आखिर कब मिलेगा शहर को सीवरेज योजना का लाभ ?

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/29 11:54

अजमेर। 13 साल पहले शहर में बिछ चुकी सीवरेज का लाभ शहरवासियों को कब मिलेगा, यह अभी भी सवालों के घेरे में है। हालांकि आनासागर ट्रीटमेंट प्लांट का उद्घाटन पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने 14 अगस्त 2016 को किया था लेकिन ट्रीटमेंट प्लांट अब किसी काम के लिए सक्षम नही है जिस कारण यह सवाल उठने लगा है कि आखिर शहर को सीवरेज योजना का लाभ कब से मिलेगा। मार्च 2014 को पाइप लाइनों की फाइनल टेस्टिंग के बाद कनेक्शन देने का काम शुरू किया जाना था लेकिन यह काम फिलहाल ठंडे बस्ते में है।

पूर्व कलेक्टर वैभव गालरिया ने दिसंबर 2013 में सीवरेज योजना को पूरा कराने के लिए सक्रियता दिखाई थी। उस समय एडीए अधिकारियों और ट्रीटमेंट प्लांट के ठेकेदार ने मार्च 2014 तक काम पूरा करने के लिए कलेक्टर को आश्वस्त किया था और कई कामों में तेजी भी ला दी थी। सीवरेज पाइप लाइन और ट्रीटमेंट प्लांट का काम अंतिम चरण में भी पहुच गया था। एडीए आयुक्त मनीष चौहान ने सीवरेज का काम जल्दी पूरा करने के अधिकारियों को निर्देश भी दिए थे लेकिन ट्रीटमेंट प्लांट का ठेकेदार काम पूरा करने के लिए समय पर समय मांग रहे थे और आखिर 14 अगस्त 2016 को कम पूरा होने के बाद इसका उद्घाटन भी करवाया गया था। उद्घाटन के बाद यह प्लांट करीब 10 दिन भी नही चला होगा उससे पहले ही प्लांट फेल होता नजर आया क्यों कि जब यह प्लांट का काम शुरू हुआ तब शहर की क्षमता कम थी और जब इसका उद्घाटन हुआ तो शहर की क्षमता इतनी बढ़ गयी कि यह अब किसी काम का नही रहा। हालांकि प्रशासन द्वारा अब शहर में फिर से लाइन बिछाई जा रही है। अमृत योजना के तहत पहले चरण में फायसागर रोड पर करीब 45 किलो मीटर तक सीवेज की लाइन बिछानी है लेकिन अभी तक इमयः लाइन सिर्फ 33 किलोमीटर तक ही बीच पाई है। लाइन बिछाने का काम काफी समय से चल रहा है लेकिन अभी तक यह काम पूरा नही हो पाया है जिस कारण लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आने जाने वाले लोगो को करीब 1 से 2 किलोमीटर उलट घूम के जाना पड़ रहा है।

आनासागर झील के किनारे बने सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट जिसकी सहमत 13 एमएलडी है और इसी तरह के दो ट्रीटमेंट प्लांट जो कि खानपुरा में  बन रहे है उनका काम निर्माणधीन है । जिनकी सहमत एक कि 20 ओर एक कि 40 एमएलडी है।  ने बताया कि  सीवेज की इन बिछाने का काम सन 1994 से शुरू हो गया था और अब तक एजमेर मे करीब 335 किलोमीटर की लाइन बिछ चुकी है और अजमेर की सहमत करीब 85000 कनेक्शन की है लेकिन अभी तक शहर में सिर्फ और सिर्फ 8000 कनेक्शन ही दिए गए है। सीवेज पर करीब अरबो रुपये इन 25 सालों में खर्च किये जा चुके है लेकिन इसका फायदा अभी तक शहर की जनता को नही मिल राह है।
शुभम जैन फर्स्ट इंडिया न्यूज अजमेर

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in