पुलिसकर्मियों को Field Posting देते समय उनके पिछले कार्य का Feedback जरूर ले: मुख्यमंत्री

पुलिसकर्मियों को Field Posting देते समय उनके पिछले कार्य का Feedback जरूर ले: मुख्यमंत्री

पुलिसकर्मियों को Field Posting देते समय उनके पिछले कार्य का Feedback जरूर ले: मुख्यमंत्री

जयपुर: मुख्यमुत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने बुधवार को CMR से वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग (Video Confrencing) के माध्यम से प्रदेश की कानून व्यवस्था (Law & Oreder) की समीक्षा बैठक की. बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस कार्मिकों को फील्ड पोस्टिंग देते समय उनके पिछले कार्यकाल का फीडबैक (Feedback) जरूर लिया जाए. फील्ड में पोस्टिंग के बाद आमजन के बीच से निरंतर फीडबैक प्राप्त करने का एक सिस्टम तैयार किया जाए, जिसकी प्रभावी मॉनीटरिंग गृह विभाग करे. 

ट्रेनिंग के दौरान आचरण एवं शिष्टाचार के बारे में भी बताया जाएं:
मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस विभाग के कार्मिकों की आचरण एवं शिष्टाचार को लेकर नियमित ट्रेनिंग कराई जाए क्योंकि पुलिस के खिलाफ अधिकतर शिकायतें उनके व्यवहार से जुड़ी होती हैं. गहलोत ने थानों में हिरासत में होने वाली मौतों एवं मारपीट की घटनाओं पर अंकुश के लिए सभी थानों में सीसीटीवी कैमरे लगाने के काम को गति देने के निर्देश दिए, जिनकी हर जिले में ऑनलाइन मॉनिटरिंग (online monitoring) सुनिश्चित हो. जहां अभय कमाण्ड सेंटर (Command Center) हैं, वहां थानों को इससे जोड़ा जा सकता है.

अपराधियों से सांठगांठ करने वाले कार्मिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए:
मुख्यमंत्री ने बीट कांस्टेबल (Beat Constable) की भूमिका को और प्रभावी बनाने तथा मिलीभगत की शिकायतों को रोकने के लिए एक पारदर्शी स्थानांतरण नीति (Transparent Transfer Policy) बनाने पर भी बल दिया. उन्होंने कहा कि अच्छा काम करने वाले पुलिस कार्मिकों को प्रोत्साहन मिले और लापरवाह एवं अपराधियों से सांठगांठ करने वाले कार्मिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए. गहलोत ने कहा कि आमजन में बेहतर छवि बनाने के लिए पुलिस कार्मिकों का सतत फीडबैक और मूल्यांकन किया जाना उचित होगा.

और पढ़ें