तेल अवीव Monkeypox: युरोप के बाद अब इजराइल में आ पहुंचा मंकीपॉक्स, पहला मामला आया सामने

Monkeypox: युरोप के बाद अब इजराइल में आ पहुंचा मंकीपॉक्स, पहला मामला आया सामने

Monkeypox: युरोप के बाद अब इजराइल में आ पहुंचा मंकीपॉक्स, पहला मामला आया सामने

तेल अवीव: इजराइली प्राधिकारियों ने कहा है कि विदेश से लौटे एक व्यक्ति के मंकीपॉक्स से संक्रमित होने की बात सामने आई है और वे अन्य संदिग्ध मरीजों की तलाश में जुट गए हैं.

इजराइल के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि तेल अवीव के अस्पताल में भर्ती मरीज की हालत ठीक है. मंत्रालय ने विदेश से लौटने वाले लोगों से बुखार होने और दाने निकलने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क की अपील की है.

दुनियाभर में मंकीपॉक्स संक्रमण के करीब 80 पुष्ट मामलों और तकरीबन 50 संदिग्ध मरीजों की पहचान की: 

स्वास्थ्य मंत्रालय में जन स्वास्थ्य सेवाओं की प्रमुख शैरोन एलरो-प्रीस ने रविवार को इजराइली आर्मी रेडियो को बताया कि चिकित्सा दल मंकीपॉक्स के अन्य संदिग्ध मरीजों की पहचान करने की कवायद में जुटे हैं. इजराइल में मंकीपॉक्स का यह मामला पश्चिम एशिया में इस संक्रमण का पहला ज्ञात मामला बताया जा रहा है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने दुनियाभर में मंकीपॉक्स संक्रमण के करीब 80 पुष्ट मामलों और तकरीबन 50 संदिग्ध मरीजों की पहचान की है.

ऑस्ट्रेलिया में भी मंकीपॉक्स के मामले दर्ज किए गए: 

मंकीपॉक्स संक्रमण के मामले पहले केवल मध्य और पश्चिमी अफ्रीका से ताल्लुक रखने वाले लोगों के बीच देखे गए थे, लेकिन अब ब्रिटेन, स्पेन, पुर्तगाल, इटली, अमेरिका, स्वीडन और कनाडा में भी इसके मरीज सामने आए हैं. इनमें से ज्यादातर मरीज युवा हैं और उनके अफ्रीका की यात्रा का कोई इतिहास नहीं है. फ्रांस, जर्मनी, बेल्जियम और ऑस्ट्रेलिया में भी मंकीपॉक्स के मामले दर्ज किए गए हैं.

मंकीपॉक्स के लिए जिम्मेदार वायरस बंदरों और अन्य जंगली जानवरों में पैदा होता है. इससे संक्रमित ज्यादातर मरीजों में बुखार, शरीर में दर्द, ठंड लगने और थकान के लक्षण देखे गए हैं. गंभीर मामलों में मरीजों के चेहरे, हाथों और शरीर के अन्य हिस्सों पर चकत्ते व दाने भी निकल सकते हैं. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें