कोरोना में योगी सरकार ने दी बड़ी राहत: सत्र 2021-22 में राज्य के विद्यालयों में नहीं बढ़ेगी फीस, शिक्षा मंत्री ने दिए निर्देश

कोरोना में योगी सरकार ने दी बड़ी राहत: सत्र 2021-22 में राज्य के विद्यालयों में नहीं बढ़ेगी फीस, शिक्षा मंत्री ने दिए निर्देश

कोरोना में योगी सरकार ने दी बड़ी राहत: सत्र 2021-22 में राज्य के विद्यालयों में नहीं बढ़ेगी फीस, शिक्षा मंत्री ने दिए निर्देश

लखनऊ: देश इस समय भयंकर संकट (Fierce Problem) से गुजर रहा है. ऐसे में कोरोना के साथ-साथ अब ब्लैक फंगस (Black Fungus) भी अपना कहर बरपा (Wreak Havoc) रहा है. केंद्र और राज्य सरकारें आमजन के हित के लिए हरसंभव प्रयास (Every Effort) कर रहीं है. ऐसे में UP की योगी सरकार भी नित नए राहत भरे फैसले (Relief Decisions) ले रही है. अब योगी सरकार ने कोरोना महामारी की बढ़ती दर को कम करने के लिए लगाई गई पाबंदियों की वजह से उत्पन्न परिस्थितियों को मद्देनजर रखते हुए विद्यालयों को फीस न बढ़ाने का आदेश दिया है. 

उपमुख्यमंत्री एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने दी जानकारी:
उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ दिनेश शर्मा (Deputy Chief Minister and Secondary Education Minister Dr. Dinesh Sharma) के अनुसार कोरोना महामारी की वजह से कई परिवारों के सामने पैसों की परेशानी उत्पन्न हो गई है. ऐसे में प्रदेश में संचालित CBSE, ICSE आदि बोर्ड के विद्यालयों को सत्र 2021-22 में कोई भी शुल्क न बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं. 

 

बढ़ी हुई फीस भर चुके अभिभावकों के लिए अहम जानकारी: 
शिक्षा मंत्री ने बताया कि सत्र 2019-20 में लागू शुल्क संरचना (Fee Structure) के मुताबिक ही विद्यालय सत्र 2020-21 में अभिभावकों से फीस ले सकेंगे. अगर किसी विद्यालय ने शुल्क में वृद्धि की है, और अभिभावक बढ़ी हुई फीस भर चुके हैं, तो इन परिस्थितियों में विद्यालयों (Schools) को आगामी महीनों (Next Months) में जमा शुल्क काे समायोजित करना होगा. वहीं अगर कोई अभिभावक तीन महीने की अग्रिम फीस (Advance Fee) देने में असमर्थ हैं तो वे मासिक शुल्क (Monthaly Fee) जमा कर सकते हैं.

 

और पढ़ें