अलवर सरिस्का टाइगर रिजर्व: चौथे दिन भी जारी है आग बुझाने का प्रयास, कल आंशिक रूप से पा लिया गया था काबू

सरिस्का टाइगर रिजर्व: चौथे दिन भी जारी है आग बुझाने का प्रयास, कल आंशिक रूप से पा लिया गया था काबू

अलवर: सरिस्का टाइगर रिजर्व (Sariska Tiger Reserve) में आग को बुझाने का प्रयास आज चौथे दिन भी जारी है. 3 दिन से जंगल में आग लगी है और सरिस्का प्रशासन के साथ ही सरकार ने भी संसाधनों के उपयोग की इजाजत दी है. आग बुझाने आज फिर सेना के दो हेलीकॉप्टर पहुंचे हैं. कल आंशिक रूप से आग पर काबू पा लिया गया था.  

आपको बता दें कि बालेटा, नाहरशक्ति, अमन की बेरी, कटी घाटी, कलाकडी वन क्षेत्र में करीब 8 से 10 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में भीषण आग लगी हुई है. इसी क्षेत्र में बाघिन एसटी 17 व उसके शावकों का मूवमेंट है. जिला प्रशासन, आपदा प्रबंधन, वन विभाग और स्थानीय ग्रामीण आग पर काबू पाने में जुटे हैं. खुद CWLW अरिंदम तोमर, फील्ड डायरेक्टर रूप नारायण मीणा, DFO सुदर्शन शर्मा मौके पर है. 

देर रात मंत्री टीकाराम जूली और मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक एकदम तोमर सरिस्का पहुंचे:
वहीं इससे पहले देर रात मंत्री टीकाराम जूली और मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक एकदम तोमर सरिस्का पहुंचे और कर्मचारियों की हौसला अफजाई की. तोमर ने आग से प्रभावित इलाकों का निरीक्षण भी किया जहां फर्स्ट इंडिया से बातचीत करते हुए टीकाराम जूली ने कहा कि सरकार पूरी तरह से साथ है वह जानना चाहते हैं कि और क्या मदद कर सकते हैं ताकि आग पर काबू पाया जा सके. वही अरिंदम तोमर ने कहा कि हमारे बाघ सुरक्षित है एसटी 17 का टेरिटरी इलाका था इसलिए परेशानी है और स्टाफ को पास के इलाकों में वाटर होल्स में पानी रखने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही एसटी 20 जो बीते दिन इस इलाके से पार गुजर गया था आज आग से प्रभावित इलाके से पहले ही वापस लौट गया है जो अच्छा है. 

और पढ़ें