UP: अखिलेश ने किया विधानसभा चुनाव ना लड़ने का फैसला

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/01/28 09:42

उत्तर प्रदेश | शुक्रवार को मुख्यमंत्री आवास से पार्टी मुख्यालय पहुंचे अखिलेश यादव पार्टी नेताओं से मिले और कहा कि वह विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार प्रदेश कार्यालय में अखिलेश यादव लखनऊ नगर व जिला इकाई के पदाधिकारियों से मुखातिब हुए। चुनाव तैयारियों पर चर्चा की। कहा कि गठबंधन की रणनीति तैयार है। 29 जनवरी को गठबंधन का एक संयुक्त कार्यक्रम होगा, जिसमें कार्यकर्ता मौजूद रहेंगे। कांग्रेस के लोग भी रहेंगे।

 

इससे पहले खबरें आ रही थीं कि अखिलेश सरोजनी नगर विधानसभा से चुनाव लड़ सकते हैं। अखिलेश यादव इस समय एमएलसी हैं। सूत्रों के मुताबिक, अखिलेश यादव आगे भी एमएलसी ही बने रहेंगे। अखिलेश इस चुनाव में सघन चुनाव प्रचार करेंगे और उनका पूरा ध्यान चुनाव अभियान पर ही केंद्रित होगा। विधानसभा चुनाव लड़ने के कयासों पर विराम लगाते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि 'जहां-जहां गठबंधन के प्रत्याशी हैं, वहां-वहां मैं चुनाव लड़ रहा हूं। विधान परिषद में वर्ष 2018 तक का कार्यकाल है। अब चुनाव लड़ने की बात उड़ाई तो कार्रवाई होगी।'

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बुंदेलखंड से चुनाव लड़ने का प्रस्ताव था। वह चुनाव लड़ना चाहते थे, मगर अब नहीं। प्रत्याशियों को जिताने में जुटना है। लगे हाथ यह भी कह दिया कि एकाध दिन में सरोजनीनगर का प्रत्याशी घोषित हो जाएगा। इस सीट से मुख्यमंत्री के परिवार के सदस्य अनुराग यादव दावेदारी कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने पहले, दूसरे चरण के प्रत्याशियों को छोड़कर अन्य चरणों के प्रत्याशियों को लखनऊ बुलाकर उनसे बात करने व संगठन स्तर से उनकी हर संभव मदद करने का भी निर्देश दिया। बड़ी संख्या में दूसरे जिलों के कार्यकर्ताओं के पहुंचने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव का समय है, क्षेत्र में रहना चाहिए।


Akhilesh Yadav, UP polls, Samajwadi party, UP Politics, Contesting

  
First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in