केरल से लौटा युवक जुकाम, खांसी और बुखार से पीड़ित, चिकित्सकों ने मौसमी बीमारी का मरीज माना

केरल से लौटा युवक जुकाम, खांसी और बुखार से पीड़ित, चिकित्सकों ने मौसमी बीमारी का मरीज माना

केरल से लौटा युवक जुकाम, खांसी और बुखार से पीड़ित, चिकित्सकों ने मौसमी बीमारी का मरीज माना

सैपऊ(धौलपुर): सैपऊ क्षेत्रभर में उस समय हड़कंप मच गया जब एक केरल से लौटा युवक जुकाम, खांसी और बुखार से पीड़ित रहते हुए उपचार के लिए सीएचसी सैपऊ पर पहुंचा. जहां युवक को कोरोना वायरस का संदिग्ध मानते हुए डॉक्टरों के द्वारा युवक की स्क्रीनिंग की तथा उच्च अधिकारियों को मामले से अवगत करवाया तभी अधिकारियों के निर्देश पर युवक को दवा उपलब्ध करवाकर उसे घर भेज दिया. 

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की कोरोना रिपोर्ट आई नेगेटिव 

चिकित्सकों ने मौसमी बीमारी का मरीज माना: 
चिकित्सकों ने उसे नॉर्मल जुखाम, खांसी, बुखार से पीड़ित रहते हुए मौसमी बीमारी का मरीज माना है तथा युवक को होम आइसोलेशन की सलाह दी गई है. इस पूरे मामले को लेकर सबसे बड़ी बात यह है कि इस तरह के मरीजों के लिए जो कि बाहर बड़े शहरों से वापस लौट रहे हैं और उनमें जुखाम खांसी बुखार के लक्षण पाए जा रहे हैं उनको आइसोलेशन वार्ड में शिफ्ट नहीं किया जा रहा है. चिकित्सा टीम के द्वारा पल्ला झाड़ते हुए महज खानापूर्ति कर उनको टरकाया जा रहा है. ऐसी स्थिति में लोगों के लिए कहीं खतरा ना बढ़ जाए जिसको लेकर लोगों में चर्चा हो रही हैं तथा उनको कोरोना का खौफ सता रहा है. 

5 साल पूर्व विधायकी से इस्तीफा देने वालों से वसूला जाये चुनाव खर्च, राजस्थान हाईकोर्ट में याचिका दायर 

और पढ़ें