देशभर में नए संभावित खनिज निक्षेपों की खोज पर कार्यशाला का हुआ आयोजन 

देशभर में नए संभावित खनिज निक्षेपों की खोज पर कार्यशाला का हुआ आयोजन 

देशभर में नए संभावित खनिज निक्षेपों की खोज पर कार्यशाला का हुआ आयोजन 

जयपुर: भारत में नए और मिट्टी से ढके हुए क्षेत्रों में संभावित खनिज निक्षेपों की खोज करने के लिए भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण वर्ष 2016 से कार्य कर रहा है. इस संबंध में पश्चिमी क्षेत्र, जयपुर कार्यालय में भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण-जियोसाइंस आस्ट्रेलिया की 5वीं एवं अंतिम कार्यशाला आयोजित हुई. कार्यशाला का उद्घाटन अनिल गोपीशंकर मुकीम, सचिव, खान मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा किया गया. 

उन्होंने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि देश में मौजूद खनिजों की आधुनिक तकनीकों से खोज की जाए. सतह के अलावा मिट्टी से ढके हुए क्षेत्रों व गहराई में मौजूद खनिज संपदा ढूढ़ना आवश्यक हो गया है, जो देश के ढाँचागत विकास के लिए अत्यन्त उपयोगी होगा. इसके लिए परस्पर तकनीकी समन्वय व इस तरह के साझा कार्यक्रमों से इस दिशा में नई संभावनाएं बनेंगी. 

इस अवसर पर जीएसआई के सुरेश एन. मेश्राम, महानिदेशक, विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिकगण, जियोसाइंस ऑस्ट्रेलिया के प्रतिनिधिगण के अतिरिक्त दिनेश कुमार, सचिव, खनन और पेट्रोलियम, राजस्थान सरकार एवं  आलोक चन्द्र, संयुक्त सचिव और आर्थिक सलाहकार, खान मंत्रालय, भारत सरकार भी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे. 

और पढ़ें