WTC Final: भारत की 15 सदस्यीय टीम में उमेश को जगह; शारदुल, मयंक, वाशिंगटन बाहर

WTC Final: भारत की 15 सदस्यीय टीम में उमेश को जगह; शारदुल, मयंक, वाशिंगटन बाहर

WTC Final: भारत की 15 सदस्यीय टीम में उमेश को जगह; शारदुल, मयंक, वाशिंगटन बाहर

साउथम्पटन: ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिस्बेन टेस्ट में भारतीय जीत के नायकों में से एक शारदुल ठाकुर की जगह अनुभवी उमेश यादव को न्यूजीलैंड के खिलाफ विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल के लिए 15 सदस्यीय भारतीय टीम में शामिल किया गया है. ऑस्ट्रेलिया दौरे पर उमेश, मोहम्मद शमी और हनुमा विहारी चोटिल हो गए थे. आईसीसी के टीम प्रोटोकॉल के अनुसार विराट कोहली की अगुवाई में घोषित टीम में इन तीनों ने वापसी की है. यह मैच 18 जून से यहां खेला जाएगा.

शारदुल के अलावा ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अंतिम 11 में शामिल रहे मयंक अग्रवाल और वाशिंगटन सुंदर को भी 15 सदस्यीय टीम से बाहर रखा गया है. इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू श्रृंखला के नायक अक्षर पटेल भी इसमें जगह बनाने से चूक गए. अंतिम टीम में जगह बनाने से चूकने वाले अन्य बड़े खिलाड़ी अनुभवी बल्लेबाज केएल राहुल हैं. राहुल अभ्यास मैच के दौरान विराट कोहली की विरोधी टीम के कप्तान थे.

राहुल उस मैच में अच्छी लय में दिखे थे लेकिन उनकी नजरअंदाजगी से यह पता चलता है कि ऑस्ट्रेलिया दौरे के शुरूआत के समय जो पहली पसंद के खिलाड़ी थे वे फिर से टीम में आ गये है. कोहली के पदभार संभालने के बाद से भारतीय टीम प्रबंधन की यह नीति रही है कि रिजर्व खिलाड़ियों के बेहतर प्रदर्शन के बाद भी टीम में पहली पसंद के खिलाड़ियों को मौका मिले. दूसरे खिलाड़ियों को मौका तभी मिलता है जब कोई वरिष्ठ खिलाड़ी चोटिल हो जाता है.

इस वजह से ही ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिसबेन टेस्ट में अर्धशतक लगाने और सात विकेट चटकाने के बाद भी शारदुल की जगह उमेश को तरजीह दी गई. रविचंद्रन अश्विन टीम में इकलौते विशेषज्ञ ऑफ स्पिनर हैं और रविंद्र जडेजा की वापसी का मतलब है कि अक्षर पटेल के लिए कोई जगह नहीं थी. राहुल और मयंक को तभी मौका मिलेगा जब टीम प्रबंधन रोहित और गिल को पर्याप्त मौके दे देगा. रिद्धिमान साहा को आईसीसी के स्थानापन्न खिलाड़ी के नियम के कारण टीम में जगह मिली है क्योंकि विकेटकीपर के चोटिल होने पर उसकी जगह दूसरा विकेटकीपर ही उतर सकता है.

भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान) शुभमन गिल, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा, मोहम्मद सिराज, रिद्धिमान साहा (विकेटकीपर), उमेश यादव, हनुमा विहारी.
 

और पढ़ें