अजमेर विद्युत वितरण निगम के बाद अब केकड़ी विद्युत उपखण्ड में लाखों का घपला

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/01/09 09:38

केकड़ी (अजमेर)। अजमेर विद्युत वितरण निगम में करीब 2 करोड़ के गबन की जांच पड़ताल अभी पूरी भी नहीं हुई कि लाखों रुपए का ऐसा ही घपला केकड़ी उपखंड में भी उजागर हो गया। यह घपला करने वाला केकड़ी विद्युत उपखण्ड का कमर्शियल असिस्टेंट (प्रथम) मनीष कुमावत है। करीब 2 वर्ष पूर्व उसे उपखंड में नियुक्त किया गया था। तब से निगम के खातों में हेरफेर करके रकम हड़प कर अब तक कुल 42 लाख रुपए का गबन कर चुका है।

मनीष ने यह गबन नए विद्युत कनेक्शन के डिमांड नोट एवं लाइनों की शिफ्टिंग के लिए जमा होने वाली राशि में से किया था। यह जानकारी मिलते ही सहायक अभियंता के पैरों से जमीन खिसक गई। इसके बाद मनीष को रिकवरी के नाम पर फिर काम देकर कुर्सी पर बिठा दिया और मामले को दबाने का प्रयास किया, लेकिन केकड़ी उपखंड के अभियंता व कर्मचारी इस प्रकरण को ज्यादा देर तक नहीं छिपा सके। क्योंकि अब तक रिकवरी के नाम पर करीब 8 लाख रुपए ही जमा हो सके थे।

इसके लिए आज केकड़ी में अजमेर विद्युत नगर निगम के एओ लाजपतराय रघुवंशी केकड़ी में आए और मामले की जांच पड़ताल शुरू की। उन्होंने बताया कि दो-तीन दिन तक यह पड़ताल चलेगी कि कुल कितनी राशि का अभी तक गबन हुआ है। उसके बाद आरोपी पर मुकदमा दर्ज करवाया जाएगा।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

संबंधित ख़बरे

Most Related Stories

Stories You May be Interested in