Live News »

विश्व रक्तदान दिवस विशेष: डीडवाना रक्तदान का शहर है, जहां के लोगों ने रक्तदान को बना लिया अपनी परंपरा

विश्व रक्तदान दिवस विशेष: डीडवाना रक्तदान का शहर है, जहां के लोगों ने रक्तदान को बना लिया अपनी परंपरा

जयपुर: आज विश्व रक्तदान दिवस है. जन्मदिन पर आपने लोगों को मिठाइयां बांटते देखा होगा, किसी पुण्यतिथि पर दान पुण्य करते हुए देखा होगा, अपनी खुशी का इजहार करने के लिए दोस्तों के साथ पार्टी करते हुए भी काफी लोगों को देखा होगा लेकिन आज हम आपको उस शहर में लेकर जा रहे हैं जहां इन मौकों पर लोग रक्तदान करते हैं और बचाते हैं कई जिंदगियां इसीलिए इस शहर को कहा जाता है रक्तदान की राजधानी.

रक्तदान करने के लिए तलाशते है मौका:
जी हां हम बात कर रहे हैं रक्तदान की राजधानी कहे जाने वाले डीडवाना शहर की, नागौर जिले का यह छोटा सा उपखंड जनसंख्या की दृष्टि से ज्यादा बड़ा नहीं है लेकिन यहां के लोगों का दिल बहुत बड़ा है. बड़ा दिल इसलिए हैं कि यहां के लोग दिल खोलकर रक्तदान करते हैं यहां लोग मौका तलाशते हैं रक्तदान करने का. यहीं वजह है कि यहां के ब्लड बैंक से अगर आप ब्लड लेना चाहते हैं तो बदले में आपको रिप्लेसमेंट की भी जरूरत नहीं है क्योंकि यहां पहले से दानदाताओं की भरमार है जो ना केवल डीडवाना की जरूरत को पूरा करते हैं बल्कि जिले की तीन चौथाई जनसंख्या की रक्त की जरूरत को भी पूरा करते हैं. 

COVID-19: पिछले 24 घंटे में 11 हजार 929 नए मामले, 311 मरीजों की मौत, कुल मरीजों की संख्या 3 लाख के पार

डीडवाना में रक्तदान के प्रति जागरूकता:
डीडवाना में रक्तदान के प्रति लोगों में जो जागरूकता देखी गई है वह शायद ही कहीं और आपको देखने को मिले लेकिन यह कुछ सामाजिक संस्थाओं की दो दशक की मेहनत का नतीजा है जिसकी वजह से डीडवाना के लोगों में ब्लड डोनेशन को लेकर इतनी उत्सुकता रहती है कि अकेले डीडवाना में हर साल 3.5 से 4 हजार यूनिट ब्लड डोनेशन होता है. केवल इसी महीने के आंकड़ों की बात करें तो 4-5 छोटे केम्प और 2 बड़े केम्प अब तक हो चुके हैं और इतने ही केम्प अभी इस महीने में और होने हैं. लॉक डाउन की वजह से केम्प पर ब्रेक जरूर लगा था लेकिन कोई जरूरतमन्द इस दौरान भी ब्लड के लिए यहां से खाली हाथ नहीं लौटा.

रिकॉर्ड तोड़ होता है रक्तदान:
डीडवाना में पिछले साल तक जब ब्लड बैंक नहीं हुआ करता था तो यहां बड़े-बड़े रक्तदान शिविरों का आयोजन होता था और उनमें रिकॉर्ड तोड़ रक्तदान भी होता था. रक्तदान के प्रति लोगों की जागरूकता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है की डीडवाना में दो साल पहले तक जो रक्तदान शिविर लगाए जाते थे उनमें कुछ शिविर तो ऐसे होते थे जिनमें 1500 से दो हजार यूनिट तक रक्तदान होता था लेकिन दो साल पहले फरवरी में यहां ब्लड बैंक खुलने के बाद बड़े रक्तदान शिविर लगने बंद हो गए क्योंकि लोगों को अब यह लगने लगा है की बड़े शिविर लगाने की बजाय जरूरत के वक्त जब ब्लड बैंक में रक्त की कमी महसूस की जाए तो हाथों हाथ वहां ब्लड डोनेट किया जाना चाहिए ताकि जरूरत के वक्त ज्यादा से ज्यादा जरूरतमंद लोगों की जान बचाई जा सके. 

राज्य में नॉन स्टेट सिविल सर्विस ऑफिसर्स से आईएएस में चयन मामला पहुंचा दिल्ली हाईकोर्ट

रक्तदान के लिए चले जन जागरूकता अभियान:
डीडवाना के लोगों में जिस प्रकार रक्तदान के प्रति जागरूकता है वैसी ही जागरूकता प्रदेश के हर कोने में होनी चाहिए और इसके लिए सरकार को जन जागरूकता अभियान चलाना चाहिए ताकि जिस तरह से डीडवाना के लोगों को जरूरत के वक्त खून के लिए भटकना नहीं पड़ता वैसे ही स्थिति पूरे प्रदेश और देश में भी बने और रक्त की कमी की वजह से कभी किसी को असमय मौत का मुंह ना देखना पड़े.

...फर्स्ट इंडिया के लिए नरपत ज़ोया की रिपोर्ट

और पढ़ें

Most Related Stories

नागौर: बाइक-कैम्पर की भीषण भिड़ंत में तीन लोगों की मौत

 नागौर: बाइक-कैम्पर की भीषण भिड़ंत में तीन लोगों की मौत

नागौर: जिले के डीडवाना उपखण्ड क्षेत्र के खुनखुना थाने से करीब 25 किलोमीटर दूर शेरानी आबाद गांव के पास बीती रात बाइक और बोलेरो कैम्पर गाड़ी में भीषण सड़क हादसा हो गया, जिसमे बाइक सवार दो लोग जिंदा जल गए तो तीसरे की चोट लगने से अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई. 

कुछ देर बाद PCC चीफ गोविंद सिंह डोटासरा करेंगे पदभार ग्रहण, सीएम गहलोत, मंत्री और विधायक रहेंगे मौजूद 

भीषण भिड़ंत के बाद बाइक उछलकर दूर जा गिरी:  
जानकारी के अनुसार हादसा राष्ट्रीय राजमार्ग 458 पर उस समय हुआ जब बोलेरो कैंपर सवार 10 सवारियां अपने गांव आगुंता से कालका माता मंदिर दर्शन कराकर लौट रही थी रास्ते में शेरानी आबाद के पास सामने से तेज गति से बाइक एवं बोलेरो कैंपर के बीच भीषण भिड़ंत हुई. इससे बाइक उछलकर दूर जाकर गिरी और उसकी टंकी फट गई. इससे उठी चिंगारी के बाद अचानक बाइक भभक गई. इसमे मोटरसाइकिल सवार दो जने तो वहीं जिंदा जल गए जबकि तीसरे युवक कैम्पर से नीचे गिरने से गंभीर घायल हो गया अस्पताल पहुंचाया लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया.

Horoscope Today, 29 July 2020: बुधवार को आज इन राशि वालों के भाग्य में होगी वृद्धि 

कैंपर चालक मौके से फरार:
कैंपर चालक मौका पाकर अपने वाहन और सवारियों को छोड़कर मौके से फरार हो गया. हादसे में सवारियों को भी हल्की चोटें आई हैं. जिसमें, एक साल का बच्चा भी है.  मौके से जसवंतपुरा निवासी एक व्यक्ति की आईडी मिली है. शेष की आईडी जल चुकी है. तीनों शवों को छोटी खाटू अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है. मृतकों की शिनाख्त सीताराम नाई निवासी भडाणा, मनोज निवासी जसवंतपुरा और सुशील कुमार निवासी गाजियाबाद के रूप में हुई है. वहीं आज पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सुपुर्द किया जाएगा. 

कोरोना की चपेट में आए नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल, निजी स्टाफ की भी होगी जांच

नागौर: राजस्थान में कोरोना की चपेट में हर आम और ख़ास आता जा रहा है. अब राज्य सभा सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा के बाद नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल भी कोरोना का शिकार हो गए हैं. उन्होंने खुद इस बारे में पुष्टि करते हुए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जानकारी साझा की है. 

Rajasthan Political Crisis : राजस्थान को छोड़कर देशभर में राजभवन को घेरेगी कांग्रेस, बना राष्ट्रीय मुद्दा 

पत्नी कनिका की रिपोर्ट नेगेटिव:  
खुद के कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी देते हुए राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने लिखा, 'कोविड-19 के लक्षण महसूस होने के कारण नागौर में टेस्ट के बाद मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है तथा मेरी पत्नी कनिका की रिपोर्ट नेगेटिव आई है. मेरी अपील है कि पिछले 10 दिनों में जो मेरे संपर्क में आए हैं वह अपना कोरोनावायरस का टेस्ट करा लें तथा मेरे निकट वाले लोग क्वारेटाइन में चले जाएं. मेरा आग्रह है कि पिछले 10 दिनों में मेरे संपर्क में जो भी आया है वो अपनी सेहत का ख्याल रखें. 

निजी स्टाफ की कोरोना जांच होगी: 
आज चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा निजी स्टाफ की कोरोना जांच होगी. सांसद हनुमान बेनिवाल खुद के कोरोना संक्रमित होने का खुलासा करते हुए पिछले दस दिन में उनके संपर्क में आये लोगों को अपना ख्याल रखने की हिदायत भी दी है. ऐसे में साफ़ है कि बीते 10 दिनों के दौरान संपर्क में आये कई नेताओं और सैंकड़ों लोग संक्रमण के दायरे में आने की संभावना है. जानकारी के अनुसार अब चिकित्सा विभाग और जिला प्रशासन भी सांसद हनुमान बेनिवाल के बयानों के आधार पर उन लोगों तक पहुंचने की कवायद में है जो पिछले कुछ दिनों से उनके संपर्क में आये हैं. ऐसे सभी नेताओं और आमजन की भी अब कोरोना जांच होना संभावित है.

फतेहगढ़ एसडीएम की सड़क दुर्घटना मौत, पत्नी व कार का चालक घायल 

बेनिवाल पिछले कुछ दिनों में कई नेताओं से मिले:
जानकारी के अनुसार सांसद बेनिवाल पिछले कुछ दिनों में कई नेताओं से मिले हैं. जानकारी ये भी सामने आई है कि पिछले 10 दिन के भीतर उन्होंने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ सतीश पूनिया, सांसद डॉ किरोड़ी लाल मीणा और उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ सहित अन्य कई वरिष्ठ नेताओं से मुलाक़ात की है. कोरोना को लेकर दिन प्रतिदिन स्थितियां भयावह होती जा रही है. नए कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या ने चिकित्सा महकमे की नींद उड़ा रखी है. चार दिन से लगातर कोरोना पॉजिटिव मरीज का आंकडा 1317 पार हो चुका है. 

कलयुगी पति की शर्मनाक करतूत, पत्नी की लोहे की रॉड से पीट-पीट कर की हत्या

कलयुगी पति की शर्मनाक करतूत, पत्नी की लोहे की रॉड से पीट-पीट कर की हत्या

नागौर: प्रदेश के नागौर जिले के सदर थाना क्षेत्र से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है. सदर थाना क्षेत्र के गांव बसवानी में गृह कलेश के चलते मांगू सिंह ने सोते समय अपनी पत्नी सीता कंवर की लोहे की रॉड मार कर निर्ममता पूर्वक हत्या कर दी. इस जघन्य अपराध की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मांगू सिह सदर थाने जा पहुंचा और सदर थाना पुलिस को पूरी वारदात की कहानी बताने पर पुलिस चौक गई और तुरंत घटनास्थल पर आरोपी के साथ मौका तस्दीक कराई गई.

कोटा में महिला पर कोरोना का डबल अटैक, स्वस्थ होने के ढाई महीने बाद फिर आई कोरोना पॉजिटिव

आरोपी मांगू सिंह गिरफ्तार:
वारदात की सूचना मिलने पर नागौर वृत्ताधिकारी मुकूल शर्मा और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश मीणा घटनास्थल पर मौके पर पहुंचे. सदर थाना पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेते हुए जवाहरलाल नेहरू अस्पताल की मोर्चरी में शव को रखवाया गया. जहां पर मेडिकल बोर्ड द्वारा पोस्टमार्टम करने के बाद शव परिजनों को सुपुर्द किया गया. सदर थाना अधिकारी नंदकिशोर वर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि गृह क्लेश की वजह से पति ने की पत्नी हत्या कर दी आरोपी मांगू सिंह को गिरफ्तार कर लिया है.

गृह क्लेश की वजह से की हत्या:
जानकारी के मुताबिक आरोपी मांगू सिंह घटना के दिल अपने पैतृक गांव नागडी गया था ​रात्रि में वापस लौटते समय अपने साथ लोहे की रॉड लेकर लौटा घर में सो रही पत्नी पर लोहे की रॉड से ताबड़तोड़ वार करने से उसकी मौत हो गईत्र. घटनास्थल से फरार होते हुए सदर थाने पहुंच गया था. थाना अधिकारी नन्द किशोर वर्मा ने बताया कि प्रथम दृष्टया प्राथमिक जांच में वारदात की मूल वजह पति पत्नी के बीच गृह क्लेश बताया जा रहा है. जो काफी समय से चल रहा था.आरोपी घर जवाई बनकर बसवाणी में रहता था. 

विधायक खरीद-फरोख्त और ऑडियो टेप प्रकरण में SIT का गठन, CID सीबी के SP विकास शर्मा के नेतृत्व में होगा अनुसंधान 

नागौर के लाडनूं में हुई 2 ट्रकों में भीषण भिड़ंत, 4 व्यक्ति जिंदा जले

नागौर के लाडनूं में हुई 2 ट्रकों में भीषण भिड़ंत, 4 व्यक्ति जिंदा जले

लाडनूं(नागौर): लाडनूं तहसील के ग्राम बाकलिया गांव के पास दो ट्रकों में भिड़न्त हो गई. भिड़ंत इतनी तेज थी कि दोनों ट्रकों में भीषण आग लग जाने पर दोनों ट्रकों में सवार पांच व्यक्तियों में से चार जिंदा जल गए. वहीं एक अन्य घायल का प्राथमिक उपचार कर हाई सेंटर रैफर कर दिया गया. जानकारी के मुताबिक अलसुबह ड्रम से भरा ट्रक लाडनूं की ओर से डीडवाना की तरफ, वहीं डीडवाना की ओर से गेंहू से भरा ट्रक लाडनूं की तरफ आ रहा था. इस दौरान बाकलिया गांव के पास दोनों ट्रकों में भीषण भिड़ंत हो गई. 

मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बी​जेपी पर लगाए आरोप, कहा-बीजेपी षड्यंत्र करके हमारे साथियों को ले गई

धू धू कर जले ट्रक:
भिड़ंत इतनी तेज की थी कि दोनों ट्रकों में आग लग गई. इसके बाद आग की तेज तेज लपटे ​निकलने लगी. धुएं का गुबार देखकर ग्रामीण एकत्रित हो गए. ग्रामीणों ने हादसे की सूचना स्थानीय पुलिस थाने में दी. सूचना के बाद लाडनूं के थानाधिकारी मुकुट बिहारी मीणा मय जाप्ते और फायर बिग्रेड के साथ मौके पर पहुंचे. और आग पर काबू पाने का प्रयास किया गया तब 3 घण्टे के बाद आग पर काबू पा लिया गया. जब तक आग पर काबू पाया गया तब तक चार व्यक्ति दोनों ट्रकों में जिंदा जलकर खाक हो गए. 

झुलसे एक व्यक्ति को कराया अस्पताल में भर्ती:
वहीं एक अन्य घायल हो गया. घायल को निजी वाहन की सहायता से लाडनूं के सरकारी अस्पताल लाया गया. जहां घायल का प्राथमिक उपचार कर हाई सेंटर रैफर कर दिया गया. वहीं अन्य 4 मृतकों के शवों को लाडनूं के सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया. ASP संजय गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतकों की शिनाख्त नहीं हुई है. इस दौरान मौके पर ASP संजय गुप्ता,डिप्टी गणेशराम चौधरी,थानाधिकारी मुकुट बिहारी मीणा,जसवंतगढ़ पुलिस सहित भारी संख्या में पुलिस जाप्ता तैनात रहा.

CBSE Board 10th Results : 10वीं का रिजल्ट जारी, cbseresults.nic.in पर करें चेक

अनूठी पहल...! शादी में शामिल हुए मेहमानों को भेंट किए पौधे, देखभाल की दिलाई शपथ

अनूठी पहल...! शादी में शामिल हुए मेहमानों को भेंट किए पौधे, देखभाल की दिलाई शपथ

डीडवाना: अक्सर देखने में आता है कि शादियों में दहेज में लोग कार, मोटरसाइकिल और ग्रामीण क्षेत्रों में तो ट्रेक्टर तक अपनी बेटी को देते है, लेकिन डीडवाना के एक  शिक्षक शकील अहमद उस्मानी ने शनिवार को अपनी बेटी ज़ेबा अख्तर की शादी में दूल्हे सहित सभी बारातियों और शामिल हुए हर शख्स को वधु पक्ष की और से विदाई के समय पौधे भेंट कर एक मिसाल कायम की. यहीं नहीं जिनको भी पौधे दिए गए उनको सामूहिक रूप से पौधों की देखरेख की जिम्मेदारी लेंने की शपथ भी दिलाई गई.

बारातियों को भेंट किए मास्क:
कोरोना के तहत अनलॉक2 के नियमों की पालना के बीच हुई यह शादी क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गई है. इससे पहले बारात के आने पर बारातियों का स्वागत उन्हें मास्क और सेनेटाइजर देकर किया गया. दरअसल डीडवाना उपखण्ड के सिंघाना के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में व्याख्याता के पद पर कार्यरत शकील अहमद उस्मानी की बेटी ज़ेबा अख्तर की शादी डीडवाना के मोहल्ला सैयदान निवासी सैयद तौसीफ अली के पुत्र सैयद मुस्तफा अली से हुई. उस्मानी की दिली तमन्ना थी कि वे कोरोना काल में हो रही अपनी बेटी की शादी के जरिये कुछ सन्देश आमजन को दे, साथ ही पर्यावरण संरक्षण का संदेश भी वे लोगों तक पहुंचाए. 

कोरोना पिछले 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य एवं आर्थिक संकट- RBI गवर्नर

गाइडलाइन के मुताबिक हुई शादी:
इसलिए उन्होंने अनलॉक2 के नियमों के तहत शादी में शामिल हुए सभी 45 लोगों को पौधे वितरित करवाने का फैसला लिया. जिससे कि हर व्यक्ति घर में एक पौधा लगाए और हमारा पर्यावरण सुरक्षित रहे. पौधे वितरित करने के साथ ,मौजूद लोगों को इन पौधों के सार सम्भाल की शपथ भी दिलाई गई. गौरतलब है कि पर्यावरण प्रेमी शिक्षक शकील अहमद उस्मानी पर्यावरण संरक्षण के क्षेत्र और अन्य सामाजिक सेवा कार्य कि अपनी रुचि के चलते नागौर जिला मुख्यालय सहित कई सामाजिक संस्थाओं द्वारा भी सम्मानित हो चुके है. 

पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाए:
शकील अहमद उस्मानी ने बताया कि लोग ग्लोबल वाॅर्मिंग के इस दौर में पर्यावरण को हुए नुकसान से अब शायद की कोई अपरिचित हो. भीषण गर्मी और ठंड के साथ बेमौसम बरसात इसका उदाहरण है। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना भी कहीं ना कहीं  हमारी पर्यावरण संरक्षण के प्रति लापरवाही का ही नतीजा माना जा सकता है ऐसे में आज जरूरत इस बात की है कि अभी पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाए और शादी में लोगों को पौधे देने का मकसद भी उन्हें इसके लिए प्रेरित करना है. दूल्हे ने भी लिया प्रण दूल्हे सैयद मुस्तफा अली ने कहा कि उनकी शादी में वधू पक्ष की ओर से की गई इस पहल से बहुत खुश हैं. उन्होंने कहा कि जो पौधे उन्हें और परिजनों को दिए गए है वे उनकी देखभाल अच्छी तरह से करेंगे. 

Corona Impact: दिल्ली की सभी यूनिवर्सिटी में परीक्षाएं रद्द, पिछले नतीजों के आधार पर होगा प्रमोशन

विवाहिता की हत्या का मामला दर्ज, आरोपी गिरफ्तार

विवाहिता की हत्या का मामला दर्ज, आरोपी गिरफ्तार

डेगाना: नागौर जिले के डेगाना के अन्तरोली कला में शुक्रवार को हुए विवाहिता की मौत के मामले में पुलिस ने सीआई रूपाराम चौधरी के नेतृत्व में जांच शुरू कर दी है. सीआई रूपाराम चौधरी ने बताया की अन्तरोली कलां के निवासी राजेंद्र सिंह एक विवाहिता के मौत की सूचना दी. जिस पर पुलिस ने तुरंत कार्यवाही करते हुए डेगाना पुलिस उपाधीक्षक नमिता खोखर के निर्देश में कार्यवाही शुरू की.

जयपुर एयरपोर्ट पर टिड्डी दल का आतंक,  लैंड होती एक फ्लाइट को वापस कराना पड़ा टेक ऑफ

आरोपी गिरफ्तार:
मामले में राजेंद्र सिंह निवासी अन्तरोली कलां ने शिवनाथ निवासी अन्तरोली कलां पर मृतका के साथ मारपीट कर हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है और कार्यवाही जारी है. मृतका का डेगाना में हिन्दू रीती रिवाज से अंतिम संस्कार कर दिया गया है. आपको बता दे मामले में आरोपी शिवनाथ को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है और जाँच पड़ताल और पूछताछ की जा रही है.

जलदाय अधिकारियों के भ्रष्टाचार के कारनामे, बिना काम किए ही ठेकेदारों को दिया जा रहा पेमेंट

बिजली चोरों पर टूटा डिस्कॉम कार्रवाई का कहर, पकड़े गए चोरी के 475 केस

बिजली चोरों पर टूटा डिस्कॉम कार्रवाई का कहर, पकड़े गए चोरी के 475 केस

नागौर: लगातार घाटे और बिजली छीजत से परेशान डिस्कॉम ने नागौर सर्किल में विद्युत चोरी पकड़ने के लिए अभियान की शुरुआत कर सख़्ती से पेश आ रही है.कोरोना की वजह से लॉकडाउन और राजनीतिक सरगर्मियों के बीच बिजली चोर बेखौफ हो गए हैं.इस दौरान अजमेर डिस्कॉम की नागौर वृत की 41 टीमों ने 1061 जगह पर जांच की, उनमें से 475  जगहों पर बिजली चोरी होती मिली है.

41 टीमों ने जिलेभर में कार्रवाई की:
डिस्कॉम के अधीक्षण अभियंता नागौर आर बीसिंह के मुताबिक अजमेर डिस्कॉम के एमडी के निर्देश पर नागौर वृत मे सर्तकता टीमों ने कई स्थानो पर बडी कारवाई करते हुए टीमों द्वारा 1061 जगहों पर विधुत जांच की गई, जिसमें से 475 स्थानों पर विद्युत चोरी पकड़ी गई और एक करोड़ 16 लाख 52 हजार का विद्युत चोरों पर जुर्माना भी लगाया गया है खींवसर नंदवानी पांचला सिद्धा रुण सहित अन्य इलाकों में 12 अवैध ट्रांसफार्मर को भी जब्त किया गया है. इस कार्यवाही मे अधीक्षण अभियंता आर बी सिंह स्वयं मैदान में उतरे और सहायक अभियंता एव कनिष्ठ अभियंता की 41 टीमों ने जिले भर में कार्रवाई की गई है.

अनलॉक 2.0 में हवाई सेवा बढ़ाने की कवायद, 7 नए शहरों को जोड़ेंगी एयरलाइन

बिजली चोरों पर लगाम:
पूर्व में 43 अवैध ट्रांसफार्मर को जब्त किया जा चुका है. करीब 4 करोड का जुर्माना लगा चुके है नागौर अधीक्षण अभियंता आर बी सिंह ने बताया कि विभाग ने अब तक 4 करोड़  रुपये का जुर्माना लगाया जा चुका  है, जिसमें से  कई लोगों के खिलाफ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज करवाई गई है. आपको बता दे कि नागौर जिले के जिम्मेदार अधिकारी की लंबे समय से विद्युत कनेक्शन एवं अन्य कार्य में व्यस्तता के चलते विद्युत चोरी को लेकर सुस्त हो गए थे. लॉकडाउन के बाद विद्युत कनेक्शन अन्य कार्य में भी कमी आ गई. साथ ही विद्युत लोड बढ़ने के चलते आपूर्ति में व्यवधान होने की शिकायत होने लगी तो जिम्मेदार अधिकारियों और कार्मिकों ने चोरी पकड़ने के लिए अभियान शुरू किया है. अब विद्युत विभाग नागौर विद्युत चोरों पर भी लगाम कसने में कामयाब होते नजर आ रहे हैं. 

जलदाय अधिकारियों के भ्रष्टाचार के कारनामे, बिना काम किए ही ठेकेदारों को दिया जा रहा पेमेंट

नागौर के डेगाना में विवाहिता की हत्या, ट्रैक्टर के पीछे बांधकर घसीटने से हुई मौत 

नागौर के डेगाना में विवाहिता की हत्या, ट्रैक्टर के पीछे बांधकर घसीटने से हुई मौत 

जयपुर: राजस्थान के नागौर जिले के डेगाना में इंसानियत को शर्मसार करने का मामला सामने आया है. यहां पर एक विवाहिता को ट्रैक्टर के पीछे बांधकर घसीटा गया है. जिससे विवाहिता की मौत हो गई. मामला डेगाना के ग्राम अंतरोली कलां के चिकनास का है. 

रियल एस्टेट में हाउसिंग बोर्ड का दबदबा! प्रतापनगर में आयुष मार्केट की होगी ई-ऑक्शन

पुलिस जुटी मामले की जांच में:
जहां पर विवाहिता की हत्या की गई है. घटना की सूचना मिलने पर SP नमिता खोखर सहित CI रूपराम चौधरी मौके पर पहुंचे. पुलिस ने विवाहिता के पति शिवनाथ को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में जोधपुर में 1 मौत, 364 नए केस, सर्वाधिक 60 केस अकेले जयपुर में आए सामने

Open Covid-19