अलवर मॉब लिंचिंग : माहौल सांप्रदायिक होने से रोकने के लिए मुस्तैद हुआ प्रशासन

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/07/24 05:24

अलवर। अलवर के रामगढ़ में गौ तस्करी के आरोप में भीड़ के हाथो पिटाई से मारे गए रकबर खान की हत्या के बाद माहौल सांप्रदायिक दिखाई देने लगा है। ऐसे में हर संभव कोशिश है कि माहौल को ना बिगड़ने दिया जाए। इस बात को लेकर कानून-व्यवस्था के स्पेशल डीजी एनआरके रेड्डी ने भी सख्त हिदायत दी है। गौरतलब है कि अकबर उर्फ रकबर खान की हत्या के बाद कई हिंदूवादी संगठन एक्टिव हो गए हैं, तो दूसरी तरफ अल्पसंख्यकों के संगठन भी एक्टिव है।

अलवर में जहां मेव पंचायत ने पत्रकार वार्ता की है, वहीं हिंदू रक्षा सम्मेलन करने वाले लोगों ने भी पत्रकार वार्ता की। और तो और, कांग्रेस की ओर से भी प्रदर्शन करने में भी अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ ही सामने आया है। रामगढ़ में बीते दिन हिंदूवादी संगठनों की ओर से बैठक कर कई तरह के संकल्प लिए गए हैं। मेव पंचायत की ओर से ज्ञापन भी दिए जा रहे हैं तो हिंदू भावनाओं को भड़काने के आरोप में प्रेस कॉन्फ्रेंस से ही पुलिस ने हिंदू रक्षा सम्मेलन के संयोजक को गिरफ्तार कर लिया है।

हालांकि प्रशासन भी इस बात को लेकर सतर्क है कि जिले में सौहार्द का माहौल बिगड़ रहा है और समय रहते ध्यान नहीं दिया गया तो मुश्किल हो सकती है। राजनीतिक लोग आगामी चुनाव को देखते हुए एक—दूसरी पार्टियों पर आरोप लगा रहे हैं। लेकिन मुश्किल समाज में रह रहे लोगों को होने वाली है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in