माता-पिता की आंखों के सामने धधकती झोंपड़ी में छह माह के मासूम जिंदा जलने से मौत

Suryaveer Singh Tanwar Published Date 2019/04/28 10:21

जैसलमेर। जिले के लाठी क्षेत्र की डेलासर गांव के पास एक नलकूप पर किसान की झोपड़ी में अज्ञात कारणों से आग लगने से छह माह के मासूम की जिंदा जलने से मौत हो गई। आग से झोपड़ी में रखे सोने-चांदी के आभूषण, अनाज, घरेलू सामान जलकर राख हो गया। दीनाराम पुत्र घेवरा राम निवासी होपारडी हाल बाबूराम पुत्र मेवाराम निवासी डेलासर के नलकूप पर पिछले एक साल से कृषि का कार्य करता है। 

दीनाराम अपनी पत्नी फूली देवी तथा 3 बच्चों के साथ यहीं पर बनी झोंपड़ी में रहता है। फूली देवी छह माह के बेटे श्रवण कुमार सहित तीन बच्चों को झोपड़े में ही सुलाकर पति के साथ खेत में काम करने चली गई। कुछ ही देर बाद अज्ञात कारणों से झोपड़े में आग लग गई। लपटों से घिरी झोंपड़ी को देख दोनों चिल्लाते मौके पर पहुंचे, तब तक आग से काफी बढ़ गई थी। झोपड़ी के बाहर पानी नहीं था। दोनों पति-पत्नी ने किसी तरह दो बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया, लेकिन छह माह के मासूम श्रवण के ऊपर जलती हुई झोंपड़ी ढह कर गिर गई। रोते-बिलखते मां-बाप आग पर मिट्टी डालती रहे। विलाप सुनकर आस पास के लोग मदद को आए और नलकूप चालू कर पानी डालकर व रेत डालकर आग पर काबू पाया, लेकिन तब तक झोंपड़ी के साथ जलने से मौत हो गई। 

आग के दौरान मासूम बच्चे सहित 5 तोला सोने व आधा किलो चांदी के आभूषण, 5 गेहूं की बोरी, 4 जीरे की बोरी, 5 चारपाई सहित घरेलू सामान जलकर राख हो गया। वहीं किसान दीनाराम का परिवार बेघर हो गया है। उन्होंने बताया कि दीनाराम ने कुछ दिन पूर्व ही फसल की कटाई के बाद अपने हिस्से के अनाज को झोपड़े में रखा था, जो आग में जलकर राख हो गया। 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in