जैसे अन्य हिस्सों का दौरा नहीं कर उन्हें ‘बदहाल’ अवस्था में छोड़ देने के लिए विपक्षी दलों पर भी निशाना साधा. योगी बीते वर्षों में कई बार नोएडा का दौरा कर चुके हैं और उन्होंने उस मिथक को भी तोड़ा है कि यहां आने वाला मौजूदा मुख्यमंत्री अपनी सत्ता गंवा देता है. योगी ने ग्रेटर नोएडा के दादरी में स्थित मिहिर भोज महाविद्यालय में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा का अनावरण करने के बाद एक जनसभा को भी संबोधित किया. सोर्स- भाषा

और पढ़ें