Live News »

अतिक्रमण धारी ने खुद को लगाई आग, पुलिस की तरफ भागा तो मच गया हड़कंप

अतिक्रमण धारी ने खुद को लगाई आग, पुलिस की तरफ भागा तो मच गया हड़कंप

उदयपुरवाटी(झुंझुनू): उदयपुरवाटी में आज दोपहर एक अजीबो गरीब मामला सामने आया जब वन विभाग की जमीन से पुलिस अतिक्रमण हटाने पहुंची. पुलिस जैसे ही अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करने लगी तो एक युवक ने खुद पर पेट्रोल डालकर आग लगा ली. आग लगने पर वह पुलिस की तरफ भागने का प्रयास करने लगा जिससे वहां हड़कंप मच गया. पुलिस के जवान आग बुझाने की बचाए खुद की जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे. इसके बाद युवक के परिजनों में से एक महिला ने आग बुझाने का प्रयास किया. 

गंभीर हालत में झुंझुनू रेफर 
महिला ने जैसे-तैसे करके युवक पर लगी आग को बुझाया, लेकिन जब तक आग बुझी वह काफी झुलस चुका था. उसके बाद उसे गंभीर हालत में झुंझुनू रेफर किया गया जहां उपचार जारी है. हालांकि अभी तक पूरे मामले की जानकारी सामने नहीं आई है. लेकिन जो कुछ भी हो यहां पर प्रथम दृष्टया पुलिस की लापरवाही जरूर सामने आ रही है. पुलिस पर पहला सवाल तो यह खड़ा हो रहा है कि आखिर उनकी मौजूदगी में युवक ने आग कैसे लगाई? दूसरा सवाल यह खड़ा होता है अगर आग लग भी गई तो उन्होंने बुझाने का प्रयास क्यों नहीं किया? अब देखने वाली बात तो यह है कि इन पर कोई कठोर कार्रवाई होती है या नहीं. 

और पढ़ें

Most Related Stories

उदयपुरवाटी नगरपालिका के दो सफाई कर्मचारियों पर जानलेवा हमला

उदयपुरवाटी नगरपालिका के दो सफाई कर्मचारियों पर जानलेवा हमला

उदयपुरवाटी(झुंझुनू): कस्बे में नगर पालिका के सफाई कर्मचारी के साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है. कस्बे के भैरू घाट नाले पर घुमचक्कर के निकट नालियों की सफाई कर रहे नगरपालिका सफाई कर्मचारी पर अचानक जानलेवा हमला किया गया है जिसमें मौके पर तैनात दो कर्मचारी गंभीर रूप से घायल हो गए. घायल कर्मचारियों को उदयपुरवाटी के राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती करवा दिया गया है. कर्मचारियों के साथ मारपीट करने वाले तीन से चार बदमाश मौके से फरार हो गए. मारपीट की सूचना के बाद नगरपालिका के सभी कर्मचारी एकत्रित होकर पुलिस थाने के बाहर धरने पर बैठ गए हैं. वहीं कर्मचारियों की मांग है कर्मचारी के साथ मारपीट करने वाले आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर किया जाए अन्यथा कर्मचारी कार्यों का बहिष्कार करते हुए धरने पर बैठ गए हैं और मारपीट करने वाले आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की है. वहीं कचरे से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली आस टेम्पू पुलिस थाने के बाहर लाइन से खड़ा कर दिया गया है और नगरपालिका के कर्मचारियों ने कार्य का बहिष्कार कर दिया. 

सफाई कर्मचारियों में भारी आक्रोश: 
इस दौरान कुछ राजनीतिक में अपनी दलाली करने वाले राजनेता अपनी राजनीति चमकाने के लिए मारपीट हुई कर्मचारी को दबाते हुए उस को डरा धमका कर पुलिस थाने में मामला दर्ज नहीं कराने की चेतावनी दे रहे हैं. जिसके बाद कर्मचारियों में और भी भारी आक्रोश देखने को मिला है. मारपीट में घायल हुए कर्मचारी को लोगों के द्वारा डराया धमकाया जा रहा है. लेकिन मारपीट होने वाले कर्मचारी ने निडर होकर उदयपुरवाटी पुलिस थाने में मारपीट करने वाले तीन से चार बदमाशों के खिलाफ पुलिस थाने में परिवाद पेश कर दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उदयपुरवाटी पुलिस ने मौके से दो आरोपियों को फिलहाल हिरासत में लेने की भी बात सामने आ रही है. वह कर्मचारियों ने कहा है अगर मामला दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई या गिरफ्तार नहीं किया गया जब तक पुलिस थाने के बाहर से नहीं उठेंगे इस दौरान नगरपालिका के सभी कर्मचारी पुलिस थाने के बाहर धरने पर बैठ गए हैं. जबकि नगर पालिका प्रशासन के उच्च अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे हैं. वहीं दूसरी ओर सफाई कर्मचारियों के ठेकेदार भी मौके पर नहीं पहुंचे हैं सफाई कर्मचारी ठेकेदार मामले को रफा-दफा करने के लिए कर्मचारी पर ही दबाव बना रहे हैं. 
 

Open Covid-19