दूसरे टेस्ट में रोहित की उपलब्धता के बारे में एक या दो दिन में पता चलेगा- KL Rahul

चटगांव: भारत के कार्यवाहक कप्तान लोकेश राहुल ने रविवार को कहा कि बांग्लादेश के खिलाफ मीरपुर में 22 दिसंबर से शुरू हो रहे दूसरे क्रिकेट टेस्ट के लिए चोटिल रोहित शर्मा की उपलब्धता के बारे में अगले एक या दो दिन में पता चलेगा.

रोहित शर्मा ने एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला के शुरुआती दो मैच में भारत की अगुआई की थी लेकिन सात दिसंबर को मीरपुर में दूसरे मैच में बाएं हाथ के अंगूठे में चोट लगने के कारण वह पहले टेस्ट से बाहर हो गए जिसे राहुल की कप्तानी में मेहमान टीम ने रविवार को 188 रन से जीता.

केवल एक या दो लोग मैच नहीं जिता सकते:
रोहित इसके बाद उपचार के लिए स्वदेश लौटे और अभिमन्यु ईश्वरन को उनके विकल्प के तौर पर टीम में शामिल किया गया. राहुल ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि रोहित की स्थिति के बारे में हमें अलग एक या दो दिन में पता चल पाएगा, यहां तक कि मुझे भी इसकी जानकारी नहीं है. राहुल ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले टेस्ट में जीत को संपूर्ण प्रदर्शन करार देते हुए कहा कि टीम ने सभी विभागों में अच्छा प्रदर्शन किया और एक इकाई के रूप में खेली. उन्होंने कहा कि सब कुछ शानदार रहा. हमने वास्तव में अच्छी बल्लेबाजी की, वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की. क्षेत्ररक्षण में भी हमने अधिकांश कैच लिए. इसी तरह से आप टेस्ट मैच जीतते हैं. केवल एक या दो लोग मैच नहीं जिता सकते, सभी प्रारूपों में ऐसे ही होता है.

गेंद बल्ले के करीब से निकली लेकिन दुर्भाग्यशाली रहे:
राहुल ने कहा कि कुलदीप (यादव), (मोहम्मद) सिराज ने (बांग्लादेश की) पहली पारी में काफी अच्छी गेंदबाजी की जबकि अन्य गेंदबाजों ने उनका अच्छा साथ निभाया. दूसरी पारी में, अक्षर (पटेल) ने वास्तव में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन कुलदीप और ऐश (रविचंद्रन अश्विन) ने दबाव बनाए रखा. उमेश (यादव) और सिराज ने वास्तव में कुछ अच्छे स्पैल फेंके. उन्होंने रन नहीं दिए और कई बार गेंद बल्ले के करीब से निकली लेकिन दुर्भाग्यशाली रहे. उन्होंने कहा कि सभी ने अच्छा प्रदर्शन किया और एक टीम के रूप में हम यही करना चाहते थे. अच्छा प्रदर्शन करने वालों को अन्य लोगों से समर्थन मिला. राहुल ने कहा कि टीम की संस्कृति सामूहिक जरूरतों के बारे में है ना कि व्यक्तिगत उपलब्धियों के बारे में. उन्होंने कहा कि आपने 50 टेस्ट मैच खेले हैं या आप अपना पहला या दूसरा मैच खेल रहे हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.

हमें अपना प्रदर्शन जारी रखना होगा:
राहुल ने कहा कि बांग्लादेश को पहली पारी में 150 रन पर समेटने से भारत के लिए मैच की दिशा तय हो गई थी. उन्होंने कहा कि इससे हमें मैच जीतने के लिए काफी समय मिल गया. अगर बांग्लादेश ने पहली पारी में 350 रन बना लिए होते तो मैच ड्रॉ हो सकता था. टेस्ट क्रिकेट में आपको आसानी से जीत नहीं मिलने वाली है. हम यह जानते थे और हमने यह समझने के लिए पर्याप्त टेस्ट क्रिकेट खेला है कि कभी-कभी विपक्षी बेहतर खेलेंगे और हमें इसका सम्मान करने की आवश्यकता है. हमें अपना प्रदर्शन जारी रखना होगा.

वनडे सीरीज में 1-2 की हार थोड़ी निराशाजनक थी:
राहुल ने कहा कि कलाई के स्पिनर कुलदीप उन पिचों पर टीम के लिए अहम हैं जहां गेंदबाजों को ज्यादा मदद नहीं मिलती. उन्होंने कहा कि स्पिनरों के लिए (विकेट पर) बहुत कुछ नहीं था और ऐश (आर अश्विन) ने भी महसूस किया लेकिन कुलदीप एक अलग विविधता लेकर आए और इसलिए हमने कुलदीप को इस तरह की पिच पर खिलाया. उन्होंने कहा कि वनडे सीरीज में 1-2 की हार थोड़ी निराशाजनक थी.

चुनौतीपूर्ण है और यही टेस्ट क्रिकेट का मजा है:
राहुल ने कहा कि हमने कुछ अच्छी क्रिकेट खेली लेकिन बड़े पलों को भुना नहीं सके. यह थोड़ा निराशाजनक था. यह अब पूरी तरह से नया प्रारूप है, नए व्यक्ति, नई ऊर्जा आ रही है और आप भूल जाते हैं कि अतीत में क्या हुआ था और आप कोशिश करते हैं. उन्होंने कहा कि टेस्ट क्रिकेट कुछ ऐसा है जिसे ड्रेसिंग रूम में हर कोई खेलने के लिए उत्साहित है. हम जानते हैं कि यह चुनौतीपूर्ण है और यही टेस्ट क्रिकेट का मजा है. सोर्स-भाषा