Live News »

डिग्गी कल्याणजी लक्खी मेले की तैयारियों का लिया जायजा

डिग्गी कल्याणजी लक्खी मेले की तैयारियों का लिया जायजा

मालपुरा (टोंक)। अजमेर रेंज आईजी बीजू जार्ज जोसेफ आज टोंक जिले के मालपुरा दौरे पर रहे। इस दौरान आईजी जोसेफ ने धार्मिक नगरी डिग्गी में 16 से 20 अगस्त तक आयोजित होने वाले कल्याणजी के लक्खी मेले की तैयारियों का जायजा लिया। इस मौके पर टोंक एसपी योगेश दाधीच, मालपुरा एएसपी गोवर्धनलाल सुकांरिया व सीओ मोटाराम बेनीवाल के अलावा रामदास ट्रस्ट अध्यक्ष रामप्रताप सिंह भी साथ रहे।

आईजी ने यात्रियों की सुरक्षा व कानून व्यवस्था को लेकर जानकारी भी ली। वहीं डिग्गी आने वाली पदयात्राओं के आगमन से लेकर निकासी के रास्तों का पैदल भ्रमण किया। साथ ही कंट्रोल रूम से लेकर मेले की व्यवस्थाओं को लेकर जांच अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।

इस दौरान आईजी जोसेफ ने बताया कि करीब 700 जवानों का बेड़ा डिग्गी मेले की सुरक्षा संभालेगा। इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों से मेला घिरा रहेगा। मेले में सुरक्षा की व्यवस्था ऐसी की गई है कि मेले में आने वाले हर यात्री पर पुलिस सादा वर्दी के जवान, महिला जवानों की नजर रहेगी। जोसेफ ने बताया कि लक्खी मेले में प्रदेशभर से आने वाले लाखों पदयात्रियों की सुरक्षा व सुविधाओं के लिए हरसंभव कदम उठाए जाऐंगे। साथ ही मेले में व्यवस्थाओं व यात्रियों की सुविधाओं मे किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नही की जाएगी।

इससे पहले आईजी जोसेफ ने डिग्गी कल्याणजी के मंदिर पहुंच दर्शन किये, जहां उन्होंने प्रदेश में खुशहाली की कामना की। इस दौरान मंदिर ट्रस्ट की ओर से आईजी व एसपी का माला व दुपट्टा पहनाकर एवं श्रीफल भेंट कर स्वागत किया गया।

और पढ़ें

Most Related Stories

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव के बाद मालपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट बंद, कर्फ्यू जारी

विजयादशमी के जुलूस पर पथराव के बाद मालपुरा में दूसरे दिन भी इंटरनेट बंद, कर्फ्यू जारी

मालपुरा(टोंक): जिले के मालपुरा कस्बे में विजयादशमी के जुलूस के समय अराजक तत्वों द्वारा किए गए पथराव के बाद कस्बे में कर्फ्यू जारी है. पथराव मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. हालांकि बुधवार को दिनभर हालात सामान्य रहे. अधिकारी लगातार कस्बे का दौरा कर रहे हैं तथा हालात पर नजर बनाए हुए हैं. 

शोभायात्रा पर पथराव के बाद तनाव पैदा हो गया था: 
बता दें कि यहां विजयादशमी पर मंगलवार को निकाली गई शोभायात्रा पर पथराव के बाद तनाव पैदा हो गया था. आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर ग्रामीणों ने रावण के पुतला दहन से इनकार कर दिया और विधायक के नेतृत्व में अजमेर रोड पर थाने के सामने धरने पर बैठ गए. पहले तो प्रशासन ने समझाइश की, लेकिन ग्रामीण नहीं माने तो रात करीब ढाई बजे सख्ती दिखाते हुए प्रदर्शनकारियों को खदेड़ दिया. गुपचुप तरीके से बुधवार सुबह 4 बजे पुतले का दहन करा दिया. इसके बाद तनाव की स्थिति को भांपते हुए प्रशासन ने सुबह 5 बजे इंटरनेट बंद करा दिया और कर्फ्यू लगा दिया. कर्फ्यू के चलते बुधवार को समाचार पत्रों का वितरण भी नहीं हो पाया. 

कर्फ्यू के कारण मालपुरा से गुजरने वाली बसों को डायवर्ट किया: 
कर्फ्यू के कारण मालपुरा से गुजरने वाली अन्य आगारों की बसों को पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने कस्बे में प्रवेश बंद कर दिया. बसों को दूसरे मार्गों से डायवर्ट कर दिया गया. शिक्षा विभाग की ओर से मालपुरा में 11 अक्टूबर से 16 अक्टूबर तक राउप्रावि बृजलाल नगर मालपुरा में होने वाले राज्य स्तरीय विद्यालयी खेलकूद एथलेटिक्स प्रतियोगिताएं भी स्थगित कर दी गई. 

विजयादशमी शोभायात्रा पर पथराव के बाद मालपुरा में बिगड़े हालात, कस्बे में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद

विजयादशमी शोभायात्रा पर पथराव के बाद मालपुरा में बिगड़े हालात, कस्बे में कर्फ्यू, इंटरनेट बंद

टोंक: जिले के मालपुरा कस्बे में विजयादशमी के जुलूस के समय अराजक तत्वों द्वारा किए गए पथराव के बाद वहां बिगड़े हालात के मद्देनजर जिला प्रशासन ने आज सुबह 6 बजे से आगामी घोषणा तक कर्फ्यू लगा दिया है. साथ ही पुलिस और प्रशासन ने यहां रात 12 बजे बाद से इंटरनेट सेवाओं को आगामी 48 घंटे के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया है. इसके अलावा सुबह कस्बे में अखबारों के वितरण पर रोक लगा दी. 

प्रशासन की मदद से सवेरे लगभग 4.30 बजे रावण का दहन हुआ: 
वहीं जिला प्रशासन और  पुलिस ने नगर पालिका के कर्मचारियों की मदद से आज सवेरे लगभग 4.30 बजे रावण का दहन भी संपन्न करवा दिया है. इस दौरान लोगों का किसी भी तरह का विरोध देखने को नहीं मिला. पूरे दशहरा मैदान को सुरक्षाबलों के जवानों ने अपनी सुरक्षा में लेकर रावण दहन किया. 

यह है पूरा मामला: 
मालपुरा में रावण दहन से पहले राम लक्ष्मण के स्वरूप को लेकर शोभायात्रा निकाली जा रही थी, जयकारों के साथ नाचते गाते लोग चल रहे थे. शोभायात्रा में भारी संख्या में लोग जमा थे. सादात मौहल्ला से शोभायात्रा गुजरते समय कुछ उत्पाती युवकों ने पथराव कर दिया. एकाएक शोभायात्रा पर पथराव होने से भगदड़ मच गई. वहीं शोभायात्रा में शामिल लोग भी पथराव करने वालों पर पत्थर फेंकने लगे. हालात बेकाबू होते जा रहे थे और शोभायात्रा में मौजूद पुलिसकर्मी मामले को समझ ही नहीं पाए. शोभायात्रा में शामिल लोगों ने रावण दहन से पहले आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया. 


 

Open Covid-19