'जीका' को लेकर सरकारी मशीनरी में 'अलर्ट'

Vikas Sharma Published Date 2018/10/11 06:24

जयपुर। राजधानी जयपुर में जीका वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। शहर के शास्त्री नगर इलाके के बाद अब सिंधी कैम्प इलाके के राजपूत हॉस्टल में तीन मरीज सामने आए हैं। वहीं दूसरी ओर, जीका समेत अन्य मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए सरकारी मशीनरी भी अलर्ट मोड पर आ गई है।

मौसमी बीमारियों के बढ़ते प्रकोप पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश के प्रशासनिक मुखिया यानी सीएस डीबी गुप्ता ने आज सचिवालय में वीसी के जरिए सभी जिला कलेक्टरों से मौसमी बीमारियों को लेकर फीडबैक लिया। साथ ही मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए हर सप्ताह मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्य सचिव ने जिला कलेक्टरों से कहा कि वो हर सप्ताह सीएमएचओ, एसडीएम समेत अन्य अधिकारियों के साथ मीटिंग करें और मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए रणनीति बनाएं। मुख्य सचिव गुप्ता ने कहा कि जयपुर में जहां वायरस हुआ डिटेक्ट, वहां मुस्लिम बहुल इलाका है। ऐसे में यह तय किया गया कि कम्यूनिटी अवेयरनेस के तहत नमाज अता करते समय जीका वायरस के बारे में भी लोगों को जागरूक किया जाए।

मुख्य सचिव गुप्ता ने कहा कि मौसमी बीमारियों से निपटने के लिए मौलवियों और स्कूलों की भी मदद ली जाएगी, ताकि लोगों को कूलर में पानी जमा नहीं होने समेत अन्य बातों के लिए जागरूक किया जा सके। बैठक में सामने आया कि शास्त्री नगर इलाके में पेयजल किल्लत के चलते लोग पानी एकत्र करके रखते हैं। इस प्रवृति को रोकने के लिए प्रमुख सचिव पीएचईडी को निर्देश दिए गए कि वे इलाके में पेयजल आपूर्ति बढ़वाए, जरूरत हो तो टैंकरों से पानी की आपूर्ति करवाई जाए।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

5 राज्यों में कांग्रेस को मिली बढ़त पर राहुल बोले...

धौलपुर जेल से कैदी का वीडियो वायरल
Big Fight Live | \'सियासी गलियारों में आज क़यामत की रात | 10 DEC, 2018
मतगणना से पहले सुरक्षा व्यवस्थाओं को लेकर एडिशनल डीसीपी से खास बातचीत
रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा
विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर आज आ सकता है बड़ा फैसला
संसद सत्र हंगामेदार रहने के आसार
प्रधानमंत्री कार्यालय के PRO जगदीश ठक्कर का निधन
loading...
">
loading...