Live News »

सावन के दूसरे सोमवार को हुई शिव मंदिरों में पूजा अर्चना, भोले शंकर का हुआ अभिषेक

सावन के दूसरे सोमवार को हुई शिव मंदिरों में पूजा अर्चना, भोले शंकर का हुआ अभिषेक

जोधपुर: आज सावन का दूसरा सोमवार है और शहर के मंदिरों में भगवान शिव की पूजा अर्चना का सिलसिला चल रहा है. हालांकि कोरोना के संक्रमण के चलते राज्य सरकार और केंद्र सरकार की ओर से मंदिर खोलने की अनुमति नहीं दी गई है, लेकिन कुछ मंदिरों में गिने चुने भक्त पहुंच रहे हैं. 

Rajasthan Political Crisis: गहलोत ने मीडिया के सामने किया शक्ति प्रदर्शन, 100 से ज्यादा MLA जुटाकर दिखाया विक्ट्री साइन

शिव आराधना का सिलसिला जारी:
भक्तों ने बाबा भोले नाथ का दूध, दही, शहद, शक्कर और घी के पंचामृत से अभिषेक कर रहे हैं. वहीं कई मंदिरों में महिलाएं ओर युवतियां भी पहुंची और उन्होंने भगवान शिव की पूजा अर्चना कर मन्नत मांगी. मंदिर के पुजारियों ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देश की पालना करते हुए शिव आराधना का सिलसिला जारी है.

Rajasthan Political Crisis: PCC से हटाए गए सचिन पायलट के पोस्टर, सीएम आवास पहुंचे 100 से अधिक विधायक

कोरोना खत्म करने की प्रार्थना की: 
उन्होंने कहा कि भगवान शिव का अभिषेक कर हमने देश से जल्द कोरोना की बीमारी समाप्त होने की प्रार्थना की है, साथ ही यहां आने वाले भक्तों को भी कोरोना के संक्रमण से बचाव के लिए दिए गए निर्देशों की पालना करवाते हुए पूजा-अर्चना करवाई जा रही है.

और पढ़ें

Most Related Stories

राम मंदिर को लेकर बोले सीएम गहलोत, कहा- यह मौका प्रधानमंत्री के लिए साहस दिखाने का...

राम मंदिर को लेकर बोले सीएम गहलोत, कहा- यह मौका प्रधानमंत्री के लिए साहस दिखाने का...

जयपुर: कल यानि पांच अगस्त को अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी आधारशिला रखेंगे. इसको लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि 5 अगस्त को होने वाला राम मंदिर शिलान्यास प्रधानमंत्री के लिये साहस दिखाने तथा लोगों को यह संकल्प लेने के लिये कहने का एक अवसर है कि मानवता पर लगे छुआछूत के कलंक को मिटायें तथा दलितों, आदिवासियों और पिछड़ों के साथ समानता का व्यवहार करें. ऐसा करके हम मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के आदर्शों को पूरा कर सकते हैं और उनकी भावना पर खरे उतर सकते हैं. 

कलराज मिश्र ने दी पीएम को बधाई:
राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने पीएम मोदी को विशेष रूप से बधाई दी है. उनका कहना है कि राम जन्मभूमि पर राम मंदिर बनाने का सपना साकार हो रहा है और प्रतिबद्धता पूरी हो रही है. 

Rajasthan Political Crisis: विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी जनहित याचिका खारिज 

भूमिपूजन सोमवार से शुरू हो चुका: 
बता दें कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन सोमवार से शुरू हो चुका है. 21 वैदिक आचार्यों ने सोमवार सुबह 9 बजे यजमान महेश भरतचक्रा को संकल्प दिलाते हुए पूजन किया. आज रामार्चा पूजा हो रही है, जिसे डॉ.रामानंद दास करा रहे हैं. पीएम मोदी के भूमिपूजन के दिन अयोध्या, मथुरा, काशी, दिल्ली के आचार्य पूजन कराएंगे.

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात 

अयोध्या में मेहमानों का आना शुरू: 
बाबा रामदेव, स्वामी अवधेशानंद, चिदानंद मुनि, सुधीर दहिया, राजू स्वामी एक हेलीकॉप्टर से अयोध्या एयरपोर्ट पहुंचे. ब्रह्मानंद स्वामी, सुरेश पटेल व रितेश डांडिया दूसरे हेलीकॉप्टर से अयोध्या एयरपोर्ट पहुंचे. कल राम मंदिर भूमि पूजन में होंगे शामिल. 


 

Horoscope Today, 3 August 2020: बहनें राशि के अनुसार बांधें भाई के राखी, रहेगा बेहद खास

Horoscope Today, 3 August 2020: बहनें राशि के अनुसार बांधें भाई के राखी,  रहेगा बेहद खास

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं. 

Raksha Bandhan 2020: चौघड़िए अनुसार जानिए राखी बंधने का शुभ मुहूर्त, रहेगा परम कल्याणकारी 

मेष(Aries): मेष राशि वाली बहनें, भाई को कुमकुम का तिलक लगाएं और लाल रंग की डोरी वाली राखी बांधें. भाई को मालपुए खिलाएं. इससे पूरे साल भाई का स्वास्थ्य बेहतर बना रहेगा. मेष राशि वाले भाई अपनी बहन को लाल रंग का मोबाइल या पर्स उपहार स्वरूप दे. एक-दूसरे के प्रति गहरा लगाव बना रहेगा. 

वृष(Taurus): अगर आपकी राशि वृष है तो भाई को राखी बांधते वक्त उनके सिर पर सफेद रंग का रूमाल या तौलिया रखें और फिर चांदी या सिल्वर रंग की राखी बांधें.  भाई को दूध से निर्मित मिठाई खिलाएं. वहीं इस राशि वाले भाई अपनी बहन को ऑफवाइट प्रिंटेड साडी, मेकअप बॉक्स उपहार में दे सकते हैं. 

मिथुन(Gemini): मिथुन राशि वाली बहनें, राखी बांधते वक्त हरे वस्त्र से भाई का सिर ढकें. हरे धागे या हरे रंग की राखी बांधे. भाई को बेसन से निर्मित मिठाई खिलाएं. भाई अपनी बहन को हरे रंग की लाख की चूडि़यां उपहार मे अपनी बहना को भेंट कर सकते हैं. 

कर्क(Cancer): बहन की राशि कर्क हो तो भाई को सफेद या क्रीम रंग के धागों से बनी मोतियों वाली राखी बांधें. इससे भाई का मन हमेशा शांत रहेगा. भाई को रबड़ी खिलाएं. भाई सफेद व क्रीम रंग की साड़ी, टाउजर, परफयूम एंव मोती का माला अपनी बहन को गिप्ट कर सकते हैं. 

सिंह(Leo): सिंह राशी वाली बहनें, भाई की कलाई पर स्वर्ण, पीली या नारंगी रंग की राखी बांधें और माथे पर सिन्दूर या केसर का तिलक लगाएं. इससे आपके भाई का भाग्यवर्धन होगा. भाई को रस वाली मिठाई खिलाएं. भाई पीले व नारंगी कपड़े, हाथ घड़ी, सोने की अंगूठी अपनी बहन को उपहार में दे सकते हैं. 

कन्या(Virgo): अगर बहन की राशि कन्या है तो भाई को हरे रंग की राखी और चांदी या सफेद रंग का धागा बांधें. इससे भाई के जीवन की रक्षा होगी. भाई को मोतीचूर के लड्डू खिलाएं. भाई पन्ने की अंगूठी, हरे वस्त्र अपनी बहन को गिप्ट कर सकते हैं. 

तुला(Libra): तुला राशी की बहनें हल्का नीला या क्रीम रंग की राखी भाई को बांधें और राखी बांधते समय इन्हीं रंगों के रूमाल से भाई का सिर ढंकें. भाई को हलवा या घर में निर्मित मिठाई खिलाएं. भाई नीली व सफेद रंग की साड़ी, जींस, टाउजर, टॉप, हिल स्टेशन का टिकट अपनी बहन को गिप्ट में दे सकते हैं. 

वृश्चिक(Scorpio): अगर आपकी राशि वृश्चिक है तो आप अपने भाई को लाल या गुलाबी रंग की चमकीली राखी या रक्षासूत्र बांधें. साथ ही भाई को लाल रंग की मिठाई भी खिलाएं. भाई को गुड़ से बनी मिठाई खिलाएं. भाई गुलाबी रंग के वस्त्र, टैबलट अपनी बहना को उपहार में दे सकते हैं. 

धनु(Sagittarius): अगर बहन की राशि धनु है तो उनके लिए अपने भाई को पीताम्बरी या पीले रंग की रेशमी धागों से बनी राखी बांधना शुभ रहेगा. इससे भाई के अध्ययन और व्यवसाय में तरक्की होगी. भाई को बालूशाही खिलाएं. भाई पीले व केसरिया रंग के कपड़े एंव कम्प्यूटर अपनी बहन को गिप्ट दे सकते हैं. 

मकर(Capricorn): अपने भाई को बुरी नजर से बचाने के लिए मकर राशि वाली बहनें भाई को नीले रंग की मोतियों वाली राखी बांधें. साथ ही ग्रे या नेवी ब्लू रूमाल से उनका सिर ढकें. भाई को रसगुल्ले खिलाएं. भाई काले रंग का पर्स, बैग, अटैची अपनी बहन को उपहार में दें. 

कुंभ(Aquarius): यदि आपकी राशि कुंभ है तो बेहतर होगा आप अपने भाई को आसमानी या नीले रंग की डोरी से बनी राखी बांधें. इससे भाई का भाग्य चमकेगा. भाई को कलाकंद खिलाएं. भाई लडडू गोपाल जी की मूर्ति अपनी बहन को गिप्ट में दे सकते हैं. 

मीन(Pisces): मीन राशि वाली बहनें, अपने भाई को लाल, पीले या संतरी रंग की राखी बांधें और हल्दी का तिलक लगाएं. इससे भाई के जीवन में शुभता आएगी. भाई को मिल्ककेक खिलाएं. भाई सोने की अॅगूठी, पैरों के अभूषण जैसे- पायल, बिछुआ आदि वस्तुयें अपनी बहन को उपहार में दे सकते हैं. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

Raksha Bandhan 2020: चौघड़िए अनुसार जानिए राखी बंधने का शुभ मुहूर्त, रहेगा परम कल्याणकारी

Raksha Bandhan 2020: चौघड़िए अनुसार जानिए राखी बंधने का शुभ मुहूर्त, रहेगा परम कल्याणकारी

जयपुर: आज रक्षा बंधन का त्योहार है. हिंदू पंचांग के अनुसार सावन महीने के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा पर यह पर्व मनाया जाता है. इस बार  रक्षाबंधन पर सर्वार्थ सिद्धि योग नाम का बहुत ही शुभ योग है. ज्योतिष के मुताबिक इस योग में अगर कोई भी शुभ कार्य किया जाता है कार्य बहुत ही जल्द सिद्धि हो जाता है. इसके साथ ही आज सावन महीने का अंतिम सोमवार भी है और सावन महीने आज खत्म हो जाएगा. 

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त-
राखी बांधने का शुभ मुहूर्त प्रातः 9-29 मिनट से रात्रि 9-29 मिनट तक रहेगा. 

चौघड़िए अनुसार राखी बंधने का शुभ मुहूर्त इस प्रकार है -

प्रातः 9-29 मिनट से  पूर्वाह्न 10-54 मिनट तक शुभ के चौघड़िया मुहूर्त में राखी बंधवाना शुभ रहेगा. 

दोपहर 2-12 मिनट से सायं 7-10 मिनट तक चर, लाभ ,अमृत के चौघड़िया मुहूर्त में भी राखी बंधवाना शुभ रहेगा. 

अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12-06  बजे से दोपहर 12-59 मिनट में भी राखी बंधवाना शुभ रहेगा. 

राहुकाल समय  प्रातः 7.30 से 9 बजे तक में अपने भाइयों को राखी बांधने से बचे. 

आप इस समय का लाभ उठाये और शुभ समय में रक्षाबंधन का त्यौहार मनाये. 

सौजन्य- राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

कोरोना की वजह से नहीं भरेगा विश्व प्रसिद्ध लोक देवता बाबा रामदेव का वार्षिक मेला

कोरोना की वजह से नहीं भरेगा विश्व प्रसिद्ध लोक देवता बाबा रामदेव का वार्षिक मेला

रामदेवरा: विश्व प्रसिद्ध बाबा रामदेव का वार्षिक मेला इस बार कोविड 19 के चलते नहीं लगेगा. इस बारे में एसडीएम अजय अमरावत ने जानकारी देकर स्पष्ट किया कि बाबा रामदेव का मेला इस बार नहीं लगेगा. रविवार को एसडीएम अजय अमरावत ने समाधि समिति कार्यालय में पदाधिकारीयो से भेंट कर इस बारे में अवगत करवाया. लोक देवता बाबा रामदेव का प्रतिवर्ष अगस्त-सितंबर में लगने वाला वार्षिक मेला इस बार रामदेवरा में नहीं लगेगा.

धार्मिक स्थलों को खोलने पर लगाई पाबंदी: 
इस बारे में एसडीएम अजय अमरावत ने रविवार को समाधि समिति कार्यालय पहुंच कर समाधि समिति के पदाधिकारियों के साथ चर्चा की और उन्हें इस बारे में अवगत करवाया. समाधि समिति कार्यालय में समाधि समिति के अध्यक्ष और गादीपति राव भोम सिंह तंवर,सरपंच समंदर सिंह तंवर,उपसरपंच खिवसिंह तंवर, आदि शामिल रहे. राज्य सरकार के 31 अगस्त तक सभी धार्मिक स्थलों को खोलने पर पाबंदी लगाई हुई हैं.

टोंक के उनियारा में गलवा बांध की मोरी में मिले 3 शव, एक ही परिवार के सदस्य बताए जा रहे तीनों मृतक 

कोरोना की वजह से लिया निर्णय:
वहीं इस बार बाबा रामदेव का मेला भी 20 अगस्त से 2 सितंबर तक आयोजित होना हैं. प्रतिवर्ष बाबा रामदेव के वार्षिक मेले में देश और प्रदेश से करीब 30 से 50 लाख श्रद्धालु समाधि के दर्शनों को आते हैं. इसी के चलते कोविड 19 की पालना में इस साल का वार्षिक बाबा रामदेव का मेला नहीं लग रहा है. सावन मास से ही श्रद्धालुओं का पैदल आगमन हो जाता है. लेकिन इस बार पैदल यात्री भी सड़कों पर बहुत कम नज़र आ रहे हैं.

बीकानेर में सेल्फी लेते वक्त पुलिया से नीचे गिरने पर युवक की मौत 

मेला नहीं लगने की आधिकारिक घोषणा:
स्थानीय व्यापार की सभी गतिविधियों पर पिछले 5 महीने से अवरोध लगा है. यात्रियों की आवक थमने से सभी रोजगार मन्दे पड़े हैं. वार्षिक मेले में श्रद्धालुओं के भारी आगमन से व्यापारियों को काफी अच्छी आय होती हैं. कई लोग पूरे साल की आय मेले में ही कमा लेते हैं. इस बार सभी मायूस हैं. रविवार को एसडीएम की ओर से मेला नहीं लगने की आधिकारिक घोषणा हो गई हैं.

...फर्स्ट इंडिया के लिए राजेन्द्र सोनी की रिपोर्ट

Horoscope Today, 2st August 2020: शुक्र ने किया मिथुन राशि में प्रवेश, जानिए किनके पास होगा गाड़ी, बंगला और पैसा

Horoscope Today, 2st August 2020: शुक्र ने किया मिथुन राशि में प्रवेश, जानिए किनके पास होगा गाड़ी, बंगला और पैसा

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं. 

जानिए शुक्र राशि परिवर्तन स्पेशल राशिफ़ल: 

मेष: शुक्र आपकी राशि से तृतीय भाव में संचरण करेगा। आपकी कार्य क्षमता एवं संकल्प शक्ति में वृद्धि होगी.धन लाभ के भी योग हैं. नई नौकरी मिलने पर आप अपनी वर्तमान जॉब को चेज़ कर सकते हैं. आपकी किस्मत का सितारा भी बुलंद रहेगा. नये रिश्तों का आगाज होगा.

उपायः  चंदन, चमेली या फिर गुलाब की खुशबू वाले इत्र का रोज इस्तेमाल करें.

वृषभ: शुक्र आपकी राशि से द्वितीय भाव में प्रवेश करेगा. उच्च लाभ संभव है. विभिन्न स्रोतों से आय की प्राप्ति होगी.परिवार में किसी शुभ कार्य के होने के योग बन रहे हैं.अविवाहित लोगो का विवाह भी संभव है. कोई शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है.  

उपायः तुलसी में प्रतिदिन घी का दीपक जलाये और मां लक्ष्मी की पूूजा करें.

मिथुन: शुक्र आपके प्रथम भाव में स्थित होगा. शुक्र का ये गोचर आपके व्यक्तित्व में विशेष निखार लाएगा  मनचाहे परिणाम मिलने की उम्मीद है.नये घर अथवा गाड़ी की खरीद का सपना पूरा हो सकता है.धन लाभ के शुभ संकेत हैं। अविवाहित जातकों का विवाह होने के संकेत हैं.

उपायः शुक्रवार को चीनी दान करें और ‘’ॐ शुं शुक्राय नमः’’ मंत्र का जाप करें.
 
कर्क:
शुक्र आपकी राशि से द्वादश भाव में जाएगा. विदेश संबंधों से आपको लाभ मिलने के योग हैं.आपके धन में वृद्धि संभव है. बिज़नेस और प्रोफ़ेशन लाइफ अच्छी रहेगी.कुल मिलाकर यह समय आपके लिये बेहतरीन कहा जा सकता है. आप जीवन का पूरा लुत्फ़ उठा सकते हैं.

उपायः शुक्रवार को छोटी कन्याओं की पूजा करें और उन्हें मिश्री का भोग लगाएँ और कुछ गिफ़्ट भी दे.

सिंह: शुक्र आपकी राशि से एकादश भाव में गोचर करेगा. आपके जीवन में समृद्धि आने की प्रबल संभावना है. इस अवधि में आप भौतिक सुख-सुविधाओं का पूरा आनंद ले सकेंगे.गत दिनों आपने जो कठिन परिश्रम किया है उसका लाभ भी आपको मिल सकता है.

उपायः किसी निर्धन स्त्री की धन देकर मदद करें तथा भगवान शिव का पंचामृत से अभिषेक करें.
 
कन्या: शुक्र आपकी राशि से दशम भाव में संचरण करेगा. व्यावसायिक रूप से यह समय आपके लिये शानदार कहा जा सकता है. कार्यस्थल पर आपके काम की सराहना भी हो सकती है. कुल मिलाकर देखा जाये तो यह आपके लिये शानदार दौर कहा जा सकता है.

उपायः शुक्रवार के दिन माँ पार्वती की आराधना करें.श्रृंगार सामग्री अर्पण करे. 

तुला: शुक्र आपकी राशि से नवम भाव में जाएगा.आपको भाग्य का पूरा साथ मिलने के आसार हैं. कामकाजी जीवन में  तरक्की,उन्नति,विकास करने का समय है. स्वास्थ्य ठीक रहेगा.कुल मिलाकर यह समय आपके लिये मौज-मस्ती करने का समय है.

उपायः  छोटी कन्याओं को लेखन सामग्री का दान करें तथा पत्नी को कोई गुलाबी वस्त्र उपहार दें.

वृश्चिक: शुक्र आपकी राशि से अष्टम भाव में प्रवेश करेगा. आर्थिक स्थिति मजबूत होगी. पद और प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी. सुख-सुविधाओं में इजाफा होगा. आपको अचानक उच्च लाभ की प्राप्ति के शुभ संकेत भी हैं. छोटी-मोटी स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती हैं.  

उपायः  शुक्रवार के दिन गाय को रोटी खिलाएं और गुलाब के इत्र का दान करें.

धनु: शुक्र आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेगा।प्रोफ़ेशनल सेक्टर में नेम फेम मिलेगा क्षेत्र में आपका कद ऊँचा होगा.व्यर्थ के वाद विवाद से बचे.अविवाहित जातकों को विवाह के प्रस्ताव मिल सकते हैं. दाम्पत्य जीवन से जुडी परेशानियां ख़त्म होगी.

उपायः  चांदी की पायल अपनी मां को शुक्रवार के दिन भेंट करें.

मकर: शुक्र ग्रह आपकी राशि से छठे भाव में संचरण करेगा. आने वाले समय सकारात्मक रहेगा.कोर्ट कचहरी शत्रु बाधा से मुक्ति मिलेगी.नई नौकरी पाने के अवसर मिल सकते हैं.  पार्टनर के साथ तालमेल बना कर चले. मेहनत और लगन का अच्छा परिणाम प्राप्त होगा.

उपायः शुक्रवार के दिन माता के मंदिर में इत्र और कमल का पुष्प अर्पण करे.

कुंभ: शुक्र आपकी राशि से पंचम भाव में प्रवेश करेगा. आर्थिक दृष्टि से गोचर आपके लिए अनुकूल संकेत दे रहा है. व्यापार में लाभ होगा,क़र्ज़ से मुक्ति मिलेगी. बीमारियों से मुक्ति मिलेगी.उच्च शिक्षा का सपना पूर्ण हो सकता है. नव विवाहित दम्पतियों को संतान प्राप्ति के योग बन रहे हैं.

उपायः रोजाना देवी मां का पूजन करें,कुंजिका स्तोत्र का पाठ करे.

मीन: शुक्र आपकी राशि से चतुर्थ भाव में गोचर करेगा. अलग अलग  क्षेत्रों में सकारात्मक परिणामों की प्राप्ति होगी. लाभप्राप्ति के योग बना रहा है.  जो जातक  व्यवसाय शुरु करना चाहते हैं उनके लिये परिस्थितियां अनुकूल रहने की उम्मीद कर सकते हैं. कुल मिलाकर इस समय आप एक शाही जीवन का आनंद ले सकते हैं.

उपायः शुक्रवार के दिन माँ दुर्गा को केसर युक्त खीर का भोग लगाएँ.

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री 

2 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त, आज के दिन जन्मे जातक होते हैं परोपकारी और गुणवान

 2 अगस्त 2020: पंचांग से जानें आज का शुभ-अशुभ मुहूर्त, आज के दिन जन्मे जातक होते हैं परोपकारी और गुणवान

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

शुभ मास-श्रावण मास शुक्ल पक्ष:
शुभ तिथि चतुर्दशी रिक्ता संज्ञक तिथि रात्रि 9 बजकर 29 मिनट तक तत्पश्चात पूर्णिमा तिथि रहेगी. चतुर्दशी तिथि को अग्नि विषादिक कार्य ,उग्र कार्य ,बंधन इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है.चतुर्दशी तिथि मे जन्मे जातक धर्मात्मा, धनवान, बुद्धिवान,भाग्यवान, पराक्रमी  होते है.

पूर्वाषाढ़ा उग्र -अधोमुख संज्ञक नक्षत्र प्रातः 6 बजकर 52 मिनट तक रहेगा.पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र मे बोरिंग,शिल्प ,विद्या आरम्भ ,वास्तु शांति इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है.पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक स्वतन्त्र विचारो वाला,कठोर मेहनत करने वाला, धनवान, बुद्धिमान होता है.

चन्द्रमा-दोपहर 12-57 तक धनु राशि में तत्पश्चात मकर राशि में संचार करेगा.

व्रतोत्सव -सर्वार्थसिद्धि योग सम्पूर्ण दिन रात्रि 

राहुकाल -सायंकाल 4.30 बजे से 6 बजे तक

दिशाशूल-रविवार को पश्चिम दिशा मे दिशाशूल रहता है । यात्रा को सफल बनाने लिए घर से घी-दलिया खा कर निकले.

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री 

पहली बार देश में घरों में हुई ईद की नमाज, जयपुर में कई परिवारों ने की एक साथ नमाज अदा

पहली बार देश में घरों में हुई ईद की नमाज, जयपुर में कई परिवारों ने की एक साथ नमाज अदा

जयपुर: राजधानी जयपुर सहित प्रदेशभर में आज ईदुलअजहां का त्यौहार मनाया जा रहा है. ईदुलफितर के बाद अब ईदुलअजहा की नमाज भी प्रदेशभर में ऐहतराम के साथ अदा जा रही है. कोरोना गाइडलाइन के अनुसार मस्जिदों और ईदगाहों में केवल 5 लोगों के साथ नमाजें अदा कि गयी है. ईद की नमाज में बच्चो से लेकर बुजूर्ग तक शामिल हुए. जयपुर की स्थापना के बाद ये दूसरी ईद है जिसमें गुलाबीशहर में ईद की सामुहिक नमाज नहीं हुई.

देशभर में मनाई जा रही बकरीद, ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर खोल गया जन्नती दरवाजा 

कोरोना से निजात के लिए खास दुआ भी की गयी:  
दिल्ली रोड़ स्थित ईदगाह में और जौहरी बाजार स्थित जामा मस्जिद में मौलना मुफती अमजद अली ने ईद की नमाज अदा करायी. दोनों ही जगहो पर प्रशासन की ओर से केवल 5—5 नमाजियों को नमाज की अनुमति दी गयी थी. प्रशासन की गुजारिश पर ईदगाह में सुबह 6 बजे तो वहीं जामा मस्जिद में सुबह सवा 6 बजे नमाज अदा करायी गयी. नमाज के बाद मुल्क और मुल्म की अवाम को कोरोना से निजात के लिए खास दुआ भी की गयी. वहीं नमाज के नमाजियों ने मौके पर मौजुद पुलिसकर्मियो को ईद की मुबारकबाद देते हुए उनके जज्बे लिए सलाम किया. 

Coronavirus in India: भारत में कोरोना ने तोड़े अबतक के सारे रिकॉर्ड, एक दिन में आए 57 हजार से ज्यादा नए मामले 

देशभर में मनाई जा रही बकरीद, ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर खोल गया जन्नती दरवाजा

देशभर में मनाई जा रही बकरीद, ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर खोल गया जन्नती दरवाजा

अजमेर: मुस्लिम धर्म का एक बड़ा त्योहार ईद का पर्व आज मनाया जा रहा है. कोरोना महामारी के चलते सरकार ने किसी भी ईदगाह, या मस्जिद को खोलने की इजाजत नहीं दी है साथ ही कही पर भी सामूहिक नमाज अदा नहीं की जाएगी. अजमेर में स्तिथ ख्वाजा गरीब नवाज की दरगाह पर आज जन्नती दरवाजा खोला गया. यह दरवाजा जायरीनों ओर अकीदतमंदों के लिए साल में 4 बार खोला जाता है जिसमे से 2 बार ईद पर खोला जाता है, एक बार ख्वाजा साहब के उर्स पर ओर एक बार मिनी उर्स पर.

Horoscope Today, 1st August 2020: बुध का कर्क राशि में प्रवेश, इन राशियों को करेगा मालामाल 

जायरीन इस बार अपनी इबादत जन्नती दरवाजे पर नहीं कर पाएंगे: 
दरगाह बन्द होने के कारण जायरीन इस बार अपनी इबादत जन्नती दरवाजे पर नहीं कर पाएंगे. वहीं मुस्लिम समाज के बड़े धर्मगुरुओं के द्वारा सभी से आग्रह किया गया था कि वह घरों में ही रह कर इस पर्व को मनाए और आपस मे खुशियां बांटे, और कोरोना के नियमों का भी खास ख्याल रखें. 

Open Covid-19