जयपुर VIDEO: विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह : चिकित्सा मंत्री ने एकल परिवार की अवधारणा पर जताई चिंता

VIDEO: विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह : चिकित्सा मंत्री ने एकल परिवार की अवधारणा पर जताई चिंता

VIDEO: विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह : चिकित्सा मंत्री ने एकल परिवार की अवधारणा पर जताई चिंता

जयपुर: विश्व मानसिक स्वास्थ्य सप्ताह के तहत प्रदेश के सबसे बड़े SMS मेडिकल कॉलेज में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है. इसी क्रम में आज सेठी कॉलोनी स्थित मनोचिकित्सालय में मानसिक स्वास्थ्य प्रोत्साहन एवं आत्महत्या रोकथाम कार्यक्रम का आयोजन किया गया. कार्यक्रम के लिए अस्पताल परिसर में जागरूकता प्रदर्शनी लगाई गई, जिसका उद्घाटन चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने किया.

जागरूकता प्रदर्शनी काफी मददगार:
कार्यक्रम में आदर्श नगर विधायक रफीक खान, एसएमएस मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ सुधीर भंडारी, मनोविज्ञान विभागाध्यक्ष डॉ आर के सोलंकी मौजूद रहे. इस मौके पर चिकित्सा मंत्री ने कहा की जागरूकता प्रदर्शनी आमजन के लिए काफी मददगार साबित होगी. उन्होंने कहा आज युवा और आमजन मे पढ़ाई और काम का इतना अधिक बोझ है कि वह आत्महत्या को उतारु होता जा रहा है. कोटा मे भी पढ़ाई करने वाले बच्चे आत्महत्या की ओर अग्रसर हो रहे है. आजकल परिजन अपने बच्चों से कुछ ज्यादा ही अपेक्षा करने लग जाते है. उन पर पढ़ाई का बोझ डालने लग जाते है. जिसके पूरा नहीं होने पर बच्चा आत्महत्या कर लेता है. परिजन को बच्चों की पीड़ा को भी समझने की जरुरत है. आज देश-प्रदेश मे लगातार मानसिक रोगियों की संख्या मे इजाफा होता जा रहा है. एक के बाद एक मरीज सामने आ रहे है. उन्होंने इसके लिए एकल परिवार की अवधारणा को जिम्मेदार बताया. 

मनोरोगियों के प्रति सरकार गंभीर:
हालांकि उन्होंने कहा कि मनोरोगियों की बढ़ती संख्या के प्रति सरकार गंभीर है. कई तरह के जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा निशुल्क दवा योजना और गम्भीर बिमारियों पर फ्री इलाज की सौगात दी गई है. अब मनोचिकित्सक की सीटों में भी बढ़ोतरी की जा रही है. उन्होंने साफ कहा कि मनोरोग जैसी गम्भीर बीमारी पर नियंत्रण करने के लिए चिकित्सा विभाग के साथ-साथ आमजन को भी जागरुक होना होगा. तब जाकर इस पर नियत्रण किया जा सकता है. 

और पढ़ें