Live News »

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने की दुधारू पशुपालकों के लिए बड़ी सौगात की घोषणा

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने की दुधारू पशुपालकों के लिए बड़ी सौगात की घोषणा

मालपुरा (टोंक)। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह आज टोंक जिले के मालपुरा दौरे पर रहे। इस दौरान मंत्री ने यहां केंद्रीय भेड़ एवं ऊन अनुसंधान केंद्र अविकानगर में राष्ट्रीय भेड़-ऊन एवं किसान मेले में शिरकत की। इस अवसर पर राज्य के कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया के अलावा मालपुरा विधायक कन्हैयालाल चौधरी सहित संस्थान निदेशक डॉ. अरुण कुमार तोमर भी उनके साथ रहे।

केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह ने यहां मेले लगाई गई संस्थान से जुड़े उत्पादों व भेड़ प्रदर्शनी का अवलोकन किया साथ ही संस्थान में भेड़ व खरगोश पर किये जा रहे अनुसंधानों के बारे में विस्तार से जानकारी ली। सिंह ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकार की ओर से किसानों व मवेशीपालकों के हित में लागू की गई योजनाओं पर विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने अविकानगर संस्थान की जमकर सराहना करते हुए संस्थान द्वारा विकसित की गई तकनीकों से किसानों को ज्यादा से ज्यादा लाभान्वित कर आर्थिक स्तर उंचा करने पर जोर दिया।

सिंह ने क्षेत्र के दुधारू पशुपालकों के लिए एक बड़ी सौगात देते हुए राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान करनाल का क्षेत्रीय फील्ड सेंटर खोले जाने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में भेड़, बकरी व खरगोश पर शोध एवं उन्नत तकनीकों को विकसित करने वाला संस्थान क्षेत्र के दुधारू पशुपालकों के लिए भी वरदान साबित होगा। साथ ही एनडीआरआई करनाल की तर्ज पर दुधारू पशुओं पर शोध, उन्नत नस्ल, नस्लसुधार, दूध बढ़ाने के तरीके एवं कम खर्चे पर दुधारू पशुओं का रख-रखाव करने का ज्ञान उपलब्ध होगा। साथ ही सिंह ने संस्थान के निदेशक तोमर को संस्थान में जमीन व इन्फ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध करवाकर सेंटर को दो माह में शुरू किए जाने के निर्देश दिए।

किसानों को राज्य के कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी ने भी संबोधित करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के कल्याण के लिए कृषक साथी योजना, फसल बीमा योजना, सहकारिता के तहत ऋणमाफी सहित ऐसी कई कल्याणकारी योजनाएं लागू की है। सैनी ने अतिवृष्टि से हुए खराबे से राहत के लिए किसानों को 18 अक्टूबर तक गश्त गिरदावरी कर मुआवजा देने की जानकारी दी। कार्यक्रम को सांसद सुखबीर सिंह जौनापुरिया, मालपुरा विधायक कन्हैयालाल चौधरी ने भी संबोधित किया।

और पढ़ें

Most Related Stories

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव के बाद मालपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट बंद, कर्फ्यू जारी

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव के बाद मालपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट बंद, कर्फ्यू जारी

मालपुरा(टोंक): जिले के मालपुरा कस्बे में विजयादशमी के जुलूस के समय अराजक तत्वों द्वारा किए गए पथराव के बाद कस्बे में कर्फ्यू जारी है. पथराव मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि बुधवार को दिनभर हालात सामान्य रहे. अधिकारी लगातार कस्बे का दौरा कर रहे हैं तथा हालात पर नजर बनाए हुए हैं. 

शोभायात्रा पर पथराव के बाद तनाव पैदा हो गया था: 
बता दें कि यहां विजयादशमी पर मंगलवार को निकाली गई शोभायात्रा पर पथराव के बाद तनाव पैदा हो गया था. आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने रावण के पुतला दहन से इनकार कर दिया और विधायक के नेतृत्व में अजमेर रोड पर थाने के सामने धरने पर बैठ गए. पहले तो प्रशासन ने समझाइश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने तो रात करीब ढाई बजे सख्ती दिखाते हुए प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया. गुपचुप तरीके से बुधवार सुबह 4 बजे पुतले का दहन करा दिया. इसके बाद तनाव की स्थिति को भांपते हुए प्रशासन ने सुबह 5 बजे इंटरनेट बंद करा दिया और कर्फ्यू लगा दिया. कर्फ्यू के चलते बुधवार को समाचार पत्रों का वितरण भी नहीं हो पाया. 

कर्फ्यू के कारण मालपुरा से गुजरने वाली बसों को डायवर्ट किया: 
कर्फ्यू के कारण मालपुरा से गुजरने वाली अन्य आगारों की बसों को पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने कस्बे में प्रवेश बंद कर दिया. बसों को दूसरे मार्गों से डायवर्ट कर दिया गया. शिक्षा विभाग की ओर से मालपुरा में 11 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक राउप्रावि बृजलाल नगर मालपुरा में होने वाले राज्य स्तरीय विद्यालयी खेलकूद एथलेटिक्स प्रतियोगिताएं भी स्थगित कर दी गई. 

विजयादशमी शोभायात्रा पर पथराव के बाद मालपुरा में बिगड़े हालात, कस्बे में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद

विजयादशमी शोभायात्रा पर पथराव के बाद मालपुरा में बिगड़े हालात, कस्बे में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद

टोंक: जिले के मालपुरा कस्बे में विजयादशमी के जुलूस के समय अराजक तत्वों द्वारा किए गए पथराव के बाद वहां बिगड़े हालात के मद्देनजर जिला प्रशासन ने आज सुबह 6 बजे से आगामी घोषणा तक कर्फ्यू लगा दिया है. साथ ही पुलिस और प्रशासन ने यहां रात 12 बजे बाद से इंटरनेट सेवाओं को आगामी 48 घंटे के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया है. इसके अलावा सुबह कस्बे में अखबारों के वितरण पर रोक लगा दी. 

प्रशासन की मदद से सवेरे लगभग 4.30 बजे रावण का दहन हुआ: 
वहीं जिला प्रशासन और  पुलिस ने नगर पालिका के कर्मचारियों की मदद से आज सवेरे लगभग 4.30 बजे रावण का दहन भी संपन्न करवा दिया है. इस दौरान लोगों का किसी भी तरह का विरोध देखने को नहीं मिला. पूरे दशहरा मैदान को सुरक्षाबलों के जवानों ने अपनी सुरक्षा में लेकर रावण दहन किया. 

यह है पूरा मामला: 
मालपुरा में रावण दहन से पहले राम लक्ष्मण के स्वरूप को लेकर शोभायात्रा निकाली जा रही थी, जयकारों के साथ नाचते गाते लोग चल रहे थे. शोभायात्रा में भारी संख्या में लोग जमा थे. सादात मौहल्ला से शोभायात्रा गुजरते समय कुछ उत्पाती युवकों ने पथराव कर दिया. एकाएक शोभायात्रा पर पथराव होने से भगदड़ मच गई. वहीं शोभायात्रा में शामिल लोग भी पथराव करने वालों पर पत्थर फेंकने लगे. हालात बेकाबू होते जा रहे थे और शोभायात्रा में मौजूद पुलिसकर्मी मामले को समझ ही नहीं पाए. शोभायात्रा में शामिल लोगों ने रावण दहन से पहले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया. 


 

Open Covid-19