आखिर कहां से आए कैदियों के पास मोबाइल और हथियार !

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/10/04 05:29

डीडवाना। नागौर जिले के डीडवाना की सब-जैल में चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं। जेल में बंद कैदी द्वारा व्हाटऐप्स के जरिये जेल के अंदर के सेलेब्रेशन की फ़ोटो वायरल की गई। जिसके बाद सामने आया कि मोबाइल के साथ साथ कैदी को जेल प्रशासन की मिलीभगत से हथियार भी पहुंचाए गए। 

खबर ज्यों ही फर्स्ट इंडिया पर दिखाई गई तो आनन फानन में उपखंड अधिकारी उत्तमसिंह शेखावत डीडवाना पुलिस वृताधिकारी रघुवीर प्रसाद शर्मा और डीडवाना थानाधिकारी जितेंद्र चारण के साथ सब जेल में पंहुचे। जेल की गहनता से जांच की गई, तो जेल में कोई भी वस्तु, मोबाइल और हथियार जांच में नहीं मिल पाया। 

वहीं व्हाटऐप्स के जरिए फ़ोटो भेजने और फ़ोटो में नजर आने वाले कैदियों को पूछताछ के लिए जेल अधीक्षक के कक्ष में बुलाकर एक एक करके पूछताछ की गई तो सामने आया कि जेल के अंदर गुटबाजी के चलते कुछ कैदियों द्वारा इस तरह की योजना बनाई गई। और व्हाट्सएप के जरिये जेल के अंदर के फोटो भेजी गई। इससे यह साफ जाहिर होता है कि जेल के अंदर मोबाइल तो जरूर था, मगर जेल प्रशासन ने खबर चलते ही कहीं मोबाइल और हथियार गायब तो नही करवा दिए गए ? इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता। 

इस मामले में उपखण्ड अधिकारी का कहना है कि जेल से फ़ोटो भेजने वाले को ट्रेस कर लिया गया है और बाहर किसके जरिये फ़ोटो भेजे गए इसकी भी जांच की जाएगी। मगर आज की जांच से साफ जाहिर होता कि जेल प्रशासन की मिलीभगत इसमें जरूर है। नहीं तो जेल से आने वाला फोन जिसके जरिये कैदी ने कॉल किया, आखिर वो मोबाइल कहां गया।

डीडवाना से संवादाता नरपत जोया की रिपोर्ट ...

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in