अजमेर अजमेर शरीफः देश के कोने-कोने से आए जायरीनों ने अदा की जुमे की नमाज

अजमेर शरीफः देश के कोने-कोने से आए जायरीनों ने अदा की जुमे की नमाज

अजमेर शरीफः देश के कोने-कोने से आए जायरीनों ने अदा की जुमे की नमाज

अजमेर: गरीब नवाज के 808 वें सालाना उर्स के मुबारक मौके पर शुक्रवार को जुम्मे की बड़ी नमाज अदा की गई, जिसमें लाखों की तादाद में देश के अलग-अलग हिस्सों से आए अकीदतमंदों ने नमाज अदा की.

महिलाओं की ठगी का शिकार बनीं आधा दर्जन ग्रामीण महिलाएं, गिरोह ने बनाया निशाना 

देश के अलग अलग हिस्सों से आये जायरीनों ने नमाज अदा की: 
बड़े पीर से तोप की आवाज दागने के बाद गरीब नवाज के सजदे में एक साथ लाखों सर झुके. मौका था गरीब नवाज के सालाना उर्स के जुम्मे का. देश के अलग अलग हिस्सों से आये जायरीनों ने आज जुम्मे की नमाज अदा की. उर्स में आने वाले हर जायरीन की दिली ख्वाहिश होती है कि वह दरगाह परिसर में नमाज अदा करें ऐसे में शुक्रवार सुबह से ही जायरीने ख्वाजा ने जुम्मे की नमाज के लिए दरगाह शरीफ में बैठना शुरू कर दिया, यह क्रम शाहजानी मस्जिद से शुरू होकर अन्दरूनी दरगाह शरीफ में होते हुए दरगाह शरीफ के बाहर तक पहुंच गया. नमाजियों की कतारें दरगाह बाजार तक लग गई. दरगाह बाजार से नला बाजार, कमानीगेट, धानमंडी, देहली गेट से फव्वारे चौराहे तक नमाजी सड़कों में बैठे नजर आए. 

VIDEO: अनियंत्रित ट्रक ने बाइक सवार युवती और फुटपाथ पर सो रहे युवक को कुचला, सीसीटीवी में दिखा खौफनाक मंजर 

पूरे क्षेत्र में नमाजियों का एक हुजूम सा नजर आ रहा था:
पूरे क्षेत्र में नमाजियों का एक हुजूम सा नजर आ रहा था. दोपहर 1 बजे बड़े पीर साहब की पहाड़ी से पहली तोप दागने के साथ ही सड़कों पर बैठे नमाजियों ने सुन्नतें पढ़ना शुरु की. डेढ़ बजे दूसरी तोप की आवाज के साथ शहर काजी हाजी तौसिफ अमहद सिद्दीकी ने कुतबा पढ़ा, पौने दो बजे तीसरी तोप की आवाज के साथ ही शहर काजी सिद्दीकी ने जुम्मे की नमाज की 2 रकअत नमाज अदा कराई. बाद में नमाज शहर काजी ने मुल्क में अमनों अमान व आपसी भाईृचारे के लिए दुआ मांगी. दरगाह शरीफ के अलावा जायरीनों के लिए स्थापित ट्रान्सपोर्टनगर व कायड़ विश्राम स्थली पर भी भारी तादाद में जायरीनों ने जुम्मे की नमाज अदा की. इसके अतिरिक्त ऐतिहासिक अढ़ाई दिन के झौपड़े की जामा-ए-अल्लमश की मस्जिद व महावीर सर्किल स्थित सुभाष उद्यान में भी नमाज अदा की गई, नमाजियों को किसी तरह की कोई परेशानी न हो इसके लिए जिला प्रशासन ने माकूल व्यवस्थाएं की थी. 
 

और पढ़ें