Live News »

जानिए, आखिर शमशान घाट से शव को वापस क्यों ले गई पुलिस?

जानिए, आखिर शमशान घाट से शव को वापस क्यों ले गई पुलिस?

सिकराय(दौसा)। सिकराय उपखण्ड़ के कालवान गांव की बैरवा ढ़ाणी मे एक महिला की संदिग्ध अवस्था में मौत हो गई। मौत होने के बाद तीन से चार परिजन महिला के शव का अंतिम संस्कार करने शमशान घाट ले जा रहे थे। लेकिन जैसे ही इस मामले की सूचना पुलिस को मिली तो पुलिस ने शमशान घाट पर जाकर शव को अपने कब्जे में ले लिया। उसके बाद शक को सिकराय अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। 

मृतक करुणा देवी का निवासी धनबाद राज्य झारखण्ड़ को एक साल पहले कालवान निवासी तिरथ बैरवा के साथ दाम्पत्य जीवन जी रही थी और करुणा के तीन माह का पेट मे बच्चा भी था। लेकिन दोनो के हमेशा अनबन बनी रहती थी। संदिग्ध अवस्था में कल देर रात करुणा की मौत हो गयी। जिसकी अन्तेष्टी करने शमशान घाट में तीन से चार लोग ले जा रहे थे। सूचना पर पहुंची मानपुर थाना पुलिस ने शव को शमशान घाट से लाकर सिकराय अस्पताल मे रखवाया और शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस प्रथम दृश्टया मारपीट से मौत होने की आंशका वयक्त कर रही है और पूरे मामले की जांच मे जुटी हुई है।
 

और पढ़ें

Most Related Stories

सीकर में कोरोना विस्फोट, 30 नए केस आये सामने, जिला प्रशासन ने लोगों से की अपील, जरूरी हो तब ही घरों से निकले बाहर

सीकर में कोरोना विस्फोट, 30 नए केस आये सामने, जिला प्रशासन ने लोगों से की अपील, जरूरी हो तब ही घरों से निकले बाहर

सीकर: राजस्थान के सीकर जिले में सोमवार दोपहर 2 बजे तक 30 कोरोना पॉजिटिव आने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया है. जिसके बाद स्क्रीनिंग और सैम्पलिंग का कार्य जोरों पर चल रहा है. मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ अजय चौधरी ने बताया कि सोमवार को सीकर में 30 लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है. जिनमें लक्ष्मणगढ़ 15 , सीकर शहर 7, नीमकाथाना 4, दातारामगढ़ 2, रामगढ़ 1 और फतेहपुर ब्लॉक में 1  कोरोना पॉजिटिव सामने आया है. सीकर में कुल 130 कोरोना पॉजिटिव सामने आ चुके है. 

महान हॉकी खिलाड़ी बलवरी सिंह सीनियर का निधन, पंजाब के मोहाली में 95 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

अति आवश्यक हो तब ही घरों से बाहर निकले:
जिला प्रशासन एवं चिकित्सा विभाग ने लोगों से अपील की है कि जब तक आवश्यक काम नहीं हो, घरों से बाहर नहीं निकले. कोरोना महामारी अभी गई नहीं है राज्य सरकार ने लॉकडाउन 4 मॉडिफाई में जो छूट दी है इसका मतलब यह नहीं है कि हम इस बीमारी को भुला दें. 

बीमारी को लेकर रहना पड़ेगा सजग:
हमें स्टे होम की पालना करनी पड़ेगी और इस बीमारी को लेकर सजग रहना पड़ेगा. जिला प्रशासन ने जनता से भी अपील की है कि बाहर से आए प्रवासी की सूचना जिला प्रशासन को दें एवं बाहर से आने वाले लोगों को सुनिश्चित करें कि वह क्वारेंटाइन में ही रहे अगर ऐसा नहीं हुआ तो आने वाली परिस्थितियां और भी विषम हो सकती है इसलिए क्वारेंटाइन सेंटर में रहना अति आवश्यक है. 

अब गाजियाबाद ने भी सील की दिल्ली बॉर्डर, सिर्फ इमरजेंसी सेवा और पास वालों को एंट्री

रोडवेज बस में फर्जी IAS बनकर टिकट नहीं लेना पड़ा महंगा, दो जने शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार

रोडवेज बस में फर्जी IAS बनकर टिकट नहीं लेना पड़ा महंगा, दो जने शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार

सिकराय(दौसा): आज रोडवेज की बस में एक व्यक्ति ने आईएएस का हवाला देकर टिकट नहीं लेना महंगा पड़ा है. रोड़वेज बस की महिला परिचालक ने टिकट नहीं लेने पर हुई नोक झोंक के बाद मानपुर पुलिस थाने के सामने रोड़वेज बस को खड़ी करवा दी और मामले की जानकारी मानपुर थाना पुलिस को दी. सूचना पर मानपुर थाना पुलिस ने टिकट नहीं लेने वाले दो जनों को हिरासत में लेकर जांच शुरू कर की. इस दौरान करीब एक घण्टे तक बस में सवार यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा. घटना की जानकारी मिलते ही मानपुर पुलिस वृताधिकारी हिम्मत सिंह चारण भी मौके पहुंचे और घटना की जानकारी ली. 

शांति भंग के आरोप में किया गिरफ्तार: 
महिला परिचालक ने पुलिस को बताया कि रोडवेज बस जयपुर से भरतपुर जा रही थी कि बस में सवार दो जनों ने टिकट नहीं लिया जिनसे बार बार टिकट लेने की कहने पर एक जने ने अपने आप को IAS होने का हवाला दिया और कार्ड के बारे में जानकारी नहीं लेने पर नोक झोंक पर उतारू हो गया. वहीं मानपुर थाना पुलिस के पूछताछ में IAS का हवाला देकर टिकट नहीं लेने वाला फर्जी IAS होना पाया गया. पुलिस ने टिकट नहीं लेने वाले दो जनों को महिला परिचालक के द्वारा दी गयी शिकायत पर शांति भंग के आरोप में गिरफ्तार किया है. 
 

Open Covid-19