14 जून से मजदूरों, रेहड़ी-ठेला वालों के लिए कैंपेन चलाएगी Yogi Government, Pink Booth पर सिर्फ महिलाओं को लगेगी Vaccine

14 जून से मजदूरों, रेहड़ी-ठेला वालों के लिए कैंपेन चलाएगी Yogi Government, Pink Booth पर सिर्फ महिलाओं को लगेगी Vaccine

14 जून से मजदूरों, रेहड़ी-ठेला वालों के लिए कैंपेन चलाएगी Yogi Government, Pink Booth पर सिर्फ महिलाओं को लगेगी Vaccine

लखनऊ: वैक्सीनेशन (Vaccination) को लेकर चल रही चर्चाओं के बीच उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditya Nath) ने मोर्चा खुद संभाल लिया है. सरकार लगातार अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगवाने से लेकर वैक्सीनेशन अभियान को गति देने पर सरकार जोर दे रही है. 

महिलाओं के लिए पिंक बूथ की व्यवस्था:
अब तक तो बच्चे और बड़ों के वैक्सीनेशन के लिए बूथ बनाए गए और फिर महिलाओं के लिए पिंक बूथ (Pink Booth) की व्यवस्था की गई. लेकिन अब 14 जून से सरकार रेहड़ी-ठेला वालों और दिहाड़ी मजूदरों के लिए भी वैक्सीनेशन अभियान चलाएगी, जिसमें अलग-अलग केंद्रों पर उन्हें वैक्सीन लगेगी.

ऑटो, टेंपो चालकों को आरटीओ में मिलेगी वैक्सीन:
UP सरकार इस वक्त वैक्सीनेशन को गति प्रदान करने पर जोर दे रही है, जिसके लिए विभिन्न आयु वर्ग वालों के लिए तथा महिलाओं के लिए विशेष सेंटर बनाए गए है. इसी क्रम में अब UP की योगी सरकार ने दिहाड़ी पर काम करने वाले लोग जैसे की ऑटो, टेंपो, चालक व फल और सब्जी (Fruit and Vegetable Vendors) विक्रेताओं के लिए भी केंद्रों की व्यवस्था की है. इन केंद्रों पर 14 जून से वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा. बता दें, ड्राइवरों (Driver) के लिए RTO कार्यालय (RTO Office) और फेरी फल-सब्जी वालों के लिए नगर निगम (Nagar Nigam), पालिका (Nagar Palika) और परिषद के दफ्तरों में बूथ बनाया जाएगा.

महिलाओं के लिए बना पिंक बूथ:
सरकार का लक्ष्य है कि वह इस महीने एक करोड़ वैक्सीन लगाएगी और अपने इस अभियान को लगातार गति देने का प्रयास कर रही है. महिलाओं को वैक्सीन लगाने के लिए पिंक बूथ बनाए गए हैं. 

इसी तरह से अलग-अलग आयु वर्ग के लोगों के लिए बड़ी संख्या में बूथ बनाए गए हैं. सरकार के मुताबिक, वैक्सीनेशन के काम में यूपी ने गैर भाजपा शासित राज्यों को जैसे की पंजाब, छत्तीसगढ़, राजस्थान और महाराष्ट्र को काफी पीछे छोड़ दिया है.

 

और पढ़ें