जेद्दा यूक्रेन युद्ध में इस्तेमाल करने के लिए ईरानी ड्रोन हासिल करना चाहता है रूस: व्हाइट हाउस

यूक्रेन युद्ध में इस्तेमाल करने के लिए ईरानी ड्रोन हासिल करना चाहता है रूस: व्हाइट हाउस

यूक्रेन युद्ध में इस्तेमाल करने के लिए ईरानी ड्रोन हासिल करना चाहता है रूस: व्हाइट हाउस

जेद्दा: व्हाइट हाउस ने कहा है कि रूस के अधिकारियों ने हथियार ले जाने में सक्षम ड्रोन के बारे में व्यापक जानकारी हासिल करने के लिए हाल के हफ्तों में मध्य ईरान में स्थित एक एअरफील्ड का कम से कम दो बार दौरा किया है. व्हाइट हाउस ने कहा कि यूक्रेन में चल रहे युद्ध में इस्तेमाल के लिए रूस इन ड्रोन को हासिल करना चाहता है.

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन क्षेत्रीय सम्मेलन के लिए अरब खाड़ी क्षेत्र के छह देशों, और मिस्र, जॉर्डन तथा इराक के नेताओं के साथ शनिवार को बैठक करने वाले हैं. इसी बीच व्हाइट हाउस ने यह खुफिया जानकारी साझा की है.उम्मीद की जा रही है कि बाइडन अपनी चार दिवसीय यात्रा के अंतिम चरण में एक बड़ा बयान जारी कर सकते हैं, जिसमें पश्चिम एशिया के लिए उनके दृष्टिकोण को विस्तारपूर्वक बताया जा सकता है.

वह क्षेत्र में अमेरिका की स्थिति को मजबूत करने और वहां के देशों को ईरान के खिलाफ एकजुट करने के उद्देश्य से यह यात्रा कर रहे हैं. व्हाइट हाउस के अनुसार ईरान ने आठ जून और 15 जुलाई को काशान हवाई अड्डे पर रूसी अधिकारियों को ड्रोन दिखाए हैं. बाइडन प्रशासन ने हवाई अड्डे पर शाहिद-191 और शाहिद-129 ड्रोन दिखाए जाने की उपग्रह से ली गईं तस्वीरें भी जारी की हैं. उस समय रूसी प्रतिनिधिमंडल का विमान हवाई अड्डे पर मौजूद था.

व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सुलिवन ने एक बयान में कहा कि प्रशासन को सूचना मिली है कि ईरान सरकार रूस को सैकड़ों यूएवी (मानव रहित वायुयान) उपलब्ध कराने की तैयारी कर रही है. सुलिवन ने कहा कि हमें हाल में एक आधिकारिक रूसी प्रतिनिधिमंडल को हमला करने में सक्षम ईरानी यूएवी दिखाए जाने के बारे में जानकारी मिली है. 

हम जून में ली गईं ये तस्वीरें जारी कर रहे हैं, जिनमें उन ईरानी यूएवी को दर्शाया गया है, जिन्हें उस दिन रूसी सरकार के प्रतिनिधिमंडल को दिखाया गया था. इससे ईरान के ड्रोन को हासिल करने की रूस की रुचि का पता चलता है. सुलिवन ने कहा कि अमेरिकी अधिकारियों का मानना है कि जून में हुई रूसी प्रतिनिधिमंडल की वह यात्रा इस सिलसिले में पहली यात्रा थी. व्हाइट हाउस के इस बयान पर संयुक्त राष्ट्र में ईरान के मिशन से शनिवार सुबह प्रतिक्रिया के लिए आग्रह किया गया, लेकिन अभी कोई जवाब नहीं मिला है. भाषा

और पढ़ें