जयपुर 04 नवंबर 2021: आज दिवाली पर पंचांग से जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल

04 नवंबर 2021: आज दिवाली पर पंचांग से जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल

04 नवंबर 2021: आज दिवाली पर पंचांग से जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाग के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. 

शुभ मास - कार्तिक मास कृष्ण पक्ष
शुभ तिथि अमावस्या तिथि रात्रि 2 बजकर 45 मिनट तक रहेगी. अमावस्या तिथि में शुभ और मांगलिक कार्य वर्जित माने गये है पर स्नान, दान व श्राद्ध इत्यादि कार्य किये जा सकते हैं. अमावस्या तिथि में जन्मे जातक अशांत मन के, धनवान, बुद्धिवान, साहसी, धर्मपरायण होते हैं. 

शुभ नक्षत्र चित्रा नक्षत्र प्रातः 7 बजकर 42 मिनट तक ततपश्चात स्वाति नक्षत्र रहेगा.  चित्रा नक्षत्र मे यदि तिथि शुभ हो तो यात्रा, विवाह, गृह प्रवेश, मांगलिक कार्य इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है. चित्रा नक्षत्र मे जन्मा जातक मेघावी, विलासप्रिय, धनवान, बुद्धिमान होता है.   

चन्द्रमा - सम्पूर्ण तुला राशि में संचार करेगा. 

व्रतोत्सव - दीपावली (स्वयं सिद्ध भुज मुहूर्त ), श्री महालक्ष्मी पूजन, महाकाली पूजा, कमला जयंती, देवपितृकार्य अमावस्या

श्री महालक्ष्मी दीपोत्सव निम्मित माँ लक्ष्मी पूजा मुहूर्त वेला -

प्रदोष काल मुहूर्त - सायं 5-38 मिनट से रात्रि 8-15 मिनट तक रहेगा.

वृषभ लग्न मुहूर्त - सायं 6-20 मिनट से रात्रि 8-17 मिनट तक रहेगा.

सिंह लग्र मुहूर्त  - मध्यरात्रि बाद 12-50 मिनट से अंत रात्रि 3-06 मिनट तक रहेगा

घर पर, व्यापारिक प्रतिष्ठानों के लिए माँ लक्ष्मी पूजन का सर्वश्रेष्ठ मुहूर्त - सायं 06-32 से सायं 06-45 तक मिनट तक (प्रदोष काल, स्थिर वृष लग्न और कुम्भ का स्थिर नवमांश भी रहेगा)  

चौघड़िया मुहूर्त -
प्रातः 10-47 मिनट से दोपहर 12-10 मिनट तक चर का चौघड़िया रहेगा.
दोपहर 12-10 मिनट से दोपहर 01-33 मिनट तक लाभ का चौघड़िया रहेगा.
सायं 05 -38 मिनट से रात्रि 08-54 मिनट तक अमृत एवं चर का चौघड़िया रहेगा.
मध्य रात्रि 12-10 मिनट से अंत रात्रि 1-48 तक लाभ का चौघड़िया रहेगा. 

और पढ़ें