लग्न व उत्साह के साथ निष्ठापूर्वक कार्य करे, प्रदेशवासियों को वायरस के प्रभाव से बचाने में सहयोग जरुरी : चिकित्सा मंत्री

लग्न व उत्साह के साथ निष्ठापूर्वक कार्य करे, प्रदेशवासियों को वायरस के प्रभाव से बचाने में सहयोग जरुरी : चिकित्सा मंत्री

लग्न व उत्साह के साथ निष्ठापूर्वक कार्य करे, प्रदेशवासियों को वायरस के प्रभाव से बचाने में  सहयोग जरुरी : चिकित्सा मंत्री

जयपुर: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा (Medical and Health Minister Dr Raghu Sharma) ने कोविड.19 वैक्सीनेशन कार्यक्रम (Vaccination Program) के तहत प्रदेश में 2 करोड़ वैक्सीनेशन डोज (Vaccine Dose) लगने पर टीकाकरण से जुड़े अधिकारियों व कर्मचारियों को बधाई दी है एवं इसी लग्न व उत्साह के साथ भविष्य में भी निष्ठापूर्वक कार्य कर प्रदेशवासियों को कोविड-19 वायरस के प्रभाव से बचाने में तत्परता से सहयोग का आह्वान किया है. 

जारी किए गए वैक्सीनेशन के आंकड़े:
डॉ शर्मा ने बताया कि मंगलवार शाम तक के आंकड़ों के अनुसार 1 करोड़ 62 लाख 95 हजार 718 व्यक्तियों को प्रथम डोज एवं 34 लाख 92 हजार 989 लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी थी. उन्होंने बताया कि मंगलवार तक प्रदेश में 4 लाख 99 हजार 421 हेल्थकेयर वर्कर्स (Healthcare Workers) को पहली और 3 लाख 87 हजार 65 को दूसरी डोज लगाई जा चुकी थी. इसी प्रकार 5 लाख 71 हजार 891 फ्रंटलाइन वर्कर्स को पहली और 4 लाख 3 हजार 502 को दूसरी डोज (Second Dose) लगाई जा चुकी थी. 

36 लाख 60 हजार 873 को पहली और 1 हजार 813 को दूसरी डोज लगी:
चिकित्सा मंत्री (Medical Minister) ने बताया कि प्रदेश में 18 से 44 आयुवर्ग में 36 लाख 60 हजार 873 को पहली और 1 हजार 813 को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है. इसी प्रकार 45 से 90 आयुवर्ग में 60 लाख 65 हजार 648 को पहली एवं 9 लाख 26 हजार 283 को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है. प्रदेश में 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग में 54 लाख 96 हजार 885 को पहली एवं 17 लाख 74 हजार 326 को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है.

डॉ शर्मा ने बताया कि​ कोविड (Covid) वैक्सीनेशन कार्यक्रम के तहत बुधवार को मध्याह्न प्रदेश ने 2 करोड़ वैक्सीनेशन के आंकड़े को छू लिया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में प्रतिदिन करीब 7 लाख वैक्सीन लगाने की क्षमता विकसित कर ली गई है. वैक्सीन डोजेज प्राप्त होने के साथ ही लगातार वैक्सीन लगाई जा रही है. उन्होंने बताया प्रदेश में वैक्सीन का वेस्टेज मात्र 0.8 प्रतिशत एवं इसे शून्य करने के निरंतर प्रयास किए जा रहे है.

और पढ़ें