लंदन युद्ध के कारण यूक्रेन की अर्थव्यवस्था में 45 प्रतिशत की आएगी गिरावट: विश्व बैंक

युद्ध के कारण यूक्रेन की अर्थव्यवस्था में 45 प्रतिशत की आएगी गिरावट: विश्व बैंक

युद्ध के कारण यूक्रेन की अर्थव्यवस्था में 45 प्रतिशत की आएगी गिरावट: विश्व बैंक

लंदन: रूस के हमले से यूक्रेन की अर्थव्यवस्था में इस साल 45.1 प्रतिशत गिरावट का अनुमान है. हमले के कारण यूक्रेन की आधी से ज्यादा कंपनियां बंद पड़ी हैं, आयात और निर्यात ठप है तथा महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे को काफी नुकसान पहुंचा है. विश्व बैंक ने रविवार को एक रिपोर्ट में कहा कि युद्ध को लेकर रूस पर पश्चिमी देशों की कड़ी पाबंदियों से वह मंदी की ओर जा रहा है. इससे उसकी अर्थव्यवस्था को 10 प्रतिशत से अधिक का नुकसान हो रहा है.

क्षेत्र में युद्ध शीर्षक से अपनी आर्थिक रिपोर्ट में बहुपक्षीय संस्थान ने कहा कि युद्ध के कारण पूरे यूरोप और मध्य एशिया की अर्थव्यवस्थाओं पर कोविड-19 से हुए नुकसान के मुकाबले दोगुना असर पड़ेगा. विश्व बैंक की उपाध्यक्ष (यूरोप और मध्य एशिया क्षेत्र) अन्ना बजेर्दे ने कहा कि युद्ध से उत्पन्न मानवीय संकट की भयावहता चौंकाने वाली है.

उन्होंने कहा कि रूस के हमले का यूक्रेन की अर्थव्यवस्था पर गहरा झटका लगा है और उसके बुनियादी ढांचे को भारी नुकसान पहुंचा है. रिपोर्ट में कहा गया है कि यूक्रेन में विभिन्न क्षेत्रों में सड़क, पुल, बंदरगाह जैसे प्रमुख बुनियादी ढांचे को नुकसान पहुंचने से आर्थिक गतिविधियां लगभग थम गयी हैं. यूक्रेन गेहूं जैसे कृषि निर्यात के मामले में वैश्विक स्तर पर प्रमुख आपूर्तिकर्ता है. लेकिन अब इसपर सवाल उठने लगे हैं क्योंकि युद्ध की वजह से गेहूं की खेती पर काफी प्रतिकूल असर पड़ा है.

विश्व बैंक के अनुसार करीब 40 लाख लोग यूक्रेन से पोलैंड और अन्य देशों में चले गये हैं. इतना ही नहीं करीब 65 लाख लोग देश के भीतर ही विस्थापित हुए हैं. युद्ध के लंबा चलने के साथ यह संख्या और बढ़ सकती है.(एजेंसी) 

और पढ़ें