नई दिल्ली भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में जनता फिर से भाजपा को देगी अपना अशीर्वाद

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में जनता फिर से भाजपा को देगी अपना अशीर्वाद

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में जनता फिर से भाजपा को देगी अपना अशीर्वाद

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के अध्यक्ष जे पी नड्डा ने शनिवार को निर्वाचन आयोग द्वारा पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों की घोषणा के बाद विश्वास जताया कि इन चुनावों में एक बार फिर उनकी पार्टी को ‘‘प्रचंड बहुमत’’ के साथ जनता का आशीर्वाद मिलेगा. उन्होंने सिलिसलेवार ट्वीट में कहा कि आगामी विधानसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी को पुनः जनता का आशीर्वाद प्राप्त होगा. भाजपा प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करेगी और सेवा एवं विकास के कार्यों को नई ऊंचाइयों तक ले जाएगी.

निर्वाचन आयोग ने शनिवार को पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के कार्यक्रमों की घोषणा कर दी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिये 10 फरवरी से लेकर सात मार्च तक सात चरणों में मतदान होगा, वहीं उत्तराखंड, पंजाब और गोवा में एक ही चरण में 14 फरवरी को वोट डाले जाएंगे. मणिपुर में दो चरणों में 27 फरवरी और तीन मार्च को मतदान होगा और इन सभी राज्यों के विधानसभा चुनाव की मतगणना 10 मार्च को होगी. नड्डा ने चुनाव की तारीखों के ऐलान का स्वागत करते हुए भाजपा के सभी कार्यकर्ताओं से आग्रह किया कि वे निर्वाचन आयोग द्वारा बताए गए कोविड और अन्य सभी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पूरी ताक़त से लोकतंत्र के इस महापर्व में भाग लें. जिन पांच राज्यों में आज चुनाव के कार्यक्रमों की घोषण की गई, उनमें पंजाब को छोड़कर शेष सभी राज्यों में भाजपा की सत्ता है. 

 

पंजाब में कांग्रेस का शासन है. भाजपा का इस संवेदनशील राज्य में लंबे समय तक अकाली दल के साथ गठबंधन रहा लेकिन पिछले साल तीन विवादास्पद कृषि कानूनों के मुद्दों पर यह गठबंधन टूट गया था. भाजपा ने पंजाब में पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह की पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखदेव सिंह ढींढसा के नेतृत्व वाले अकाली दल के एक धड़े से गठबंधन किया है. भाजपा महासचिव तुरुण चुग ने कहा कि पार्टी आगामी चुनावों में अपनी पूरी ताकत के साथ मैदान में उतरेगी और पांचों राज्यों में भारी बहुमत से सरकार बनाएगी. सोर्स- भाषा
 

और पढ़ें